आचार्य प्रमोद कृषणम बोले- दुर्गा का अवतार हैं प्रियंका गांधी, उन्हीं के हाथों होगा बीजेपी का 'वध'

कांग्रेस नेता एवं कल्कि पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोद कृष्णम. (फाइल फोटो)

कांग्रेस नेता एवं कल्कि पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोद कृष्णम. (फाइल फोटो)

Acharya Pramod Krishnam: वीडियो में आचार्य प्रमोद कृष्णम कहते नजर आ रहे हैं कि जिस तरह से प्रियंका गांधी शाकुंभरी देवी का आशीर्वाद ले रही हैं, संगम में स्नान कर रही हैं, उनके इस मुहीम से बीजेपी की हवा निकल गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 14, 2021, 9:47 AM IST
  • Share this:

संभल. कांग्रेस (Congress) के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ चुके आचार्य प्रमोद कृषणम (Acharya Pramod Krishnam) ने प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) को दुर्ग का अवतार बताते हुए उनके हाथों ही बीजेपी 'वध' की बात कहकर नए विवाद को जन्म दे दिया है. एक वीडियो जारी कर प्रमोद कृष्णम ने प्रियंका गांधी को सबसे बड़ा हिंदू भी बता दिया. उन्होंंने प्रियंका गांधी को दुर्गा का अवतार बताया. प्रियंका का मंदिरों में दर्शन करना, प्रयाग में स्नान और हाथों में रुद्राक्ष पहनना, आचार्य प्रमोद ने इसे प्रियंका की निजी आस्था का विषय बताया है. साथ ही कहा कि बीजेपी का जो वध है, वो प्रियंका गांधी के हाथों से ही होगा.

गौरतलब है कि आचार्य प्रमोद कृष्णम प्रियंका गांधी के काफी करीबी माने जाते हैं,. वे 2014 और 2019 का लोकसभा चुनाव कांग्रेस के टिकट पर लड़ चुके हैं. दोनों ही बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. वीडियो में आचार्य प्रमोद कृष्णम कहते नजर आ रहे हैं कि जिस तरह से प्रियंका गांधी शाकुंभरी देवी का आशीर्वाद ले रही हैं, संगम में स्नान कर रही हैं, उनके इस मुहीम से बीजेपी की हवा निकल गई है. वे यहीं नहीं रुके और कहा कि याद रखना बीजेपी का जो वध है वह प्रियंका गांधी के हाथों से ही होगा.

सॉफ्ट हिंदुत्व को धार देने में जुटी हैं प्रियंका 

बता दें कांग्रेस ने 2022 के विधान सभा चुनाव के लिए अहम रणनीति बनाई है. प्रियंका गांधी के चेहरे को सामने रखकर कांग्रेस सॉफ्ट हिंदुत्व के साथ ही किसानों से जुड़े मुद्दों को उठाने में जुटी है. यही वजह है कि 11 फ़रवरी को प्रियंका गांधी ने सहारनपुर में शाकुंभरी देवी का आशीर्वाद लिया. इस दौरान उनके हाथों में रुद्राक्ष की माला भी नजर आई. यहां उन्होंने किसान महापंचायत को भी संबोधित किया. इसके बाद 12 फ़रवरी को वे प्रयागराज पहुंची और संगम में स्नान किया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज