भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर की मां ने कहा-अब समाज के ल‍िए ही ज‍िएगा मेरा बेटा

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ‘रावण’ ने अपनी मां से कहा है कि मैं समाज के लिए पैदा हुआ हूं, समाज के लिए ही जिऊंगा...

ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: September 18, 2018, 4:45 PM IST
ओम प्रकाश
ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: September 18, 2018, 4:45 PM IST
भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद  की मां कमलेश देवी ने कहा है कि मेरे बेटे ने समाज के लिए 16 माह जेल में गुजारे हैं,  मुझे इसके लिए उस पर नाज़ है. वो जो करेगा अच्छा ही करेगा, मैं उसके साथ हूं, मैं कभी उसके रास्ते में रुकावट नहीं बनूंगी. मैंने उसे समाज को दे दिया है. चंद्रशेखर की की मां ने न्यूज18 हिंदी से ये बात अपने घर पर कही.

चंद्रशेखर की रिहाई के बाद हमारी टीम 14 सितंबर को सहारनपुर जिले के छुटमलपुर गांव पहुंची. घर पर बधाई देने वालों का तांता लगा था. न सिर्फ चंद्रशेखर बल्कि उनकी मां, भाई और दोस्तों से भी लोग मिलजुल रहे थे. रावण की मां ने कहा, “नाज़ है मुझे अपनी औलाद पर. मेरे अच्छे दिन बीते, बहुत अच्छे बीते. गुमान था मुझे चंद्रशेखर के जेल जाने पर. उसने कह दिया था मां मैं समाज के लिए पैदा हुआ हूं, समाज के लिए जिऊंगा. इसलिए मुझे इन 16 महीनों में कोई परेशानी सामने नहीं आई.”

Bhim Army, Chandrashekhar Azad, Ravan, Bhim army chief chandrashekshar ravana, Kamlesh Devi, News 18 Hindi special, Saharanpur, Chhutmalpur, Uttar Pradesh Government, Mayawati, BSP, BJP, Yogi Adityanath, BSP, Dalit Politics, Western UP, 2019 loksabha election, भीम आर्मी, चंद्रशेखर आजाद 'रावण', कमलेश देवी, न्यूज18 हिंदी, सहारनपुर, छुटमलपुर, उत्तर प्रदेश सरकार, मायावती, बीएसपी, भाजपा, योगी आदित्यनाथ, बसपा, दलित पॉलिटिक्स, पश्चिमी यूपी, लोकसभा चुनाव 2019, भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद 'रावण'         भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद 'रावण' की मां       


“समाज का सहयोग मिलता रहा. पूरा समाज साथ था. आगे क्या करेंगे चंद्रशेखर ये तो पता नहीं, जो कुछ लिखा होगा वो होगा. मैंने उसे कुछ नहीं कहा कि उसे क्या करना चाहिए. उसने मुझे एक बार कह दिया था कि मम्मी मैं समाज के लिए पैदा हुआ हूं, समाज के लिए जिऊंगा. तेरे दो लड़के और हैं उनसे करवा लो जो कुछ करवाना हो, खेती करवा लो या कुछ और. तब से मैं तो भाई उससे कुछ कहा नहीं. मैं उसे कोई रास्ता नहीं बताती. जिस रास्ते पर उसकी मर्जी वहां चले. मैं उसके ऊपर कोई जोर नहीं देती.”

Bhim Army, Chandrashekhar Azad, Ravan, Bhim army chief chandrashekshar ravana, Kamlesh Devi, News 18 Hindi special, Saharanpur, Chhutmalpur, Uttar Pradesh Government, Mayawati, BSP, BJP, Yogi Adityanath, BSP, Dalit Politics, Western UP, 2019 loksabha election, भीम आर्मी, चंद्रशेखर आजाद 'रावण', कमलेश देवी, न्यूज18 हिंदी, सहारनपुर, छुटमलपुर, उत्तर प्रदेश सरकार, मायावती, बीएसपी, भाजपा, योगी आदित्यनाथ, बसपा, दलित पॉलिटिक्स, पश्चिमी यूपी, लोकसभा चुनाव 2019, भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद 'रावण'           चंद्रशेखर आजाद 'रावण' के घर पर उनके समर्थक

कभी पैसे की तंगी नहीं आई? “आएगी भी क्यों, चंद्रशेखर के पापा की पेंशन आती है मेरे पास. न मैंने किसी को तंग किया और न किसी ने मुझे. कभी शासन-प्रशासन ने कुछ नहीं कहा मुझसे. चंद्रशेखर मेरे अप्लीकेशन पर बाहर नहीं निकाला गया. वो अप्लीकेशन तो मैंने इसलिए दी थी कि चार-पांच माह पहले उसे बाहर भेज रहे थे.”

इसे भी पढ़ें:

SC/ST की सियासत करने वाले ये नेता सवर्णों के लिए क्यों मांग रहे हैं आरक्षण

SC/ST एक्‍ट के विरोध पर BJP सांसद पार्टी पर भड़कीं-'संविधान लागू करो वर्ना कुर्सी खाली करो'
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर