होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /PM किसान सम्मान निधि: लेखपाल ने सत्यापन के लिए मांगे 500 रुपए, वीडियो वायरल

PM किसान सम्मान निधि: लेखपाल ने सत्यापन के लिए मांगे 500 रुपए, वीडियो वायरल

एक वायरल वीडियो में लेखपाल अखिलेश कुमार किसानों के किसान सम्मान निधि योजना के फार्म का सत्यापन करते हुए नजर आ रहे हैं.

    प्रधानमंत्री द्वारा गरीब किसानों के लिए शुरू की गई किसान सम्मान निधि योजना भदोही जिले में भ्रष्टाचार का शिकार हो रही है. किसानों से सत्यापन के नाम पर लेखपाल पांच-पांच सौ रुपए की मांग रहे हैं. जिले के सरई मिश्रानी गांव के लेखपाल का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. जिसमें वह किसानों से रूपये की डिमांड करता हुआ दिखाई दे रहा है. लेखपालों की मनमानी से कई किसानों को किसान सम्मान निधि योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है.

    जिले में कई इलाकों से ऐसे मामले सामने आ चुके हैं, जहां लेखपाल योजना का लाभ दिलाने के लिए किसानों से पांच -पांच रुपया ले रहे हैं. ऐसे ही एक मामले में कुछ दिनों पहले औराई तहसील के एक लेखपाल का वीडियो वायरल हुआ था. हालांकि इसके बाद लेखपाल को निलंबित कर दिया गया था.

    ताजा मामला ज्ञानपुर तहसील के सरई मिश्रानी गांव से सामने आया है. जहां एक वायरल वीडियो में लेखपाल अखिलेश कुमार किसानों के किसान सम्मान निधि योजना के फार्म का सत्यापन करते हुए नजर आ रहे हैं. इतना ही नहीं वे किसानों से रुपयों की डिमांड कर रहे हैं. वह किसानों से बोल रहे हैं कि अगर रूपये नहीं मिले तो उन्हें योजना का लाभ भी नहीं मिलेगा.

    News18 Hindi
    सत्यापन करता लेखपाल


    यह वीडियो दो दिन पूर्व का बताया जा रहा है. जिसको गांव के एक किसान ने अपने मोबाइल में रिकार्ड कर वायरल कर दिया है. वायरल वीडियो जिले के आलाधिकारियों तक भी पहुंचा है. जिलाधिकारी ने कहा है कि मामले की जांच की जा रही है और जल्द ही दोषियों पर कठोर कार्रवाई की जाएगी. वहीं गांव के किसानों का आरोप है की, लेखपाल अखिलेश कुमार उन्हीं किसानों का सही से सत्यापन कर रहे हैं, जो उन्होंने पांच-पांच सौ रुपए दे रहे हैं. (रिपोर्ट-दिनेश पटेल)

    ये भी पढ़ें: प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम: दूसरी किस्त के लिए छूट, तीसरी के लिए सरकार ने लगाई ये शर्त!

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp

    Tags: Farmer Agitation, Hindi news, Up news in hindi, Uttar pradesh news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें