सुरक्षा सलाहकार केके शर्मा ने लिया राम जन्मभूमि का जायजा, 18 जुलाई को होगी अहम बैठक
Ayodhya News in Hindi

सुरक्षा सलाहकार केके शर्मा ने लिया राम जन्मभूमि का जायजा, 18 जुलाई को होगी अहम बैठक
18 जुलाई को एक अहम बैठक होने वाली है. (File)

मालूम हो कि 18 जुलाई को अयोध्या में ट्रस्ट की दूसरी अहम बैठक है जिस पर राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण की स्थिति पर भी चर्चा होगी.

  • Share this:
अयोध्या. उत्तर प्रदेश (Ayodhya) के अयोध्या में राम जन्मभूमि (Ram Janmabhoomi) की सुरक्षा के लिए सलाहकार नियुक्त किए गए बीएसएफ के पूर्व केके शर्मा राम जन्म पर पहुंचे. राम जन्मभूमि परिसर में सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लिया. इसके बाद डीएम, एसएसपी और सुरक्षा से जुड़े तमाम अधिकारियों के साथ 1 घंटे से ज्यादा बंद कमरे में चर्चा भी की, इसके बाद बीएसएफ के पूर्व डीजीपी केके शर्मा कारसेवक पुरम पहुंचे और श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के पदाधिकारी चंपत राय और अनिल मिश्रा से मुलाकात की. साथ ही श्री राम जन्म भूमि न्यास कार्यशाला गए जहां पर पत्थर तराशने का कार्य चल रहा है. माना यह जा रहा है कि 18 जुलाई को अयोध्या में होने वाली बैठक के मद्देनजर सारी व्यवस्थाएं की जा रही हैं. मालूम हो कि 18 जुलाई को अयोध्या में ट्रस्ट की दूसरी अहम बैठक है जिस पर राम मंदिर निर्माण की स्थिति पर भी चर्चा होगी.



बैठक से पहले राम मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था की कमान केके शर्मा को सौंपी गई है. राम मंदिर सुरक्षा समिति का सलाहकार नियुक्त किया गया है. केके शर्मा हालांकि मीडिया से बचते नजर आए और मीडिया के सवालों का कोई जवाब नहीं दिया, लेकिन राम मंदिर निर्माण की तिथि की घोषणा होनी है. राम मंदिर पर जल्द ही भूमि का पूजन किया जाना है और साथ ही परिसर की सुरक्षा व्यवस्था मजबूत रखनी है जिसके मद्देनजर बीएसएफ के पूर्व डीजी के के शर्मा को श्री राम जन्मभूमि सुरक्षा सलाहकार मनोनीत किया गया है. पूर्व में केके शर्मा ने कई पूर्व प्रधानमंत्रियों और मौजूदा प्रधानमंत्री के सुरक्षा की जिम्मेदारी निभाई है.

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सुरक्षा की कमान संभाल चुके हैं बीएसएफ के पूर्व डीजी केके शर्मा.


अहम जिम्मेदारी निभा चुके हैं केके शर्मा




श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि बीएसएफ के पूर्व डीजी केके शर्मा राजस्थान कैडर के आईपीएस हैं. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सुरक्षा के प्रमुख और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा के 6 साल तक व्यवस्था देखने वाले को भवन निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्रा के द्वारा श्री राम जन्म भूमि की सुरक्षा सलाहकार मनोनीत किया गया है. साथ ही राम लला की सुरक्षा के मद्देनजर केके शर्मा से यह आग्रह किया गया था कि राम जन्मभूमि परिसर की 70 एकड़ की सुरक्षा की समीक्षा की जाए. मंदिर निर्माण के समय, मौजूदा समय और आगामी दिनों को देखकर राम मंदिर निर्माण की सुरक्षा व्यवस्था पर विचार करने के लिए केके शर्मा को यहां भेजा गया है. अब वे अपनी रिपोर्ट भेजेंगे. साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 5 अगस्त को अयोध्या राम जन्म भूमि के भूमि पूजन के लिए आने की बात को सिरे से नकारते हुए कहा कि यह सब बातें हवा में है.


ये भी पढ़ें: Rajasthan Political Crisis: सचिन पायलट और BJP के रिश्तों में आखिर कन्फ्यूजन कहां है?


18 जुलाई को अयोध्या में अहम बैठक

आगामी 18 जुलाई को अयोध्या में राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के पदाधिकारियों की एक अहम बैठक होनी है. इस बैठक में ट्रस्ट के सभी पदाधिकारी शामिल होंगे. श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के 15 ट्रस्टियों में से 12 ट्रस्टी मौके पर मौजूद होंगे और बाकि तीन ट्रस्टी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक में भाग लेंगे. बैठक में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के पदाधिकारियों के मंथन के बाद श्री राम जन्मभूमि के भूमि पूजन के लिए भी मंथन हो सकता है. बीते दिनों श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राम जन्म भूमि के शिलान्यास करने के लिए पत्र भेजा था. भूमि पूजन के तिथि की घोषणा 18 जुलाई को अयोध्या में होने वाली बैठक में  हो सकती है.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading