सरकारी खजाने पर सेंध: बिजली चुराकर दर्जनों पुलिस चौकियों को रोशन करती है संतकबीरनगर पुलिस

संतकबीरनगर पुलिस पर बिजली चोरी के आरोप लग रहे हैं.
संतकबीरनगर पुलिस पर बिजली चोरी के आरोप लग रहे हैं.

संतकबीरनगर में पुलिस (Police) का चोर को पकड़ने वाली नहीं बल्कि खुद चोरी करने वाली चेहरा देखने को मिला है. संतकबीर नगर की पुलिस जिले की पुलिस चौकियों में बिजली चोरी (Electricity Theft) करती पकड़ी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2020, 8:08 PM IST
  • Share this:
संतकबीरनगर. संत कबीरनगर (SantKabir Nagar) जिले में बिजली विभाग और सरकार की मंशा पर पलीता लगाकर हर महीने पुलिस (Police) द्वारा लाखों रुपये की बिजली चोरी (Electricity Theft) कर पुलिस चौकियों (Police checkpoints) को रोशन किया जाता है. हाल ही में इस बात का खुलासा हुआ है. चोरी की बिजली से जिले की तमाम पुलिस चौकियों में सीसीटीवी कैमरे, इनवर्टर, पंखे और बल्ब जलाया जा रहा है.

संतकबीरनगर जिले में अधिकांश पुलिस चौकियों में बिना कनेक्शन के ही बिजली का उपयोग पुलिस कर रही है. जिस पर बिजली विभाग के जिम्मेदारों की कभी नजर नहीं जाती है. आम आदमी से बिल वसूली करने वाले बिजली महकमे के अधिकारी खाकी की इस चोरी पर नकेल नहीं कस पा रहे हैं. जांच में बिना मीटर के पाए जाने पर बिजली विभाग जहां गरीबों के ऊपर जुर्माना लगाकर उनसे मोटी रकम वसूलता है वहीं पुलिस विभाग तक बिजली विभाग की जांच नहीं पहुंच रही है.

हाथरस कांड: पीड़िता के भाई का बड़ा खुलासा, सीबीआई ने पूछा- तुमने ही अपनी बहन को मारा?



तस्वीरों में आप साफ देख सकते हैं कि पुलिस चौकियों पर बिना मीटर बिना कनेक्शन के ही बिजली का धड़ल्ले से उपयोग हो रहा है. बिजली चोरी के कारण हर महीने सरकारी राजस्व को लाखों का चूना लग रहा है. पूरे मामले में बिजली विभाग के अधिशाषीअभियंता राजकुमार सिंह ने कहा कि जिन पुलिस चौकियों पर मीटर नहीं लगा है उनकी जांच कराकर उन पुलिस चौकियों पर तुरंत मीटर लगाने का कार्य किया जाएगा, जबकि डीएम दिव्या मित्तल ने मामले को गम्भीर बताते हुए कहा कि अगर पुलिस चौकियों पर मीटर नहीं लगाया गया है तो बिजली विभाग को निर्देशित कर पुलिस चौकियों पर मीटर लगवाया जाएगा.


कुल मिलाकर अधिकारयों के बयान से पता चलता है कि सभी अधिकार मामले को दबाने में लगे हैं और मीटर लगवाने के भरोसा दिला रहे हैं. लेकिन यहां पर सवाल यही उठ रहा है कि जब लोगों को सजा दिलाने वाली पुलिस ही सरकारी खजाने को खाली करने में लग जाएगी तो वह किसी को सजा कैसे दिलवा पाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज