लाइव टीवी

अदालत में पेश किए गए चिन्मयानंद: अगली सुनवाई 16 दिसम्बर को

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 1, 2019, 12:07 AM IST
अदालत में पेश किए गए चिन्मयानंद: अगली सुनवाई 16 दिसम्बर को
एक छात्रा से बलात्कार के आरोप में जेल में बंद में पूर्व केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद को शनिवार को कड़ी सुरक्षा के बीच अदालत में पेश किया गया. (फाइल फोटो)

एलएलएम की छात्रा का यौन शोषण (Sexual Exploitation) करने के आरोप में पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद (Chinmayananda) जेल में बंद हैं.

  • Share this:
शाहजहांपुर. अपने ट्रस्ट द्वारा संचालित कॉलेज की एक छात्रा से बलात्कार के आरोप में जेल में बंद में पूर्व केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद को शनिवार को कड़ी सुरक्षा के बीच अदालत में पेश किया गया. अभियोजन अधिकारी लाल साहब ने बताया कि शनिवार को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ओमवीर की अदालत में स्वामी चिन्मयानंद की पेशी हुई. सुनवाई के बाद न्यायालय ने अगली पेशी की तारीख 16 दिसम्बर तय की है.

न्यायालय ने विवेचक को पूरी केस डायरी उपलब्ध कराने का निर्देश दिया
चिन्मयानंद के अधिवक्ता ओम सिंह ने बताया कि कानून की पढ़ाई कर रही छात्रा से बलात्कार के आरोपों की जांच कर रहे एसआईटी के अधिकारी ने शनिवार को जो केस डायरी स्वामी चिन्मयानंद को उपलब्ध कराई है वह आधी-अधूरी है. इस पर न्यायालय ने विवेचक को पूरी केस डायरी उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है.

जल्द ही चिन्मयानंद के अधिवक्ता को पूरी केस डायरी उपलब्ध करवा देंगे विवेचक

अभियोजन अधिकारी लाल साहब ने बताया कि चिन्मयानंद के मामले में विवेचक द्वारा केस डायरी पूरी नहीं की जा सकी थी इसलिए जितनी केस डायरी पूरी हो गई थी उसे उपलब्ध करा दिया गया है. उन्होंने कहा कि विवेचक जल्द ही चिन्मयानंद या उनके अधिवक्ता को पूरी केस डायरी उपलब्ध करवा देंगे.

चिन्मयानंद से रंगदारी मांगने के आरोप में जेल में बंद है कथित पीड़िता
मालूम हो कि पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर उन्हीं के ट्रस्ट द्वारा संचालित कालेज में पढ़ने वाली एलएलएम की छात्रा ने यौन शोषण का आरोप लगाया है. चिन्मयानंद इस मामले में जेल में बंद हैं. दूसरी ओर कथित पीड़िता और उसके तीन अन्य साथी भी चिन्मयानंद से रंगदारी मांगने के आरोप में जेल में बंद हैं.
Loading...

चार्जशीट दाखिल कर चुकी है एसआईटी 
चिन्मयानंद से 5 करोड़ की रंगदारी मांगने के आरोप में कथित पीड़ित छात्रा जेल में बंद है. एसआईटी सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इस मामले की जांच कर रही है. एसआईटी ने इस संबंध में चार्जशीट दाखिल कर दी है.

ये भी पढे़ं -

उद्धव मंत्रिमंडल का विस्तार विंटर सेशन से ठीक पहले या उसके बाद: अजीत पवार

कांग्रेस नेता पर भड़की हिंदू महासभा, बोली-प्रज्ञा ठाकुर को हाथ तो लगाकर दिखाएं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 11:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...