लाइव टीवी

चिन्मयानंद केस: आरोपी संजय की मामी ने घबराकर नाले में बहाया पीड़िता का सामान, SIT ने किया बरामद

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 5, 2019, 5:32 PM IST
चिन्मयानंद केस: आरोपी संजय की मामी ने घबराकर नाले में बहाया पीड़िता का सामान, SIT ने किया बरामद
आईजी नवीन अरोड़ा ने कहा कि चिन्मयानंद का मालिश करते हुए जो वीडियो पीड़िता ने चश्मे द्वारा बनाया था, वह चश्मा संजय और पीड़िता ने ही कहीं गायब किया है (चिन्मयानंद का फाइल फोटो)

एसआईटी (SIT) प्रमुख आईजी नवीन अरोड़ा (IG Naveen Arora) ने कहा कि चिन्मयानंद (Chinmayanand) का मालिश करते हुए जो वीडियो (Video) पीड़िता ने चश्मे द्वारा बनाया था, वह चश्मा संजय और पीड़िता ने ही कहीं गायब किया है.

  • Share this:
शाहजहांपुर. पूर्व गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद (Chinmayanand) के खिलाफ यौन शोषण (Sexual Harrasssment) के मामले और चिन्यामनंद से रंगदारी (Extortion) मांगे जाने के मामले की जांच कर रही स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) ने मंगलवार को शाहजहांपुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की. एसआईटी प्रमुख आईजी नवीन अरोड़ा ने स्वामी चिन्मयानंद मामले में जांच पूरी हो गई है. कल वह न्यायालय में चार्जशीट दाखिल कर देंगे. इस दौरान उन्होंने जांच के तमाम पहलू सामने रखे. उन्होंने बताया कि जांच में पाया गया कि छात्रा को जब हॉस्टल का कमरा दिया जाता है, तब वह अपना ताला स्वयं लगाती है. जबकि पीड़िता ने आरोप लगाया था कि उसकी अनुपस्थिति में कॉलेज प्रशासन ने ताला खोलकर महत्वपूर्ण साक्ष्य चश्मा आदि गायब कर दिए हैं. जांच में ऐसा नहीं पाया गया.

जिस चश्मे से पीड़िता ने बनाया वीडियो, वह नहीं मिला
आईजी नवीन अरोड़ा ने कहा कि चिन्मयानंद का मालिश करते हुए जो वीडियो पीड़िता ने चश्मे द्वारा बनाया था, वह चश्मा संजय और पीड़िता ने ही कहीं गायब किया है. एसआईटी के मुखिया ने कहा कि विधि विज्ञान प्रयोगशाला गांधीनगर को मालिश वाला वीडियो और रंगदारी मांगने का वायरल वीडियो के अलावा जो भी वीडियो वायरल हुए थे, वह और मोबाइल जांच में भेजे गए थे, उनकी मिरर फोटो निकलवाई गई, जो जांच में बिल्कुल सही पाए गए. इसके अलावा मोबाइल लोकेशन सीडीआर गेस्ट हाउस आदि की सीसीटीवी फुटेज भी जांच में सही पाई गई है.

नाले से चश्मा बरामद नहीं हो सका: एसआईटी

आईजी नवीन अरोड़ा ने बताया कि संजय ने पीड़िता के साथ दिल्ली जाने से पूर्व भी पीड़िता के कमरे का सारा सामान राहुल नामक व्यक्ति के घर पर एक बक्से में बंद करके रख दिया था. आईजी ने बताया कि जब एसआईटी द्वारा जांच शुरू हुई और लोगों की गिरफ्तारी हुई. तब संजय की मामी घबरा गईं और उन्होंने बक्से का सारा सामान पास में ही नाले में बहा दिया. इसकी जैसे ही जानकारी एसआईटी को मिली तो उन्होंने नाले की सफाई कराकर बक्से के सामान को अपने कब्जे में ले लिया लेकिन नाले से चश्मा बरामद नहीं हो सका.

Shahjahanpur SIT
शाहजहांपुर में एसआईटी जांच की जानकारी देते आईजी नवीन अरोड़ा.


6 नवंबर को दाखिल करेंगे चार्जशीट
Loading...

एसआईटी प्रमुख आईजी नवीन अरोड़ा ने कहा कि 2 माह चली एसआईटी की जांच में 105 लोगों के बयान लिए गए. 20 भौतिक साक्ष्य एकत्र किए गए. 55 अभिलेखों के साथ ही 4700 पेज की केस डायरी वह न्यायालय में दाखिल करने जा रहे हैं. इसके साथ ही 20-20 पेज की चार्जशीट भी न्यायालय में दाखिल करेंगे. इसके अलावा शासन को भी वह दो रिपोर्ट भेज रहे हैं, जिसमें स्वामी चिन्मयानंद प्रकरण और कालेज मैनेजमेंट संबंधी रिपोर्ट हैं.

रिपोर्ट: दीप श्रीवास्तव

ये भी पढ़ें:

चिन्मयानंद केस: SIT ने दो महीने में तैयार की 4700 पेज की केस डायरी

चिन्मयानंद केस: जांच पूरी, BJP नेता के लैपटॉप से मिले पीड़िता के अश्लील वीडियो

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शाहजहांपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 5:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...