होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

अपने बयान से पलटे सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क, बोले- मैंने अपने घर पर फहराया तिरंगा

अपने बयान से पलटे सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क, बोले- मैंने अपने घर पर फहराया तिरंगा

विवादित बयान से पलटे शफीकुर्रहमान बर्क.

विवादित बयान से पलटे शफीकुर्रहमान बर्क.

Babrala News: सपा सांसद बर्क ने पुराने से बयान से पलटते हुए अब नया बयान दिया है. उनका कहना है कि तिरंगा फहराने से हमें कोई एतराज नहीं है. तिरंगा मुल्क की आजादी की निशानी है.

हाइलाइट्स

तिरंगा मुल्क की आजादी की निशानी है.
राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा और स्वतंत्रता दिवस समारोह सभी का है.

संभल. आजादी के अमृत महोत्सव पर तिरंगा यात्रा का बहिष्कार करने वाले संभल से सपा सांसद शफीकुर्रमान अपने बयान से पलट गए हैं. सांसद ने अब इस बारे में कहा है कि मैंने अपने घर पर तिरंगा लगाया है. ये मुल्क का झंडा है, जिसे सब को लगाना चाहिए. सपा सांसद बर्क ने पुराने बयान से पलटते हुए अब नया बयान दिया है. उनका कहना है कि तिरंगा फहराने से हमें कोई एतराज नहीं है. तिरंगा मुल्क की आजादी की निशानी है. तिरंगा फहराने के लिए किसी से कुछ कहने की जरूरत नहीं है. हमने भी आज अपने घर पर तिरंगा लगाया है और 15 अगस्त को कई संस्थान और कॉलेजों में भी तिरंगा फहराएंगे. विपक्ष, सरकारी कर्मचारी और देश के सभी लोगों को धर्म और जाति भूलकर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे को फहराना चाहिए.

बीजेपी पर साधा निशाना

सपा सांसद ने यह भी कहा कि आज मुल्क आजाद है. अब कोई परेशानी नहीं है. साथ ही वे बीजेपी पर निशाना साधने से भी नहीं चूके, बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा कि राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा और स्वतंत्रता दिवस समारोह सभी का है. बीजेपी ने इसे खासतौर से स्पेशलिटी देकर सिर्फ बीजेपी का राष्ट्रीय ध्वज और अपना स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम बनाने की जो कोशिश की है, वह पूरी तरह गलत है.

तिरंगा यात्रा पर सवाल

बिहार में नए गठबंधन की तरह यूपी में अखिलेश यादव के नए गठबंधन की संभावना पर कहा कि बीजेपी के पास गवर्मेंट है. बीजेपी कोई नई पॉलिसी अख्तियार कर लेगी. इसके अलावा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क इससे पहले तिरंगा यात्रा पर सवाल उठा चुके हैं. अखिलेश यादव के तिरंगा यात्रा से दंगे की हिमायत के साथ उन्होंने तिरंगा यात्रा के बहिष्कार की बात कही थी. यही नहीं इससे पहले वे तिरंगा यात्रा की जगह रोजी रोटी की भी हिमायत कर तिरंगा यात्रा पर सवाल उठा चुके हैं. बार-बार मोदी और बीजेपी सरकार में मुसलमानों पर जुल्म होने जैसे आरोप लगाते रहे हैं. लेकिन आजादी की 75वीं वर्षगांठ से दो दिन पहले सांसद के सुर बदल गए हैं.

Tags: Azadi Ka Amrit Mahotsav, Samajwadi party, Sambhal News, Shafiqur Rahman Barq

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर