अपना शहर चुनें

States

तमाम वादों और दावों के बावजूद अभी भी कुष्ठ रोगियों को सुविधाओं का इंतजार

कुष्ठ रोगियों को तमाम सुविधाएं देने के दावे और वादे होते रहे हैं, लेकिन उसके बाद भी कुष्ठ रोगियों की बस्तिया आज भी विकास और सुविधाओं का इंतजार कर रही हैं.

  • Share this:
कुष्ठ रोगियों को तमाम सुविधाएं देने के दावे और वादे होते रहे हैं, लेकिन उसके बाद भी कुष्ठ रोगियों की बस्तिया आज भी विकास और सुविधाओं का इंतजार कर रही हैं. भदोही जिले के जीवनदीप कुष्ठ आश्रम में रहने वाले कुष्ठ रोगी आज तमाम समस्याओं का सामना कर रहे हैं, लेकिन तमाम शिकायतों के बाद उनकी सुनने वाला कोई नहीं है.

भदोही शहर के पास पिपरिस ग्राम सभा के एक हिस्से में कुष्ठ रोगी बस गए थे. बाद में यह जमीन कुष्ठ रोगियों को आवंटित कर दी गई. कुष्ठ रोगी यहां पर विकास के कार्य कराने के लिए 1990 से मांग कर रहे हैं, लेकिन अभी तक इन असहाय लोगों तक विकास नहीं पहुंचा है.

जीवनदीप कुष्ठ आश्रम में कुष्ठ रोगियों के साथ उनके परिवार के करीब 200 लोग रहते हैं जिसमें 50 लोग कुष्ठ से ग्रसित हैं. कुछ आवासीय मकान सहित नाममात्र का विकास जरूर इनकी बस्ती में हुआ है लेकिन जितना होना चाहिए वह नहीं हो सका है.



इनकी सबसे बड़ी समस्या विद्युतीकरण की है. इनके आश्रम तक बिजली के पोल तक नहीं हैं. ऐसे में काफी दूर से खुद की केबिल खरीदकर ये किसी तरह बिजली तो पा गए हैं लेकिन अगर कभी बिजली ख़राब हो गई तो कई दिनों बाद ही बिजली आपूर्ति बहाल हो पाती है.
आश्रम में लगे 3 हैंडपंप ख़राब हैं, जो कई शिकायतों के बाद बनाए नहीं गए हैं ,आश्रम के अंदर तक सड़क नहीं है. ऐसे लोगों के विकास को लेकर प्रशासन और क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों को गंभीर होने की सबसे ज्यादा जरूरत है क्योंकि यह हमारे समाज का वह हिस्सा है जिस पर शायद ही कोई ध्यान देता है.

वही भदोही ब्लाक प्रमुख ने इस बाबत बताया कि उन्होंने कुष्ठ आश्रम का ब्लॉक के अधिकारियों के साथ निरीक्षण किया है, कुष्ठ रोगियों की समस्याओं का जल्द समाधान कराया जाएगा.

रिपोर्ट-दिनेश पटेल

ये भी पढ़ें:- 

सीतापुर में कुत्‍तों को मारने पर सप्रीम कोर्ट ने योगी सरकार से मांगा जवाब

विधायकों के बाद अब बरेली के मेयर को मिली बम से उड़ाने की धमकी

पानी की किल्लत से झांसी के इस गांव में आधे युवाओं का नहीं हो रहा ब्याह
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज