अपना शहर चुनें

States

'रामराज' और 'निषाद राज' का नारा बुलंद करने वाले कौन हैं प्रवीण निषाद?

बीजेपी प्रत्याशी प्रवीण निषाद
बीजेपी प्रत्याशी प्रवीण निषाद

प्रवीण के पिता संजय निषाद ने निषाद पार्टी की स्थापना 2016 में की था. 2017 में इसने यूपी के 72 विधानसभा क्षेत्रों में अपने प्रत्याशी उतार दिए. पहले ही चुनाव में पार्टी ने एक विधायक के साथ खाता खोला था.

  • Share this:
गोरखपुर लोकसभा सीट के उपचुनाव में बीजेपी प्रत्याशी उपेंद्र दत्त शुक्ला को हराकर सियासत में हड़कंप मचाने वाले प्रवीण निषाद ने समाजवादी पार्टी से रिश्ता तोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया. पेश से इंजीनियर प्रवीण निषाद को पार्टी ने संतकबीरनगर सीट से चुनाव मैदान में उतारा है. बदलते वक्त कर साथ सांसद प्रवीण निषाद अब यूपी में रामराज के साथ निषाद राज का नारा बुलंद करने का दावा कर रहे हैं. समाजवादी कुनबे से अलग होकर एनडीए के साथ खड़ी होने वाली निषाद पार्टी का विजन आम राजनीतिक दलों से काफी अलग है.

प्रवीण के पिता संजय निषाद ने 'निषाद पार्टी' की स्थापना 2016 में की था. 2017 में इसने यूपी के 72 विधानसभा क्षेत्रों में अपने प्रत्याशी उतार दिए. पहले ही चुनाव में पार्टी ने एक विधायक के साथ खाता खोल दिया. आपको बता दें कि निषाद पार्टी का पूरा नाम है 'निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल'. यह अंग्रेजी में बनता है NISHAD.यानी एक साथ दो निशाने साधे गए हैं. निषादों में 15-16 उपजातियां शामिल हैं.

निषाद पार्टी




संतकबीरनगर से बीजेपी के प्रत्याशी प्रवीण कुमार निषाद उर्फ संतोष ने वर्ष 2009 में एनआईईटी ग्रेटर नोएडा से बीटेक (मैकेनिकल ब्रांच) की है और इंडो एलोसिस इंडस्ट्रीज लिमिटेड भिवाड़ी, राजस्थान में बतौर प्रोडक्शन मैनेजर तकरीबन तीन वर्षों तक काम कर चुके हैं. इस नौकरी के दौरान ही उन्होंने सिक्किम मनीपाल यूनिवर्सिटी से दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से प्रोजेक्ट मैनेजमेंट में एमबीए की डिग्री हासिल की.
इंजीनियर प्रवीण कुमार निषाद राष्ट्रीय एकता परिषद और अन्य कई संगठनों में जिम्मेदार पदों पर रहे हैं. जब इनके पिता डा. संजय निषाद ने अगस्त 2016 में निषाद पार्टी बनाई तब प्रवीण ने बतौर प्रदेश प्रभारी की हैसियत से काम किया.

सपा सांसद प्रवीण निषाद


कौन हैं प्रवीण निषाद?

प्रवीण निषाद ने समाजवादी पार्टी के टिकट पर गोरखपुर में लोकसभा का उपचुनाव जीतकर हड़कंप मचा दिया. निषाद ने सीएम योगी आदित्यनाथ के गढ़ में चुनाव जीतकर सबको चौंकाया था. इसके बाद प्रवीण निषाद बीजेपी में शामिल हो गए थे. निषाद को इस बार गोरखपुर की जगह संत कबीरनगर से टिकट दिया गया है.

संत कबीर नगर बस्ती मंडल के अंतर्गत आने वाला जिला है, जो घाघरा और राप्ती नदी के किनारे बसा हुआ है. संत कबीर नगर लोकसभा सीट पर कुल मतदाता संख्या 19,04,315 है. इनमें 10,45,424 पुरुष मतदाता और 8,58,808 महिला मतदाता हैं. संत कबीर नगर सीट के तहत विधानसभा की पांच सीटें आती हैं जिनके नाम अलीपुर, घनघटा, मेहदावल, खलीलाबाद और खजनी हैं. अलापुर, घनघटा और खजनी की सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है. संत कबीर नगर सीट पर लोकसभा चुनाव 2019 के छठवें चरण में 12 मई को मतदान होना है.

ये भी पढ़ें:

कभी 'अखबार' बेचते थे गोरखपुर से BJP प्रत्याशी और भोजपुरी सुपरस्टार रवि किशन

सुल्तानपुर में प्रियंका के रोड शाे में 'फंसा' चाची मेनका गांधी का काफिला

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsAppअपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज