Sambhal news

संभल

अपना जिला चुनें

ढाई साल चलेगा SP-BSP गठबंधन, विश्वास के लायक नहीं माया-अखिलेश: शिवपाल

शिवपाल सिंह यादव (File Photo)

शिवपाल सिंह यादव (File Photo)

शिवपाल यादव ने कहा कि नेताजी के साथ अखिलेश ने क्या किया? हमारे साथ क्या किया? नेताजी ने पार्टी बनाई थी और हमने काम किया. नेताजी पर सबसे ज्यादा मुकद्दमे मायावती ने लिखवाए.

SHARE THIS:
प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने सपा-बसपा गठबंधन पर बड़ा हमला बोला. शिवपाल यादव ने कहा कि सपा बसपा का गठबंधन ढाई साल चलेगा क्योंकि मायावती और अखिलेश विश्वास के लायक नहीं हैं. ये गठबंधन चुनाव नहीं जीतेगा. शिवपाल यादव ने कहा कि प्रसपा यूपी में बीस सीटें जीतेगी और केंद्र में प्रसपा के बिना किसी की सरकार नहीं बनेगी. शिवपाल यादव ने कहा कि 2022 में यूपी में सरकार बनाकर ऐसा कानून लाएंगे कि हर घर के एक बेटे-बेटी को नौकरी मिले.

संभल लोकसभा के कैला देवी में प्रसपा प्रत्याशी करन सिंह यादव के पक्ष में चुनाव सभा को संबोधित करते हुए शिवपाल यादव ने मायावती और अखिलेश यादव पर हमला बोला. शिवपाल यादव ने कहा कि गठबंधन ढाई साल चलेगा. मायावती और अखिलेश यादव विश्वास के लायक नहीं बताया. शिवपाल यादव ने कहा कि नेताजी के साथ अखिलेश ने क्या किया? हमारे साथ क्या किया? नेताजी ने पार्टी बनाई थी और हमने काम किया. नेताजी पर सबसे ज्यादा मुकद्दमे मायावती ने लिखवाए.

प्रसपा के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि लोकसभा चुनाव में प्रसपा यूपी में बीस सीट जीतेगी और केंद्र में प्रसपा के बिना किसी की सरकार नहीं बनेगी. 2022 में यूपी में हम सरकार बनाएंगे और ऐसा कानून बनाएंगे कि हर परिवार के एक बेटे या बेटी को नौकरी मिले.

किसानों के मुद्दे को उठाते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि आज एक कुंटल आलू गेंहू पैदा करने में 1500-1600 रुपए की लागत आती है. अगर हमारी सरकार यूपी में बनी तो हम व्यवस्था करेंगे कि किसान को कम से कम 3000 रुपए मिलें. चुनाव निशान चाभी को बताते हुए शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि ये ताला खोलेगी साइकिल का भी ताला खोलेगी दिल्ली का ताला खोलेगी. उन्होंने संभल के प्रसपा प्रत्याशी करन सिंह यादव को विजयी बनाने की अपील की.

(रिपोर्ट- सुनील कुमार)

ये भी पढ़ें---

'मोदी का मिशन है, आतंकवाद को हटाना', पढ़ें- पीएम के भाषण की खास बातें

Analysis: पूर्वांचल में BJP की चाल से 'कमल' को घेरने की कोशिश में कांग्रेस, चला ये बड़ा दांव!

Analysis: वाराणसी में हो सकती है लोकसभा चुनाव 2019 की सबसे बड़ी टक्कर, मोदी बनाम प्रियंका!

कांग्रेस प्रत्याशियों की नई लिस्ट जारी, गाजीपुर में BJP के मनोज सिन्हा के खिलाफ उतारा ये दिग्गज

Analysis: गोरखपुर सीट पर कोई रिस्क लेने को तैयार नहीं योगी, इस मास्टर प्लान के सहारे देंगे गठबंधन को पटखनी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

UP Election 2022: ओवैसी का योगी पर हमला, बोले- हां, मैं हूं गरीबों और कमजोर लोगों का 'अब्बा'

असदुद्दीन ओवैसी ने संभल में खुद को बताया गरीबों का अब्बा

Sambhal News: AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कोई अब्बाजान बोल रहा है तो कोई मुझे चचाजान बुला रहा है. उन्होंने कहा कि वे अब्बा हैं. वो गरीबों, कमजोरों और सताए हुए लोगों के अब्बा हैं.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 23, 2021, 16:34 IST
SHARE THIS:

संभल. यूपी विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं, वैसे वैसे सियासत में गर्मी के साथ जुबानी जंग भी तेज हो गई हैं. ‘अब्बाजान और चचाजान’ के बाद एआई एमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने खुद को ‘अब्बा’ बताया है. संभल में एक जनसभा को संबोधित करते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राकेश टिकैत पर करारा हमला बोला. उन्होंने कहा कोई अब्बाजान बोल रहा है, तो कोई मुझे चचाजान बुला रहा है. उन्होंने कहा कि “वे अब्बा हैं. वो गरीबों, कमजोरों और सताए हुए लोगों के अब्बा हैं. वो उन महिलाओं के भाई हैं, जो मुश्किल में हैं. यदि कमजोर लोगों की मदद करना उन्हें अब्बा बनाता है, तो मैं उनका अब्बा हूं.”

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘अब्बाजान’ शब्द से अखिलेश यादव पर निशाना साधा था. इसके बाद बागपत में किसान नेता राकेश टिकैत ने असदुद्दीन ओवैसी को बीजेपी का चचाजान बताया था. टिकैत ने कहा था कि बीजेपी का चचाजान ओवैसी आ गया है. अब वो बीजेपी को जीताकर ले जाएगा.

बी टीम नहीं, योगी को हराने आया हूं

संमल के सिरसी में ओवैसी ने कहा कि हमारा साथ दीजिए, हम किसी के खिलाफ नहीं हैं. हमारा झगड़ा हिस्सेदारी का है. यूपी में जितनी भी बिरादरी है, समाज है, सबकी हैसियत और ताकत है. हमारा हाल यह है कि मुस्लिम को दूर खड़ा कर दिया जाता है. सिर्फ वोट के लिए हमारा प्रयोग किया जाता है. चुनाव के बाद हम रोज मरते हैं. पुलिस का जुल्म बढ़ता है. रोजगार नहीं मिलता. जवानी बर्बाद कर देती है. वहीं जेल से बाहर एनकाउंटर कर दिया जाता है. 2019 के एमपी चुनाव में एसपी और बीएसपी साथ लड़े. बीजेपी कामयाब हुई. मुझ पर इल्जाम लगाते हैं कि मैं वोट काटने आया हूं. मैं यहां योगी आदित्यनाथ को हराने के लिए आया हूं. आप साथ दीजिए 2022 में योगी आदित्यनाथ को गुमनामी में भेज देंगे.

Sambhal News: सीएम योगी के सभास्थल पर गंगाजल छिड़ककर शुद्ध करने वाला सपा नेता गिरफ्तार, 10 पर FIR

Sambhal: सपा नेता भावेश यादव गिरफ्तार

Sambhal News: मंगलवार को जैसे ही मुख्यमंत्री की जनसभा खत्म हुई समाजवादी युवजन सभा के प्रदेश सचिव भावेश यादव ने अपने समर्थकों के साथ कैलादेवी पहुंचे और गंगाजल छिड़क कर कैलादेवी की धरती को पवित्र करने का दावा किया.

SHARE THIS:

संभल. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की मंगलवार को संभल (Sambhal) के कैलादेवी में हुई जनसभा के बाद समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के नेता भावेश यादव की अगुवाई में गंगाजल छिड़ककर शुद्धिकरण के मामले में पुलिस ने 10 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. साथ ही पुलिस ने भावेश यादव को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. दरअसल, भावेश यादव ने कहा था कि मुख्यमंत्री योगी के दौरे से कैलादेवी की धरती अशुद्ध हो गई थी. इसलिए गंगाजल की छिड़काव कर उसे शुद्ध किया गया.

मंगलवार को जैसे ही मुख्यमंत्री की जनसभा खत्म हुई समाजवादी युवजन सभा के प्रदेश सचिव भावेश यादव ने अपने समर्थकों के साथ कैलादेवी पहुंचे और गंगाजल छिड़क कर कैलादेवी की धरती को पवित्र करने का दावा किया. सपा नेता ने कहा कि योगी आदित्यनाथ के आने से कैलादेवी में क्षेत्र अशुद्ध हो गया था  जिसको उन्होंने गंगाजल छिड़क कर पवित्र किया. उन्होंने मुख्यमंत्री पर देवी देवताओं और जातिगत आधार पर लोगों से भेदभाव करने का गंभीर आरोप लगा दिया.

इन धाराओं में दर्ज हुआ केस
बहजोई थाने में एक शख्स द्वारा दी गई तहरीर पर आईपीसी की धारा 153A, 253A और 505 के तहत भावेश यादव व 8 से 10 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए मुख्यारोपी को गिरफ्तार कर लिया गया. तहरीर में आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री की जनसभा के बाद सभास्थल को गंगाजल से शुद्ध करने से मुख्यमंत्री के प्रशसंकों में काफी रोष है. जिससे शांति भंग होने की भी आशंका है. गौरतलब है कि 21 सितंबर को मुख्यमंत्री संभल पहुंचे थे और उन्होंने एक जनसभा को भी संबोधित किया था.

UP Assembly Election: संभल में ओवैसी ने बीजेपी पर किया हमला, कहा-सिर्फ वोट के लिए हमें पूछा जाता है

ओवैसी ने कहा कि हमारी कोशिश होगी कि योगी दोबारा सीएम न बनें.

UP News: ओवैसी ने कहा कि यूपी में चुनाव होने जा रहे हैं. यूपी चुनाव में हमारी कोशिश होंगी कि यूपी में फिर बीजेपी की सरकार किसी भी हाल में न बने. हम जीतेंगे और सभी का ध्यान रखेंगे.

SHARE THIS:

संभल. एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Awaisi) ने योगी सरकार पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने कहा कि यूपी में चुनाव होने जा रहे हैं. यूपी चुनाव में हमारी दो कोशिश होंगी कि यूपी में दोबारा बीजेपी की सरकार न आए. वादा करता हूं कि हम जीतेंगे तो मजलूम इंसान का ख्याल रखा जाएगा, क्योंकि वहां आपका दीवाना खड़ा है.

संमल के सिरसी म़े ओबेसी ने कहा कि हमारा साथ दीजिए हम किसी के खिलाफ नहीं हैं. हमारा झगड़ा हिस्सेदारी का है. यूपी में जितनी भी बिरादरी है, समाज है सबकी हैसियत और ताकत है और हमारा हाल यह है कि मुस्लिम को दूर खड़ा कर दिया जाता है. सिर्फ वोट के लिए हमारा प्रयोग किया जाता है. चुनाव के बाद हम रोज मरते हैं. पुलिस का जुल्म बढ़ता है. रोजगार नहीं मिलता. जवानी बर्बाद कर देती है. वहीं जेल से बाहर एनकाउंटर कर दिया जाता है. 2019 के एमपी चुनाव में एसपी और बीएसपी साथ लड़े. बीजेपी कामयाब हुई. मुझ पर इल्जाम लगाते हैं कि मैं वोट काटने आया हूं.

उन्होंने कहा कि एसपी के अखिलेश के तीन परिवार वाले चुनाव हार गए, सवाल मुझसे करते हैं तुम वी टीम के हो. इनका एसपी और बीएसपी का वोटर बीजेपी को वोट डाल गया मुझ पर गलत इल्जाम लगाते हैं.

सीएम योगी पर प्रहार करते हुए कहा कि क्या यूपी में सगे भाई को नहीं हरा सकते हम? बोले यूट्यूब पर मजलिस करते हैं हमारे दुश्मनों से पूछते हैं कि किसको वोट दोगे तो वह बोलते हैं कि ओवैसी को देंगे. यह अदा इनको पसंद नहीं आती. अखिलेश के परिवार को हिंदू वोट नहीं मिलता.

AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी की संभल में जनसभा से पहले ही एक पोस्‍टर से शुरू हो गया व‍िवाद?

UP: संभल में एआईएमआईएम के असदुद़्दीन ओवैसी की जनसभा को लेकर लगाए गए पोस्टर पर विवाद हो गया है.

Sambhal News: संभल में एआईएमआईएम के अध्यक्ष सांसद असदुद्दीन ओवैसी की जनसभा होनी है. इसके लिए यहां लगे पोस्टर में संभल को 'गाजियों की धरती' बताये जाने पर विवाद खड़ा हो गया है.

SHARE THIS:

संभल. उत्तर प्रदेश के संभल (Sambhal) जिले में आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष सांसद असदुद़्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की जनसभा के लिए लगे पोस्टर में संभल को ’गाजियों की धरती’ बताये जाने पर विवाद खड़ा हो गया है. दरअसल संभल जिले के सिरसी में बुधवार को ओवैसी की जनसभा होने वाली है.

इस जनसभा के लिए जो पोस्टर लगाए गए हैं, उनमें संभल को ’गाजियों की धरती’ (इस्लाम के वीर योद्धाओं की धरती) लिखा गया है. इस पर विवाद उत्पन्न हो गया है. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इन पोस्टरों पर कड़ा ऐतराज जताया है, जिसके चलते वे पोस्टर हटा दिए गए हैं.

भाजपा के पश्चिमी उत्तर प्रदेश के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष राजेश सिंघल ने इन पोस्टरों पर कहा, ’’संभल कभी गाजियों की धरती नहीं रहा. यह ओवैसी का चुनावी स्टंट है. हम उनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने देंगे. हिन्दुस्तान का कोई भी शहर गाजियों का नहीं रहा है और ना ही हम होने देंगे.”

उन्होंने कहा, “संभल एक पौराणिक शहर है. पुराणों में संभल को लेकर कल्कि अवतार का उल्लेख है लेकिन अगर कुरान में संभल को गाजियों की धरती बताया गया हो तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा.”

गौरतलब है कि एआईएमआईएम पहली बार उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव मैदान में उतरने जा रही है. पार्टी ने राज्य की 100 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया है. इसके लिये पार्टी प्रमुख असदउद्दीन ओवैसी खासे सक्रिय हैं और प्रदेश में जगह-जगह जनसभाएं कर रहे हैं.

Sambhal: ST/SC आयोग की साध्वी गीता ने राहुल गांधी को लेकर दिया विवादित बयान

साध्वी गीता प्रधान ने संभल में दिया विवादित बयान.

UP politics: साध्वी गीता प्रधान ने कांग्रेस को लेकर कहा कि जो लोग बीजेपी और आरएसएस को दलाल कहते हैं उन्हें पहले अपने गिरेबान में झांकना चाहिए. जिनके पूर्वज पहले से ही दलाली करते आए हैं, उनसे और क्या उम्मीद की जा सकती है.

SHARE THIS:

संभल. उत्तर प्रदेश एससी एसटी आयोग (SC ST Commission) की सदस्य साध्वी गीता प्रधान Sadhvi Geeta Pradhan ने संभल में विवादित बयान दिया है. उन्होंने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को “बेअकल” कह दिया. उन्होंने कहा कि जिनके पूर्वज पहले से ही दलाली के दलदल में फंसे हुए हैं वह खुद दलाल हैं. इसके साथ ही उन्होंने अखिलेश यादव पर भी निशाना साधा.

संभल में एससी एसटी आयोग की सदस्य साध्वी गीता प्रधान ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि जो लोग बीजेपी और आरएसएस को दलाल कहते हैं उन्हें पहले अपने गिरेबान में झांकना चाहिए. साध्वी ने कहा कि जिनके पूर्वज पहले से ही दलाली करते आए हैं. उनसे और क्या उम्मीद की जा सकती है. उन्होंने राहुल गांधी को बेअक्ल से संबोधित किया.

अखिलेश पर साधा निशाना

वहीं अखिलेश यादव पर भी प्रहार करते हुए कहा कि वह यूपी का सपना देखना छोड़ दें. साध्वी गीता ने कहा कि अखिलेश यादव की छवि खराब हो चुकी है. वह अपनी भाषा शैली सुधारें. अखिलेश सरकार में आधिकारियों पर अत्याचार हुए हैं. बीजेपी सभी को सम्मान देती है.

शफीकुर्रहमान बर्क पर दिया यह बयान
साध्वी ने संभल सांसद शफीकुर्रहमान बर्क को भी भाषा शैली सुधारने की नसीहत दी. उन्होंने मुसलमानों को भी लेकर बयान दिया कहा कि अगर सरकार की योजना का सबसे अधिक लाभ कोई ले रहा है तो वह सिर्फ मुसलमान ही हैं. यही नहीं 2022 चुनाव में साध्वी ने 300 सीटों के साथ यूपी में बीजेपी की सरकार बनने का दावा किया है.

Sambhal News: BJP पर बरसे SP सांसद शफीकुर्रहमान बर्क, बोले- क्या मुसलमान होना जुर्म है?

शफीकुर्रहमान का भाजपा पर हमला: कहा— देश के लिए ठीक नहीं मुस्लिमों की मॉब लिचिंग.

Uttar Pradesh News: संभल से समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने एक बार फिर बीजेपी पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार में मुसलमानों को इंसाफ नहीं मिल रहा है. उन्हें लगातार निशाना बनाकर मॉब लिंचिंग का शिकार बनाया जा रहा. यह देश के लिए ठीक नहीं

SHARE THIS:

संभल. अपने बयानों के लिए हमेशा चर्चा में रहने वाले समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क (Shafiqur Rahman Burke) ने एक बार फिर बीजेपी पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार में मुसलमानों (Muslim) को इंसाफ नहीं मिल रहा है. मुस्लिम वर्ग के लोगों को लगातार टारगेट किया जा रहा है.

संभल से लोकसभा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा कि वो भारत में रहते हैं और देश के वफादार सिपाही हैं, लेकिन जिस तरह से मुसलमानों को टारगेट कर उनकी मॉब लिन्चिंग की जा रही है यह देश के लिए ठीक नहीं है. उन्होंने कहा कि क्या मुसलमान होना जुर्म है जो वो लगातार शिकार बनाए जा रहे हैं.

किसानों को लेकर भी सरकार पर जमकर गरजे

सपा सांसद ने कहा कि किसान कानून खत्म कर देने चाहिए. भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के अल्लाह-हू-अकबर और हर-हर महादेव के नारे को उन्होंने सही बताते हुए कहा कि वो एकता चाहते हैं. वो तालिबान के मसले पर भी बोले. साथ ही उन्होंने राबिया सैफी को इंसाफ दिलाने की बात भी कही.

बर्क ने कहा कि जब से उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनी है तब से हालात बिगड़ गए हैं. चुनाव जीतने के लिए बीजेपी प्रदेश के हालात बिगाड़ना चाहती है. उन्होंने अपनी पार्टी के नेता आजम खां की रिहाई की मांग की. साथ ही यह भी कहा कि असदुद्दीन ओवैसी समाजवादी पार्टी के लिए चुनौती नहीं हैं. उन्होंने कहा कि एक बार सभी लोग मिलकर समाजवादी पार्टी को उत्तर प्रदेश में जिता दें तो केंद्र में भी वो सरकार बना लेंगे.

Pro-Taliban statements: भारत की आजादी की तुलना तालिबान से करने पर सपा सांसद के ख‍िलाफ प्रदर्शन

SP सांसद शफीकुर्रहमान बर्क के विरुद्ध तत्काल राष्ट्रद्रोह का मुकद्दमा दर्ज करके गिरफ्तार करने की जोरदार मांग की.

Pro-Taliban statements: समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क द्वारा अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता हथियाने की तुलना हिंदुस्तान की आजादी की लड़ाई से करने के विरोध में आज यूनाइटेड हिंदू फ्रंट ने कड़ा व‍िरोध जताया है. फ्रंट ने बर्क के सरकारी आवास 7, पंडित पंत मार्ग पर प्रदर्शन भी किया. प्रदर्शनकारियों ने नई दिल्ली के डीसीपी से सांसद के विरुद्ध मुकद्दमा दर्ज करके गिरफ्तार करने की मांग भी की है.

SHARE THIS:

नई दिल्ली. अफगान‍िस्‍तान (Afghanistan) में ताल‍िबान (Taliban) की हुकूमत के आने के बाद जहां पाक‍िस्‍तान (Pakistan) और चीन (China) इसका खुलकर समर्थन करने के ल‍िये आगे आ गये हैं. वहीं ताल‍िबान के जबरन कब्‍जे को कथ‍ित तौर पर समर्थन देने की आवाज भारत की स‍ियासत में भी उठने लगी है.

ताजा मामला उत्तर प्रदेश के संभल से समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने (Shafiqur Rahman Barq) का सामने आया है. सपा सांसद ने इस ताल‍िबानी कब्‍जे की तुलना भारत की आजादी के संग्राम से करके जायज ठहरा दी है. सपा सांसद के इस बयान पर हिंदुवादी संगठनों ने केवल कड़ी जताई बल्‍क‍ि सांसद को ग‍िरफ्तार करके तत्‍काल राष्ट्रद्रोह (Sedition) का मुकद्दमा दर्ज करने की मांग भी की है.

ये भी पढ़ें: UP: केस दर्ज होते ही SP सांसद शफीकुर्रहमान बर्क के बदले सुर, जानिए अब सफाई में क्या बोले 

समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क द्वारा अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता हथियाने की तुलना हिंदुस्तान की आजादी की लड़ाई से करने के विरोध में आज यूनाइटेड हिंदू फ्रंट ने कड़ा व‍िरोध जताया है. फ्रंट ने सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क के सरकारी आवास 7, पंडित पंत मार्ग पर जबरदस्त प्रदर्शन भी किया. प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व फ्रंट के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष धर्मेंद्र बेदी ने क‍िया. नई दिल्ली के डीसीपी दीपक यादव से सांसद शफीकुर्रहमान बर्क के विरुद्ध मुकद्दमा दर्ज करके गिरफ्तार करने की मांग भी की गई.

फ्रंट के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जयभगवान गोयल ने शफीकुर्रहमान बर्क के निरंकुश वक्तव्य क‍ि कटु आलोचना करते हुए कहा कि सांसद के ऐसे वक्तव्य से देश में आंतकवाद को बढ़ावा मिलेगा. ऐसे नेताओं की शह पाकर देश विरोधी शक्तियों का मनोबल ऊंचा होता है और वह हिंदू त्योहारों पर धमकियों का सिलसिला शुरू कर समाज में आतंक फैलाना शुरू कर देते हैं. इन पर लगाम लगाना अत्यावश्यक है.

ये भी पढ़ें: Sambhal News: तालिबान की तारीफ करने वाले सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क पर देशद्रोह का केस 

उन्होंने सांसद शफीकुर्रहमान बर्क के विरुद्ध तत्काल राष्ट्रद्रोह का मुकद्दमा दर्ज करके गिरफ्तार करने की जोरदार मांग की. प्रदर्शनकार‍ियों में अवध कुमार, रोमी चौहान, विकास ठाकुर, शंकर लाल, अशोक गुप्ता, संदीप, शिवम, सुमन प्रजापति आदि पदाधिकारी कार्यकर्ताओं सहित उपस्थित थे.

ये भी पढ़ें: अफगानिस्तान में शुरू हुआ तालिबान का सितम, शिया नेता की मूर्ति तोड़ी, झंडे पर 3 का कत्ल; पढ़ें अब तक क्या-क्या हुआ 

संभल के एसपी ने दी जानकारी-सपा सांसद पर दर्ज क‍िया राजद्रोह का मुकद्दमा
बताते चलें क‍ि संभल के एसपी की ओर से जानकारी भी दी है क‍ि ‘यह शिकायत की गई कि सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने तालिबान की तुलना भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों से की है. ऐसे बयान राजद्रोह की श्रेणी में आते हैं. इसलिए उनके खिलाफ 124ए यानी कि राजद्रोह की धारा में एफआईआर दर्ज की गई है. साथ ही 153ए और 295 भी लगाया गया है. उनके अलावा दो अन्य लोगों ने भी सोशल मीडिया पर वीडियो में ऐसी ही बातें कही हैं. उनके खिलाफ भी केस दर्ज कर लिया गया है.

UP: केस दर्ज होते ही SP सांसद शफीकुर्रहमान बर्क के बदले सुर, जानिए अब सफाई में क्या बोले

बर्क ने सफाई देते हुए कहा कि न उनका तालिबान से कोई संबंध है न अफगानिस्तान से. (फाइल फोटो)

संभल से सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क (Shafiqur Rahman Barq) के साथ ही दो अन्य नेताओं पर भी तालिबान की हिमायत करने के चलते देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है. केस दर्ज होते ही बर्क ने अपने बयान पर सफाई दी है.

SHARE THIS:

संभल. समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क जो मंगलवार तक तालिबान की हिमायत कर रहे थे और अफगान पर तालिबानियों के कब्जे पर उन्हें बधाइयां भेज रहे थे, बुधवार को अचानक उनके सुर बदले हुए नजर आ रहे हैं. दरअसल बीजेपी के नेता राजेश सिंघल ने बर्क समेत सपा के तीन नेताओं पर मामला दर्ज करवा दिया है. जिसके बाद बर्क ने अपने बयान से पलटते हुए कहा कि मैंने ऐसा कोई बयान दिया ही नहीं, ये बिल्कुल गलत है.
गौरतलब है कि सपा सांसद ने मंगलवार को कहा था कि अफगान में तालिबान का कब्जा सही है. अफगान की आजादी उनका खुद का मामला है. वहां अमेरिका की हुक्मरानी क्यों? उन्होंने कहा था कि तालिबान वहां की ताकत है. अमेरिका और रूस को तालिबान ने वहां पर टिकने नहीं दिया. तालिबान की अगुवाई में अफगान आजादी चाहते हैं. इसके साथ ही उन्होंने इस पूरे मामले की तुलना भारत से करते हुए कहा था कि यहां भी अंग्रेजों से पूरे देश ने लड़ाई लड़ी थी. बर्क के इस बयान के बाद उन्हें काफी आलोचना का सामना भी करना पड़ा था. लेकिन अब उन पर देशद्रोह का मामला दर्ज करवाया गया है.

देते दिखे सफाई
बर्क ने कहा कि मैंने ऐसा कोई भी बयान नहीं दिया है. ये गलत है. मैंने कहा था कि मैं इस मुद्दे पर कुछ नहीं कह सकता, उस मुल्क से या तालिबान से मेरा क्या संबंध है. उन्होंने कहा कि मैं न तालिबान के साथ हूं और न ही उसकी सराहना करता हूं. उन्होंने अपने ही शब्दों से पलटते हुए कहा कि मैंने इस संबंध में कोई बयान दिया ही नहीं.

उल्लेखनीय है कि तालिबान के समर्थन में बयानबाजी करने के बाद बीजेपी के नेता राजेश सिंघल ने सांसद बर्क, मौहम्मद फैजान और मुकीम के खिलाफ संभल कोतवाली में केस दर्ज कराया है. सिंघल ने कहा कि तालिबान आतंकवादी संगठन है. कंधार में महिलाओं का अपहरण किया. भारत आतंकियों का विऱोध करता है. शफीकुर्रहमान बर्क ने जो कहा वह देशद्रोह है. सिंघल ने कहा कि देशभक्त होने के नाते उन्होंने तालिबान सपोर्टर शफीकुर्रहमान बर्क, फैजान मुकीम आदि के खिलाफ केस दर्ज कराया है.
संभल के एसपी चक्रेश मिश्रा ने बताया कि संभल सांसद शफीकुर्रहमान बर्क और 2 अन्य के खिलाफ मंगलवार देर रात अभियोग पंजीकृत किया गया. तहरीर में बताया गया कि इन्होंने तालिबान के संबंध में भड़काऊ बयान दिए, एक मीडिया ब्रीफिंग में तालिबान की तुलना भारत के स्वाधीनता सेनानियों से की गई.

Sambhal News: तालिबान की तारीफ करने वाले सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क पर देशद्रोह का केस

 अफगानिस्तान के ताजा हालातों को लेकर सांसद शफीकुर्रहमान ने बड़ा बयान दिया है. (File)

Afghanistan Taliban News: सपा सांसद ने अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे को सही ठहराते हुए कहा था कि अफगानिस्तान की आजादी अफगानिस्तान का अपना मामला है. अफगानिस्तान में अमेरिका की हुक्मरानी क्यों?

SHARE THIS:

संभल. अपने विवादित बयानों को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाले संभल (Sambhal) से समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क (Shafiq-ur-Rahman Birk) एक बार फिर से चर्चा में हैं. इस बार उन्होंने अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban) के कब्जे का समर्थन कर दिया. इसके बाद बीजेपी नेता राजेश सिंघल की तहरीर पर पुलिस ने सांसद के खिलाफ गैर जमानती धाराओं में एफआईआर दर्ज की है. संभल के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क के खिलाफ आईपीसी की धारा 124ए (देशद्रोह) के अलावा 153ए और 295 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

दरअसल सपा सांसद ने अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे को सही ठहराते हुए कहा था कि अफगानिस्तान की आजादी अफगानिस्तान का अपना मामला है. अफगानिस्तान में अमेरिका की हुक्मरानी क्यों? उन्होंने कहा कि तालिबान वहां की ताकत है. अमेरिका रूस के तालिबान ने पैर नहीं जमने दिए. तालिबान की अगुवाई में अफगान आजादी चाहते हैं. भारत में भी अंग्रेजों से पूरे देश ने लड़ाई लड़ी थी. रहा  सवाल हिंदुस्तान का तो यहां कोई कब्जा करने अगर आएगा उससे लड़ने को देश मजबूत है.

उधर समाजवादी युवजन महासभा के जिला महासचिव चौधरी फैजान शाही ने भी बरादर को फेसबुक पोस्ट कर तख्ता पलट के लिए बधाई दी है. बीजेपी नेता राजेश सिंघल की शिकायत के बाद सपा सांसद बर्क और चौधरी फैजान शाही के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.

पहले भी दे चुके हैं विवादित बयान
गौरतलब है कि इससे पहले कोरोना को लेकर दिए गए बयान से सपा सांसद सुर्ख़ियों में आए थे. सपा सांसद ने कहा था कि कोरोना जैसी कोई महामारी नहीं है. कोरोना अगर बीमारी होती तो दुनिया में इसका इलाज होता. यह बीमारी सरकार की गलतियों की वजह से अजादे इलाही है, जो की अल्लाह के सामने रोकर गिड़गिड़ाकर माफी मांगने से ही खत्म होगी.

Afghan Crisis: सपा सांसद ने अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे को सही करार दिया, जानें और क्या कहा

 अफगानिस्तान के ताजा हालातों को लेकर सांसद शफीकुर्रहमान ने बड़ा बयान दिया है. (File)

Afghanistan Taliban Crisis: संभल के सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क  (MP Shafiqur Rahman Barq) ने बड़ा बयान देते हुए अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे को सही करार दिया है.

SHARE THIS:

सुनील कुमार

संभल. अफगानिस्तान (Afghanistan Political Crisis) में तालिबान के कब्जे पर संभल के सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क (MP Shafiqur Rahman Barq) ने बड़ा बयान दिया है. संभल सांसद ने जहां अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे को सही करार दिया, वहीं हिंदुस्तान के मसले पर उन्होंने तालिबान से देश को मजबूत बताया है. सांसद  शफीकुर्रहमान का कहना है कि अफगानिस्तान की आजादी अफगानिस्तान का अपना मामला है. अफगानिस्तान में अमेरिका की हुक्मरानी क्यों? उन्होंने कहा कि तालिबान वहां की ताकत है. अमेरिका रूस के तालिबान ने पैर नहीं जमने दिए. तालिबान की अगुवाई में अफगान आजादी चाहते हैं. भारत में भी अंग्रेजों से पूरे देश ने लड़ाई लड़ी थी. रहा  सवाल हिंदुस्तान का तो यहां कोई कब्जा करने अगर आएगा उससे लड़ने को देश मजबूत है.

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के  सांसद शफीकुर्रहमान बर्क (Shafiqur Rahman Barq) अक्सर अपने विवादित बयान के लिए चर्चा में रहते हैं. हालही में उन्होंने कहा था कि कोरोना कोई बीमारी है ही नहीं. कोरोना अगर बीमारी होती तो दुनिया में इसका इलाज होता. यह बीमारी सरकार की गलतियों की वजह से अजादे इलाही है, जो की अल्लाह के सामने रोकर गिड़गिड़ाकर माफी मांगने से ही खत्म होगी.

बीजेपी पर साधा था निशाना

सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने बीजेपी सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था कि मौजूदा सरकार ने शरीयत से ही छेड़छाड़ नहीं की है बल्कि अपनी सरकार में लड़कियों को पकड़वाकर बलात्कार करवाने, मॉब लिंचिंग और तमाम जुल्म ज्यादतियां की हैं, जिसकी वजह से कोरोना  जैसी आसमानी आफ़त सामने है. शफीकुर्रहमान बर्क ने यह विवादित बयान मुरादाबाद में समाजवादी पार्टी के सांसद एसटी हसन के विवादित बयान के बाद दिया था.

नई जनसंख्या नीति पर बड़ा बयान

योगी सरकार की नई जनसंख्या नीति पर शफीकुर्रहमान बर्क ने पलटवार करते हुए कहा था कि बीजेपी सरकार चलाने में फेल हो गई है. वह नए-नए कानून लाकर जनता को उलझाना चाहती है. उन्होंने कुरान का हवाला देते हुए कहा कि दुनिया को रब ने पैदा किया है. पैदाइश अल्लाह का कानून है और कुदरत से टकराना ठीक नहीं है. इससे नुकसान ही होगा. अगर आबादी ज्यादा घट गई और किसी मुल्क से लड़ाई हो गई तब क्या होगा? पैदाइश अल्लाह का कानून है. कुदरत से टकराना ठीक नहीं, इससे नुकसान ही होगा. सांसद ने कहा कि जो जनसंख्या कानून लाने की बात हो रही है उससे आवाम का हित नहीं होगा.

संभल में गाजे-बाजे के साथ हुई थानेदार की विदाई, कोविड प्रोटोकॉल की उड़ी धज्जियां और जमकर उड़े नोट

संभल में गाजे-बाजे के साथ थानेदार की हुई विदाई

जहां कोरोना काल में इस थानेदार ने तमाम लोगों के खिलाफ कोरोना गाइडलाइन (Corona Guidelines) के उल्लंघन के केस दर्ज किए थे. वहीं थानेदार रणवीर सिंह की विदाई की वीडियो वायरल होने के बाद एसपी क्या कार्रवाई करते हैं.

SHARE THIS:

संभल. यूपी के संभल (Sambhal) में तैनात रहे एक थानेदार की विदाई चर्चा का विषय बनी हुई हैं. शुक्रवार को थानेदार ने दुल्हे की तरह पगड़ी पहनाकर लोगों ने ढोल नगाड़ों के साथ थाने से विदाई हुई. इस दौरान कोविड प्रोटोकॉल की जमकर धज्जियां उड़ाई गई, वहीं ढोल नगाड़ों की धुन पर लोगों ने नोट उड़ाये. गाजे-बाजे के साथ थानेदार को विदाई का वीडियो वायरल होने के बाद लोग सोशल मीडिया में तेजी से शेयर कर रहे है.

पूरा मामला संभल जनपद के थाना असमोली का है. जहां के थाना प्रभारी रणवीर सिंह का एसपी ने तबादला कर दिया. मगर बेहद अनुशासन वाले पुलिस महकमे के नियम कानून को थाना प्रभारी भूल गए. बग्घी सजी थाना प्रभारी ने पगड़ी पहनी और फूल मालाओं के साथ ढोल नगाढों की धुन पर थाने से विदाई ली. विदाई ढोल नगाढ़ों तक ही सीमित नहीं रही थानेदार की विदाई में जमकर नोट भी उड़े.

UP: आजमगढ़ में सगाई के 4 महीने बाद युवक ने मंगेतर का किया कत्ल, गिरफ्तार

इस दौरान इंस्पेक्टर कोरोना गाइडलाइन को भी भूल गए. विदाई के दौरान मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ती नजर आई. जहां कोरोना काल में इस थानेदार ने तमाम लोगों के खिलाफ कोरोना गाइडलाइन के उल्लंघन के केस दर्ज किए थे. वहीं थानेदार रणवीर सिंह की विदाई की वीडियो वायरल होने के बाद एसपी क्या कार्रवाई करते हैं.

बस्ती में पूरा थाना हुआ था सस्पेंड
इससे पहले बस्ती जिले में पुलिस अनुशासन के नियमों को तोड़ना एक थाने पर भारी पड़ गया था. कुछ ही देर में पूरे थाने को सस्पेंड कर दिया गया. ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान बवाल के बाद थानेदार को लाइन हाजिर कर दिया गया था. थानेदार की विदाई के लिए पुलिसकर्मियों ने पार्टी कर डाली. पार्टी में दारोगा और सिपाही जमकर थिरके. गाजे-बाजे के साथ थानेदार को विदाई दी गई, लेकिन जब डांस पार्टी का वीडियो वायरल हुआ तो एसपी ने कार्रवाई कर दी. (सुनील कुमार)

संभल: नहाने गए तीन बच्चों की गड्डे में डूबने से मौत, डूब रहे पिता को मजदूरों ने बचाया

बच्चे शाम पांच बजे घर से खेलने के लिए निकले थे. बच्चे छह बजे तक घर नहीं लौटे. (सांकेतिक फोटो)

उप जिला अधिकारी दीपेंद्र यादव (Deependra Yadav) ने बताया की तहसील क्षेत्र के शाहपुर चामरान गांव में बृहस्पतिवार शाम तीन बच्चे निर्भय (12), उसकी बहन श्रद्धा (10) और युग (8) अपने खेत के बगल के खेत में चले गए, जिसमें पानी से भरा एक बड़ा गड्ढा था.

SHARE THIS:

संभल. उत्तर प्रदेश के संभल जिले (Sambhal District) में एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां खेत में बने पानी के गहरे गड्ढे में डूबने से तीन बच्चों की मौत हो गई. उप जिला अधिकारी दीपेंद्र यादव (Deependra Yadav) ने बताया की तहसील क्षेत्र के शाहपुर चामरान गांव में बृहस्पतिवार शाम तीन बच्चे निर्भय (12), उसकी बहन श्रद्धा (10) और युग (8) अपने खेत के बगल के खेत में चले गए, जिसमें पानी से भरा एक बड़ा गड्ढा था. तीनों बच्चें उसमें नहाने चले गए और डूब गए. मौके पर किसानों ने पहुंच कर बच्चों को निकाला ओर उपचार के लिए मुरादाबाद (Moradabad) के सरकारी अस्पताल ले गए. वहां उन्हे मृत घोषित कर दिया गया. अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर तीनों के शव को कब्जे में लिया. इनमें से दो बच्चे आपस में भाई बहन लगते थे.

जानकारी के मुताबिक, बच्चे शाम पांच बजे घर से खेलने के लिए निकले थे. बच्चे छह बजे तक घर नहीं लौटे तो इनके पिता भयंकर सिंह ने तलाश शुरू की. गांव के बाहर स्थित एक ईंट भट्ठे के गड्ढे के नजदीक भयंकर सिंह पहुंचे तो तीनों  की चप्पल  वहां रखी मिली और बच्चे आसपास कहीं नहीं थे. भयंकर सिंह को अनहोनी का अंदेशा हुआ तो वह गड्ढे में कूद गए. गड्ढे में पानी ज्यादा होने पर वह डूबने लगे. कुछ दूरी पर ग्रामीण धान की रोपाई कर रहे थे. उन्होंने भयंकर सिंह को डूबते हुए देखा तो दौड़कर आए और बाहर निकाला. भयंकर सिंह ने बच्चे लापता होने और चप्पल गड्ढे के नजदीक पड़े होने की जानकारी दी. फिर, एक ग्रामीण ने गड्ढे में घुसकर तीनों बच्चों को बाहर निकाला. परिजन आननफानन  बच्चों को लेकर मुरादाबाद चले गए, जहां उन्हें चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया. भयंकर सिंह के दो ही बच्चे थे जिनकी जान चली गई.

परिजनों में कोहराम मचा हुआ था
वहीं, पिछले हफ्ते बुलंदशहर जिले में अरनियां थाना क्षेत्र के गांव क्योली खुर्द में घर के बराबर में भरे बारिश के पानी में डूबने से मासूम की मौत हो गई थी. घटना के समय माता-पिता शौच के लिए गए हुए थे. मासूम की मौत से परिजनों में कोहराम मचा हुआ था.

UP: अब संभल जिले का नाम बदलने की उठी मांग, राज्यमंत्री गुलाब देवी के बयान के बाद रार शुरू

यूपी के संभल जिले का नाम बदलने की कवायद शुरू हो गई है.

Name Change Politics: संभल जिले की निवासी राज्यमंत्री गुलाब देवी के अनुसार, लोगों ने पृथ्वीराज चौहान नगर या कल्कि नगर नाम रखने की मांग है. उन्होंने कहा कि वे सीएम योगी आदित्यनाथ से मिलेंगी और जनभावनाओं के अनुरूप जिले का नाम बदलने की मांग करेंगी.

SHARE THIS:

संभल. यूपी के तमाम दूसरे जिलों की तरह अब संभल का भी नाम बदलने को कवायद शुरू होती दिख रही है. विधानसभा चुनाव से पूर्व इस मामले का खुलासा तब हुआ है, जब योगी सरकार में मंत्री और जिले की निवासी गुलाब देवी ने कहा कि संभल का नाम बदलने की मांग को लेकर लोग उनसे मिलने आए थे. राज्यमंत्री के अनुसार पृथ्वीराज चौहान नगर या कल्कि नगर नाम रखने की मांग है. इसके लिए वे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलेंगी और जनभावनाओं के अनुरूप जिले का नाम बदलने की मुख्यमंत्री से मांग करेंगी.

गौरतलब है कि पृथ्वीराज चौहान और कल्कि भगवान से संभल का बड़ा नाता है. चौहान वंश के प्रतापी शासक पृथ्वीराज चौहान की जहां संभल राजधानी बताई जाती है. वहीं पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान विष्णु का कल्कि के रूप में अगला अवतार संभल में ही होगा. यहां कल्किधाम है कुछ लोग संभल नगर को कल्कि नगरी भी कहते हैं.

इससे पहले यूपी सरकार फिरोजाबाद का नाम चंद्रनगर रखने का प्रस्ताव जिला पंचायत से पास हो चुका है. इसके साथ ही योगी सरकार ने झांसी रेलवे स्टेशन का नाम वीरांगना लक्ष्मीबाई के नाम पर रखने का प्रस्ताव केंद्र को भेजा है और इसी बीच एक और जिले का नाम बदलने की चर्चा शुरू हो गई है.

नाम बदलने पर रार शुरू

संभल का न अब तक नाम बदला गया है न मामला सीएम तक पहुंचा है. मगर राज्यमंत्री गुलाब देवी के बयान के बाद रार शुरू हो गई है. सदर के सपा विधायक और पूर्व मंत्री तथा विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष इकबाल महमूद ने कहा कि भाजपा सरकार ने विकास का कोई काम नहीं किया, जो किया विनाश का काम किया. साथ ही ऐलान किया है कि सपा की सरकार बनने पर जिले का नाम फिर संभल कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि पहले मायावती ने जिले का नाम भीमनगर कर दिया था, जिसे किसी ने स्वीकार नहीं किया. सपा सरकार ने बाद में संभल कर दिया.

सपा नेता इकबाल महमूद ने आज भी संभल की जनता को भरोसा दिलाया कि यदि जिले का नाम बदला गया तो सपा सरकार आने पर इसे फिर संभल कर दिया जाएगा. अब देखना ये है कि विधानसभा चुनाव से पूर्व योगी सरकार नाम बदलती है या नहीं मगर नाम का नाम आते ही रार जरूर शुरु हो गई है.

UP News Live Updates: अगवा बेटी बरामद न होने पर संभल के डॉक्टर दंपत्ति ने दी धर्म परिवर्तन की धमकी

संभल के डॉ नीरज की नाबालिग  बेटी को दूसरे समुदाय के लोगों ने अगवा कर लिया है.

Uttar Pradesh News Live, July 2021: मामला संभल शहर इलाके का है, जहां डॉक्टर नीरज दंपत्ति की नाबालिग पुत्री को दूसरे समुदाय के सिपाही का पुत्र अगवा कर ले गया. 15 जुलाई की इस घटना के बाद हिंदू संगठन धरना प्रदर्शन कर रहे हैं.

SHARE THIS:

संभल. बेटी के लिए एक दंपत्ति कितना मजबूर है ये संभल (Sambhal) में देखा जा सकता है. जहां पुलिस (Police) द्बारा अगवा बेटी बरामद न करने पर हिंदू दंपत्ति ने धर्म परिवर्तन (Religious Conversion) कर मुसलमान बनने की  चेतावनी दी है. मामला संभल शहर इलाके का है, जहां डॉक्टर नीरज दंपत्ति की नाबालिग पुत्री को दूसरे समुदाय के सिपाही का पुत्र अगवा कर ले गया. 15 जुलाई की इस घटना के बाद हिंदू संगठन धरना प्रदर्शन कर रहे हैं. घटना को एक पखवाड़ा हो गया, मगर बरामदगी तो दूर पुलिस किशोरी की परछाईं भी नहीं छू सकी है. मामले में पुलिस पर आरोपियों को छूट देने का आरोप है. इधर डॉक्टर दंपत्ति बेटी की बरामदगी से कम पर राजी नहीं है. दंपत्ति का आरोप है कि आरोपी ब्रेनवाश कर धर्म परिवर्तन करा रहा है. वहीं हिंदू धर्म में जब सुरक्षा ही नहीं है, वह पूरी तरह टूट चुके हैं. पुलिस के आश्वासनों से पेट भर गया है. बेटी बरामद नहीं हुई तो वह मुसलमान बन जाएंगे.

Sambhal News: भीषण सड़क हादसे में सात यात्रियों की मौत, 10 गंभीर रूप से जख्मी

संभल सड़क हादसे में घायल यात्रियों को पुलिस ने अस्पताल भिजवाया

Sambhal Road Accident: हादसा बहजोई थाना क्षेत्र के गांव लहरावन में नेशनल हाईवे पर उस वक्त हुआ जब पंक्चर होने की वजह से सड़क किनारे खड़ी बस में एक अनियंत्रित बस ने टक्कर मार दी.

SHARE THIS:
संभल. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के संभल (Sambhal) जिले में रविवार आधी रात के करीब हुए भीषण सड़क हादसे (Road Accident) में सात लोगों की मौत हो गई, जबकि 10 अन्य गंभीर रूप से जख्मी हो गए. मौके पर पहुंची पुलिस (Police) ने सभी घायलों को अस्पताल भेजवाया, जबकि मृतकों के शवों का पंचनामा कराकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा. हादसा बहजोई थाना क्षेत्र के गांव लहरावन में नेशनल हाईवे पर उस वक्त हुआ जब पंक्चर होने की वजह से सड़क किनारे खड़ी बस में एक अनियंत्रित बस ने टक्कर मार दी.

पुलिस के मुताबिक सभी मृतक ग्राम छपरा जनपद सम्भल के रहने वाले थे. सभी एक शादी समारोह से लौट रहे थे, तभी बस का टायर पंक्चर हो गया. जिसके बाद एक अनियंत्रित बस ने उसे टक्कर मार दी. अभी तक सात लोगों के मौत की पुष्टि हुई है. घायलों का इलाज बहजोई सीएचसी में कराया जा रहा है. मामले में अभियोग पंजीकृत अग्रिम विधिक कार्रवाई की जा रही है.

इनकी हुई मौत 
हादसे में वीरपाल (60) पुत्र ओमकार, राकेश (55) पुत्र रूम सिंह, भूरे (40) पुत्र रक्षपाल यादव, छप्पर उर्फ़ रावेन्द्र (35) पुत्र श्रीराम, संतोष (35) पुत्र राजपाल सिंह, अभय (18) पुत्र रामबाबू और विनीत (36) पुत्र नेत्रपल की मृत्यु हुई.

इन घायलों का चल रहा इलाज
अभिषेक, विजेंद्र, अरविन्द, गोविन्द, सनी, दिनेश, जीतेन्द्र, कय्यूम, सचिन और कृपाल हादसे में घायल हुए हैं, जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है.

CM योगी आदित्यनाथ ने जताया दुख 
उधर संभल सड़क हादसे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गहरा दुख जताया है. साथ ही उन्होंने अधिकारियों को मौके पर पहुंचने और घायलों की हरसंभव मदद का निर्देश भी दिया.

UP News: ATS के हत्‍थे चढ़े आतंक‍ियों के बचाव में उतरे ओवैसी, कहा- कोर्ट बरी कर देगा तो सरकार क्‍या जवाब देगी?

एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी

Asaduddin Owaisi in Sambhal: एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा क‍ि सरकार के पास कोई मुद्दा नहीं बचा है. यही वजह है कि सरकार अपनी नाकामी को छुपाने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रही है. वहीं उन्होंने एटीएस की आतंकवादियों के खिलाफ की गई कार्रवाई को लेकर भी सरकार को घेरा.

SHARE THIS:
एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने बीजेपी सरकार को जमकर कोसा. उन्होंने जहां कोरोना से हुई मौतों पर केन्‍द्र सरकार पर सवाल खड़े किए, तो वहीं जनसंख्या कानून पर योगी सरकार को घेरा. इतना ही नहीं एटीएस के हत्थे चढ़े आतंकियों के बचाव में सरकार पर सवाल खड़े किए. उन्‍होंने आतंकियों का बचाव करते हुए कहा कि अगर कोर्ट ने उन सभी को बरी कर दिया तो सरकार क्या जवाब देगी?

गुरुवार को सपा सांसद डॉक्टर शफीकउर्रहमान बर्क के निर्वाचन क्षेत्र पहुंचे असदुद्दीन ओवैसी भाजपा पर जमकर गरजे. उन्होंने कोरोना से हुई मौतों पर केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा और कहा कि कोरोना काल में हजारों लाखों लोगों की मौत हो गई, लेकिन प्रधानमंत्री के मुंह से एक शब्द तक नहीं निकला. वहीं यूपी सरकार द्वारा लाए गए जनसंख्या नियंत्रण कानून पर भी ओवैसी ने सवाल खड़े किए कहा कि सरकार जनसंख्या नियंत्रण कानून लाकर लोगों को कमजोर कर रही है, जबकि जनसंख्या नियंत्रण कानून न लाकर उनको मजबूत करती है.



ओवैसी ने क‍िया आतंक‍ियों का बचाव
उन्होंने कहा कि सरकार के पास कोई मुद्दा नहीं बचा है. यही वजह है कि सरकार अपनी नाकामी को छुपाने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रही है. वहीं उन्होंने एटीएस की आतंकवादियों के खिलाफ की गई कार्रवाई को लेकर भी सरकार को घेरा. उन्होंने आतंकियों का बचाव करते हुए कहा कि अगर कोर्ट ने उन सभी को बरी कर दिया तो सरकार क्या जवाब देगी?

आपको बता दें कि ओवैसी के संभल पहुंचे जहां संभल की एक मजार पर चादर पोशी की. वहीं सुहेलदेव समाज पार्टी के ओमप्रकाश राजभर के आने के कयास ठीक नहीं निकले और वह संभल नहीं पहुंचे. उधर, ओवैसी के कार्यक्रम में भारी अव्यवस्था देखने को मिली जहां कई जगह पुलिस को व्यवस्था बनाने के लिए हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा, तो वहीं बाउंसरों की सिक्योरिटी के बीच जमकर धक्कामुक्की में कई पत्रकार चोटिल हुए हैं.

लखनऊ में पकड़े गए आतंकियों की मदद करेगा जमीयत उलेमा ए हिंद
वहीं जमीयत उलेमा ए हिंद के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने कहा कि एटीएस द्वारा जो लखनऊ से दो संदिग्ध युवक उठाए हैं और उनको आतंकवादी बता रहे हैं. अभी तक यह कोर्ट द्वारा निर्णय नहीं हुआ है कि वो आतंकवादी है या फिर निर्दोष इसलिए जमीअत उलेमा ए हिंद शुरू से ही निर्दोष लोगों की मदद करती है और इस बार भी जमीयत ने यह फैसला लिया है कि उन लोगों की मदद की जाए. क्योंकि अभी तक कोर्ट द्वारा यह निर्णय नहीं हुआ है कि वह आतंकवादी है या नहीं इसलिए उनको अभी आतंकवादी कहना यह बिल्कुल गलत है. उनमें से एक ने कुछ समय पहले दारुल उलूम देवबंद से पढ़ाई की थी बाकी किसी का देवबंद से कोई संबंध नहीं है.

बीजेपी ने क्‍या कहा
बीजेपी नेता नलीन कोहली ने कहा क‍ि प्रत्येक व्यक्ति कानून की उचित प्रक्रिया और कानूनी सहायता प्राप्त करने का हकदार है. हालांकि यह सवाल उठता है कि क्या कोई संगठन, संभवतः राजनीतिक कारणों से, कानूनी लड़ाई आतंक के आरोपियों से लड़ने का फैसला करता है. क्या ऐसे संगठन आतंक पीड़ितों की मदद करेंगे? हर व्यक्ति कानूनी मदद पाने का हकदार है. एक सवाल तब उठता है जब कोई संगठन, संभवतः राजनीतिक कारणों से, आतंकी आरोपियों की कानूनी लड़ाई लड़ने का फैसला करता है.

Sambhal News: मर्डर का लाइव वीडियो वायरल, गोली लगने से दो की मौत, एक घायल

गोली लगने के बाद भी शिवा वीडियो बनाता रहा. इलाज के दौरान सोमवार को उसकी मौत हो गई

Sambhal Live Murder: पूरी घटना का वीडियो जिस लड़के ने बनाया उसकी भी मौत गोली लगने से हुई है. वायरल वीडियो में शिवा कहता हुआ सुनाई दे रहा है कि श्रीपाल ठेकेदार ने गोली मार दी. उसके बाद वह गोली लगने की जगह को दिखाता है और जमीन पर गिर पड़ता है.

SHARE THIS:
संभल. उत्तर प्रदेश के संभल (Sambhal) जिले में डबल मर्डर (Double Murder) का लाइव वीडियो (Live Video) सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. वायरल वीडियो बहजोई थाना के गांव सीसौना का है, जहां शराब पीने को लेकर हुए विवाद में एक दबंग ठेकेदार ने तीन लोगों को गोली मार दी. गोली लगने से एक की मौके पर ही मौत हो गई जबकि एक अन्य ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया. एक अन्य घायल का इलाज चल रहा है. घटना तीन दिन पुरानी है और इस मामले में पुलिस ने तीनों नामजदों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

पूरी घटना का वीडियो जिस लड़के ने बनाया उसकी भी मौत गोली लगने से हुई है. वायरल वीडियो में शिवा कहता हुआ सुनाई दे रहा है कि श्रीपाल ठेकेदार ने गोली मार दी. उसके बाद वह गोली लगने की जगह को दिखाता है और जमीन पर गिर पड़ता है. वायरल वीडियो में शिवा की उखड़ती सांसों को साफ देखा जा सकता है. इसके बाद मौके पर हड़कंप मच जाता है. वीडियो में एक शख्स गोली मारने के लिए उकसाता भी नजर आ रहा है.



तीनों आरोपी भेजे गए जेल
बताया जा रहा है कि शराब पीने को लेकर हुए विवाद में दबंग ठेकेदार ने इस जघन्य हत्याकांड को अंजाम दिया. शिवा ने जिस लड़के ने यह वीडियो बनाई, उसकी मौत सोमवार को इलाज के दौरान हुई. सोमवार को ही डबल मर्डर का यह विडियो वायरल हुआ. हालांकि पुलिस ने तत्परता दिखते हुए तीनों नामजद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

नई जनसंख्या नीति पर SP MP शफीकुर्रहमान बर्क का अजीबोगरीब बयान- पैदाइश अल्लाह का कानून, कुदरत से...

