चिन्मयानंद के शयन और साधना कक्ष तक पहुंची SIT, पीड़ित छात्रा के घर भी गई
Shahjahanpur News in Hindi

चिन्मयानंद के शयन और साधना कक्ष तक पहुंची SIT, पीड़ित छात्रा के घर भी गई
टीम ने इसी विधि महाविद्यालय के अध्यापकों से भी छात्रा के बारे में जानकारी लेने के साथ ही पीड़िता के साथी सहित उसके दोस्तों के बारे में भी जानकारी ली. (File Photo)

स्वामी शुकदेवानंद स्नातकोत्तर कॉलेज के प्राचार्य अवनीश मिश्रा ने बताया कि कॉलेज आई एसआईटी टीम (SIT Team) ने परिसर स्थित हॉस्टल देखा. उन्‍होंने बताया कि पीड़िता का कमरा सील है, जिसे नहीं खोला गया.

  • Share this:
शाहजहांपुर. पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayanand) के खिलाफ लॉ कॉलेज की छात्रा के आरोपों के मामले में जांच के लिए विशेष जांच दल (SIT) शाहजहांपुर (Shahjahanpur) पहुंच गया. यहां एसआईटी (SIT) टीम ने चिन्‍मयानंद के आश्रम, शयनकक्ष से लेकर परिसर में बने एसएस लॉ कॉलेज और छात्रावास में पहुंचकर कॉलेज स्टाफ, कर्मचारियों और छात्र-छात्राओं से घटना बारे में पूछताछ की.

पुलिस महानिरीक्षक नवीन अरोड़ा के नेतृत्व में एसआईटी का गठन उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर किया है. जांच टीम ने जिले के पुलिस अधीक्षक (एसपी) डॉ. एस चनप्पा, एएसपी सिटी दिनेश त्रिपाठी, एएसपी ग्रामीण अपर्णा गौतम आदि पुलिस अफसरों से मामले की जानकारी हासिल की. इस दौरान मामले में हुई जांच से जुड़े दस्तावेज भी इकट्ठा किए. यहां टीम के लोगों ने स्वामी के आश्रम का बारीकी से निरीक्षण किया. उस वक्त मौके पर एसएस कॉलेज के प्राचार्य अवनीश मिश्रा भी मौजूद थे.

टीम ने किया हॉस्टल का निरीक्षण
पुलिस ने जांच के संबंध में कोई जानकारी नहीं दी, हालांकि स्वामी शुकदेवानंद स्नातकोत्तर कॉलेज के प्राचार्य अवनीश मिश्रा ने बताया कि आज कॉलेज आई टीम ने परिसर स्थित हॉस्टल देखा, जिसमें पीड़िता का कमरा सील है. उसे नहीं खोला गया. एसआईटी टीम ने विधि महाविद्यालय के अध्यापकों और छात्राओं से महिला आईपीएस अधिकारी ने बात की और जानकारी जुटाई.
स्वामी के साधना और शयन कक्ष को भी देखा


उन्होंने बताया कि छात्रा के शोषण के मामले में शुक्रवार को आई एसआईटी आज दूसरे दिन यानी शनिवार को मुमुक्षु आश्रम पहुंची. इसके बाद टीम ने मुमुक्षु आश्रम द्वारा संचालित पांचों कॉलेजों का निरीक्षण किया. एसआईटी टीम ने स्वामी के साधना कक्ष और शयन कक्ष को भी देखा और आश्रम की देखभाल करने वाले कर्मचारियों से पूछताछ की.

जांच दल के सामने पेश नहीं हुए चिन्मयानंद
उन्होंने बताया कि लेकिन चिन्मयानंद के बाहर होने के कारण वह जांच दल के सम्मुख उपस्थित नहीं हुए. एसआईटी में पुलिस महानिरीक्षक नवीन अरोड़ा, आईपीएस भारती सिंह और पी एस आनंद के साथ टीम के अन्य सदस्यों ने एलएलबी कर रही छात्राओं से पीड़िता के दोस्तों के बारे में, उसके स्वभाव आदि के बारे में जानकारी प्राप्त की.

टीम ने इसी विधि महाविद्यालय के अध्यापकों से भी छात्रा के बारे में जानकारी लेने के साथ ही पीड़िता के साथी सहित उसके दोस्तों के बारे में भी जानकारी ली. कॉलेज परिसर में कई घंटे रुकने के बाद यह जांच टीम पीड़िता के आवास पहुंची लेकिन पीड़िता के घर पर ताला लगा होने के कारण वापस लौट गई.

ये भी पढ़ें- 

सीट बेल्ट ना लगाने पर मजिस्ट्रेट की गाड़ी का कटा चालान, लगा जुर्माना

थाने में घुसकर बदमाशों ने पुलिसवालों को जमकर पीटा, CCTV कैमरे में कैद हुई घटना

'राम-सिया के लव कुश' के विरोध में पंजाब बंद, नाकोदर में चली गोली
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज