सपा में एक और 'लेटर बम', रामगोपाल बोले- अखिलेश के विरोधी चुनाव हारेंगे

Pradesh18
Updated: October 23, 2016, 10:47 AM IST
सपा में एक और 'लेटर बम', रामगोपाल बोले- अखिलेश के विरोधी चुनाव हारेंगे
Photo: PTI

समाजवादी पार्टी में मची तकरार बढ़ती ही जा रही है. एक बार फिर से समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता रामगोपाल यादव ने यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का खुलकर साथ देते हुए विरोधियों को निशाना बनाया है.

  • Pradesh18
  • Last Updated: October 23, 2016, 10:47 AM IST
  • Share this:
समाजवादी पार्टी में मची तकरार बढ़ती ही जा रही है. एक बार फिर से समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता रामगोपाल यादव ने यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का खुलकर साथ देते हुए विरोधियों को निशाना बनाया है.

ये भी पढ़ें: जनेश्वर मिश्रा ट्रस्ट में बनेगी अखिलेश की 'चाणक्य' नीति, हर मोर्चे से साधा जाएगा निशाना


रामगोपाल ने समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को चिट्ठी लिखी है. इसमें रामगोपाल ने लिखा है- 'वक्त आ गया है कि कार्यकर्ता अखिलेश के साथ रहें. अखिलेश को हराने की साजिश हो रही है. मध्यस्थता करने वाले ही पार्टी को दिगभ्रमित कर रहे हैं. विरोधियों की सोच नकारात्मक है.'

Photo: Pradesh18
Photo: Pradesh18


रामगोपाल ने पत्र में लिखा है- 'आगे बढ़ो हम सब अखिलेश के साथ हैं. अब जरूरत है कि हमलोग मिलकर अखिलेश यादव की विकास रथ यात्रा को सफल बनाएं. यदि सभी कार्यकर्ता एकजुट हो जाएं तो आगामी विधानसभा चुनाव में अखिलेश की अगुवाई में पार्टी की जीत तय है.'

सपा के इस वरिष्ठ नेता ने कहा, 'जो लोग अखिलेश का विरोध करेंगे, वे नहीं जीत पाएंगे. सच्चाई तो यह है कि सुलह की बात करने वाले बेइमान हैं और यही लोग पार्टी को कमजोर करने की कोशिश कर रहे हैं.'

'सामने आ गया समाजवादी पार्टी का अहंकार'
Loading...

इधर, कांग्रेस नेता पीएल पूनिया ने रामगोपाल के पत्र पर कहा है कि यह समाजवादी पार्टी का अंदरूनी मामला है. यह सरकार उनकी है, इसलिए इस झगड़े की वजह से जनता का कामकाज नहीं हो पा रहा है. इसलिए परिवार की लड़ाई से जनता का नुकसान ना करें. जो भी है उसे जल्द से जल्द ख़त्म कर जनता के हितों के बारे में सोंचे. यह समाजवादी पार्टी का अहंकार और सत्ता की भूख को दर्शाता है.

बीजेपी के प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक ने कहा कि रामगोपाल के इस पत्र से विपक्ष के उन आरोपों की पुष्टि करता है जिसमें हम लगातार कहते आ रहे हैं की इस इस सरकार में भ्रष्टाचारियों को पनाह दी गई है. अखिलेश की सरकार में जनता को लूटा गया है. रामगोपाल जी ने इस बात को पत्र में स्वीकार किया है कि अखिलेश के मंत्री लूट रहे हैं.

पूर्व बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने कहा कि इस पत्र के बाद अगले 48 घंटे में सब कुछ साफ़ हो जाएगा. इस पत्र में उन्होंने अखिलेश के भ्रष्टाचारी मंत्रियों की बात स्वीकार कर ली है. अब यह लड़ाई निर्णायक मोड़ पर है. इसका एक दूसरा पहलू भी है. यह एक हाई-वोल्टेज ड्रामा भी है. ऐसा क्या है जो नहीं सुलझ रहा? मीटिंग पर मीटिंग हो रही. कुछ देर इन्तजार करिए, इस ड्रामे का खत्म एक-दो दिन में हो जाएगा.

ये भी पढ़ें: उदयवीर ने पूछा- मुलायम को गाली देने वाले मंत्री बने तो मुझे क्यों चिट्ठी लिखने पर सजा दी?


गौरतलब है कि अखिलेश यादव और समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व कद्दावर मंत्री शिवपाल सिंह यादव के बीच चल रहा विवाद अब चरम की ओर बढ़ता दिख रहा है.

पार्टी की बैठक में शनिवार को अखिलेश यादव दूसरे दिन भी नहीं पहुंचे, जबकि शिवपाल ने स्वयं उन्हें आमंत्रित किया था. कार्यकारिणी की इस महत्वपूर्ण बैठक में पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव भी नहीं आए. इस बीच शिवपाल ने अखिलेश समर्थक एमएलसी उदयवीर सिंह को पार्टी से छह साल के लिए निलंबित कर दिया.

VIDEO: आजम ने इशारों-इशारों में दिग्गज सपाइयों के बारे में कही बड़ी बात


दिनभर सपा में विभाजन की खबरें उड़ती रहीं, लेकिन शिवपाल के बेटे आदित्य यादव ने इन खबरों को खारिज कर दिया और कहा कि पार्टी में कोई मतभेद नहीं है, तथा अखिलेश कोई नई पार्टी नहीं बनाने जा रहे हैं.

दरअसल, उदयवीर ने मुलायम को पत्र लिखकर अखिलेश को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने का आग्रह किया था. उदयवीर को अखिलेश का समर्थक माना जाता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2016, 8:55 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...