संभल से सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने नई जनसंख्या नीति को बताया कुदरत के खिलाफ

Sambhal News: शफीकुर्रहमान बर्क ने कुरान का हवाला देते हुए कहा कि दुनिया को रब ने पैदा किया है. पैदाइश अल्लाह का कानून है और कुदरत से टकराना ठीक नहीं है. इससे नुकसान ही होगा.

SHARE THIS:
संभल. योगी सरकार (Yogi Government) की नई जनसंख्या नीति (New Population Policy) को लेकर सियासी घमासान शुरू हो गया है. रविवार को नई जनसंख्या नीति के ऐलान से ठीक पहले संभल (Sambhal) से समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क (MP Shafiq-ur-Rahman) ने पलटवार किया है. बर्क का साफ कहना है कि बीजेपी सरकार चलाने में फेल हो गई है. वह नए-नए कानून लाकर जनता को उलझाना चाहती है. उन्होंने कुरान का हवाला देते हुए कहा कि दुनिया को रब ने पैदा किया है. पैदाइश अल्लाह का कानून है और कुदरत से टकराना ठीक नहीं है. इससे नुकसान ही होगा.

मीडिया से बातचीत में लोकसभा के बुजुर्गतम सांसदों में से एक बर्क ने एक  दलील दी. उन्होंने कहा कि अगर आबादी ज्यादा घट गई और किसी मुल्क से लड़ाई हो गई तब क्या होगा? उन्होंने कुरान का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि इस दुनियां को रब ने पैदा किया. पैदाइश अल्लाह का कानून है. कुदरत से टकराना ठीक नहीं, इससे नुकसान ही होगा. सांसद ने कहा कि जो जनसंख्या कानून लाने की बात हो रही है उससे आवाम का हित नहीं होगा.

शफीकुर्रहमान बर्क ने आगे कहा कि अल्लाह ने जिसे पैदा करना है उसे कौन रोक सकता है. वह तो पैदा होगा ही. चाहे गरीब हो या अमीर सभी को खाना अल्लाह के रहमों करम से मिलता है. उन्होंने कहा कि जनसंख्या कानून से कोई लाभ नहीं होने वाला. यूनिफार्म सिविल कोड के सवाल पर उन्होंने कहा कि जब कानून आएगा तो उस पर चर्चा होगी. फिर कुछ कहा जा सकता हैं. बता दें यह पहला मौका नहीं है जब सपा सांसद ने ऐसा बयान दिया है. इससे पहले भी वे अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्ख़ियों में रह चुके हैं.

अवाम को परेशान किया जाएगा
कानून को अवाम के खिलाफ बताते हुए सपा सांसद ने कहा कि अवाम को बीजेपी कुछ दे नहीं सकती. अब कानून के बहाने सहूलियतें न देने, चुनाव न लड़ने देकर परेशान किया जाएगा. कोरोना का मामला था सरकार कंट्रोल नहीं कर पाई. मैंने भी वैक्सीन लगवाई. कोई बुराई नहीं है. हम कानून मानने वाले हैं, मगर जनसंख्या अल्लाह का कानून है .अलाह ने जितनी रूहें पैदा की हैं उन्हें आनी हैं इंसान की शक्ल में तो कौन रोकेगा उन्हें? मगर सजा देंगे। आप लोगों को इनाम नहीं दे सकते। दो से ज्यादा हो जाएंगे तो तनख्वाह नहीं देंगे आप. चुनाव नहीं लड़ने देंगे. गरीब हो या अमीर, बच्चे की शादी कर बच्चों की दुआ की जाती है, जिस पर रोक अल्लाह से टकराना है.

Sambhal News: शिव मंदिर के महंत की जघन्य हत्या से सनसनी, 2 घंटे में ही हत्‍यारोपी गिरफ्तार

UP: संभल में महंत की हत्या का चंद घंटे के अंदर पुलिस ने खुलासा कर दिया है.

Sambhal News: संभल के एसपी चक्रेश मिश्रा ने बताया कि सात दिन के अंदर चार्जशीट दाखिल कर हत्यारोपी को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी.

SHARE THIS:
सुनील कुमार

संभल. उत्तर प्रदेश के संभल (Sambhal) में मंदिर के एक महंत की हत्या (Murder) से सनसनी फैल गई. पुलिस ने शुरुआती जांच में महंत के सिर पर गंभीर चोटें देखीं. उन पर कई बार वार किया गया. मामले में पुलिस ने हत्या की तहरीर लेकर शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया. यह मामला असमोली थाना के गांव गुमसानी का है. इसके बाद पुलिस ने महज दो घंटे के अंदर हत्याकांड का खुलासा कर दिया. पुलिस ने हत्यारोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है.

मंदिर में महंत की हत्या की खबर असमोली थाना के गांव गुमसानी के शिव मंदिर से आई. हत्यारे ने रात में महंत भरत गिरि पर ताबड़तोड़ कई बार हमला कर हत्या की थी. महंत की हत्या की सूचना जंगल में आग की तरह फैली. आनन-फानन में एएसपी, डॉग स्क्वाड और फॉरेंसिक टीम मौके पर पहुंची.

पुलिस ने शुरुआती जांच की और महज दो घंटे में ही हत्यारोपी मोनू को गिरफ्तार कर लिया. यही नहीं पुलिस ने हत्याकांड में प्रयुक्त लोहे की रॉड को तालाब से बरामद कर लिया. एसपी चक्रेश मिश्रा ने बताया कि सात दिन के अंदर चार्जशीट दाखिल कर हत्यारोपी को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी. एसपी चक्रेश मिश्ना ने बताया कि मोनू का महंत से झगड़ा हुआ था. आरोप है कि महंत ने उसे अपमानित किया था, जिसके बाद मानव से दानव बने आरोपी ने महंत की हत्या का फैसला कर लिया. रात को वह मंदिर में घुसा और महंत की लोहे की रॉड के ताबड़तोड़ प्रहारों से हत्या कर दी. मामले में पास के तालाब से हत्या में प्रयुक्त लोहे की रॉड को भी बरामद कर लिया गया है.

संभल: बेकाबू ट्रैक्टर ट्रॉली ने शादी में जा रहे परिवार को कुचला, दो बच्चों समेत चार की मौत

मोटरसाइकिल को टक्कर मारने के बाद आरोपी चालक ट्रैक्टर ट्रॉली को छोड़कर भाग निकला (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Sambhal Road Accident: सोमवार सुबह लगभग साढ़े ग्यारह बजे असमोली के मनोटा पुल पहुंचने पर उनकी मोटरसाइकिल को बेकाबू ट्रैक्टर ट्रॉली ने टक्कर मार दी. इस हादसे में बाइक पर सवार महिला और दो बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि बाइक चले रहे व्यक्ति ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया. टक्कर मारने के बाद आरोपी ट्रैक्टर चालक फरार हो गया

SHARE THIS:
संभल. उत्तर प्रदेश के संभल (Sambhal) में तेज रफ्तार ट्रैक्टर ट्राली ने बाइक को टक्कर मार दी. इस जबरदस्त टक्कर से मोटरसाइकिल के परखच्चे उड़ गए और उसपर सवार चार लोगों की मौत हो गई. मरने वालों में दो बच्चे शामिल हैं. हादसे में एक अन्य बच्चा घायल हुआ है जिसे उपचार के लिए मुरादाबाद रेफर किया गया है. यह भीषण दुर्घटना (Accident) असमोली थाना क्षेत्र के जोया मार्ग स्थित मनोटा पुल के पास हुआ.

बताया जा रहा है कि बाइक पर सवार यह सभी लोग शादी समारोह में शामिल होने के लिए मुरादाबाद जनपद के पाकवड़ा जा रहे थे. सोमवार सुबह लगभग साढ़े ग्यारह बजे असमोली के मनोटा पुल पहुंचने पर उनकी मोटरसाइकिल को सामने से आ रहे ट्रैक्टर ट्रॉली ने टक्कर मार दी. इस हादसे में बाइक पर सवार महिला और दो बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि बाइक चला रहे व्यक्ति ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया. दुर्घटना के बाद आरोपी चालक ट्रैक्टर छोड़कर वहां से भाग निकला.

दुर्घटना में मरने वालों की पहचान यासीन, उसकी सास, छह महीने का बेटा और तीन वर्षीय बेटी के रूप में हुई है.

पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.
Load More News

More from Other District

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज