लाइव टीवी

चिन्मयानंद केस: जेल में बंद पीड़िता को मिला बरेली के LLM में प्रवेश

भाषा
Updated: October 18, 2019, 6:53 PM IST
चिन्मयानंद केस: जेल में बंद पीड़िता को मिला बरेली के LLM में प्रवेश
चिन्मयानंद केस में पीड़िता ने लिया कॉलेज में एडमिशन

पीड़िता स्वामी सुखदेवानंद विधि महाविद्यालय में एलएलएम की छात्रा है. उसने एक वीडियो के जरिए स्वामी चिन्मयानंद पर गंभीर आरोप लगाए थे.

  • Share this:
शाहजहांपुर. पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री चिन्मयानंद (Chinmayanand) से रंगदारी मांगने के आरोप में जेल में बंद पीड़िता को अदालत के आदेश पर शुक्रवार को सुबह बरेली कॉलेज में एलएलएम (LLM) में दाखिले के लिए ले जाया गया. युवती ने ही चिन्मयानंद पर यौन शोषण (Rape) के आरोप लगाये हैं. बाद में मिली जानकारी के अनुसार, बरेली के विश्वविद्यालय परिसर में एलएलएम में पीड़िता के दाखिले की प्रक्रिया पूरी हो गई.

पुलिस सुरक्षा में लाई गई पीड़िता
महात्मा ज्योति फुले विश्वविद्यालय के विधि विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ अमित सिंह ने मीडिया को बताया कि शाहजहांपुर से पुलिस सुरक्षा में लाई गई पीड़िता के परीक्षा फार्म, लाइब्रेरी फार्म सहित दाखिले की प्रक्रिया सुबह करीब नौ बजे पूरी की गई और दाखिला शुल्क भी जमा कर लिया गया है.

स्वामी चिन्मयानंद पर लगाए गंभीर आरोप

पीड़िता स्वामी सुखदेवानंद विधि महाविद्यालय में एलएलएम की छात्रा है. उसने एक वीडियो के जरिए स्वामी चिन्मयानंद पर गंभीर आरोप लगाए थे. इसके बाद उच्चतम न्यायालय ने मामले पर संज्ञान लेते हुए महात्मा ज्योतिबा फूले विश्वविद्यालय में एलएलएम में पीड़िता के दाखिले का आदेश दिया था. परंतु दाखिले से पूर्व ही विशेष जांच दल (एसआईटी) ने पीड़िता को जेल भेज दिया था.

अदालत ने दिया था दाखिला कराने का आदेश
पीड़िता के पिता ने बताया कि उन्होंने कल बृहस्पतिवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम) ओमवीर सिंह की अदालत में एक प्रार्थना पत्र दिया था जिस पर अदालत ने 18 अक्टूबर को पीड़िता का बरेली कॉलेज में एलएलएम में दाखिला कराने का आदेश दिया था.
Loading...

पुलिस अधीक्षक डॉ एस चिनप्पा ने बताया कि सीजेएम के आदेश पर जेल प्रशासन ने पीड़िता को बरेली ले जाने के लिए सुरक्षा व्यवस्था की मांग की थी. इसके बाद पुलिस का एक दल पीड़िता को अपनी सुरक्षा में लेकर बरेली कॉलेज गया. जेलर राजेश कुमार राय ने बताया कि आज सुबह लगभग सात बजे पीड़िता को दाखिले के लिए बरेली कॉलेज भेजा गया.

पीड़िता पर दर्ज है रंगदारी मांगने का केस
बता दें है कि स्वामी सुखदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली एक छात्रा ने 24 अगस्त को एक वीडियो वायरल कर पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे. इसके बाद चिन्मयानंद के अधिवक्ता ओमवीर सिंह ने यहां शहर कोतवाली में पीड़िता के खिलाफ रंगदारी मांगने का एक मुकदमा दर्ज कराया था.

एसआईटी कर रही है मामले की जांच
वहीं दूसरी ओर पीड़िता के आरोपों और चिन्मयानंद का मालिश कराते हुए वीडियो वायरल होने के बाद विशेष जांच दल ने चिन्मयानंद को आरोपी बनाते हुए धारा 376 सी के तहत उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया. मामले में चिन्मयानंद समेत पांच आरोपी जेल में बंद है. मामले की जांच एसआईटी कर रही है. एसआईटी को अपनी जांच रिपोर्ट 22 अक्टूबर को इलाहाबाद उच्च न्यायालय की एक विशेष पीठ को सौंपनी है.

ये भी पढ़ें:

SC के फैसले से पहले अयोध्या की कार्यशाला में 65 फीसदी बन चुका है 'राम मंदिर'

लखनऊ: कमलेश तिवारी की हत्या करने वाले संदिग्धों की CCTV फुटेज जारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शाहजहांपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 18, 2019, 6:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...