लाइव टीवी

चिन्मयानंद मामला: पीड़िता को बरेली कॉलेज में LLM में दाखिले के लिए ले जाया गया

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 18, 2019, 1:20 PM IST
चिन्मयानंद मामला: पीड़िता को बरेली कॉलेज में LLM में दाखिले के लिए ले जाया गया
पीड़िता के पिता के प्रार्थना पत्र पर उसका एलएलएम में प्रवेश कराने का कोर्ट ने आदेश दिया था.

अदालत के आदेश पर स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayananda) से रंगदारी (Extortion) मांगने के आरोप में जेल में बंद पीड़िता को शुक्रवार सुबह बरेली कॉलेज (Bareilly College) में एलएलएम (LL.M.) में दाखिले के लिए ले जाया गया.

  • Share this:
शाहजहांपुर. पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayananda) से रंगदारी (Extortion) मांगने के आरोप में जेल में बंद पीड़िता को शुक्रवार सुबह अदालत के आदेश पर बरेली कॉलेज (Bareilly College) में एलएलएम (LL.M.) में दाखिले के लिए ले जाया गया.

पीड़िता स्वामी सुखदेवानंद विधि महाविद्यालय में एलएलएम की छात्रा है. उसने एक वीडियो के जरिए स्वामी चिन्मयानंद पर गंभीर आरोप लगाए थे. इसके बाद उच्चतम न्यायालय ने मामले पर संज्ञान लेते हुए महात्मा ज्योतिबा फूले विश्वविद्यालय में एलएलएम में पीड़िता के दाखिले का आदेश दिया था, परंतु दाखिले से पूर्व ही विशेष जांच दल (एसआईटी) ने पीड़िता को जेल भेज दिया था.

एलएलएम में दाखिला कराने का कोर्ट ने दिया था आदेश
पीड़िता के पिता ने बताया कि उन्होंने बृहस्पतिवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम) ओमवीर सिंह की अदालत में एक प्रार्थना पत्र दिया था जिस पर अदालत ने 18 अक्टूबर को पीड़िता का बरेली कॉलेज में एलएलएम में दाखिला कराने का आदेश दिया था. पुलिस अधीक्षक डॉ. एस. चिनप्पा ने शुकवार को बताया कि सीजेएम के आदेश पर जेल प्रशासन ने पीड़िता को बरेली ले जाने के लिए सुरक्षा व्यवस्था की मांग की थी. इसके बाद पुलिस का एक दल पीड़िता को अपनी सुरक्षा के साथ बरेली कॉलेज ले गया. जेलर राजेश कुमार राय ने बताया कि शुक्रवार सुबह लगभग सात बजे पीड़िता को दाखिले के लिए बरेली कॉलेज भेजा गया.

रंगदारी मांगने के आरोप में एसआईटी ने पुलिस को किया गिरफ्तार
गौरतलब है कि स्वामी सुखदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली एक छात्रा ने 24 अगस्त को एक वीडियो वायरल कर पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न करने के आरोप लगाए थे. इसके बाद चिन्मयानंद के अधिवक्ता ओमवीर सिंह ने यहां शहर कोतवाली में पीड़िता के खिलाफ रंगदारी मांगने का एक मुकदमा दर्ज कराया था. मामले में एसआईटी ने जांच की और पीड़िता तथा उसके तीन साथियों संजय, विक्रम और सचिन को रंगदारी मांगने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया.

इलाहाबाद उच्च न्यायालय को 22 अक्टूबर को जांच रिपोर्ट सौंपेगी एसआईटी
Loading...

वहीं दूसरी ओर पीड़िता के आरोपों और चिन्मयानंद का मालिश कराते हुए वीडियो वायरल होने के बाद विशेष जांच दल ने उनको आरोपी बनाते हुए धारा 376 सी के तहत उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया. मामले में चिन्मयानंद समेत पांच आरोपी जेल में बंद हैं. मामले की जांच एसआईटी कर रही है. एसआईटी को अपनी जांच रिपोर्ट 22 अक्टूबर को इलाहाबाद उच्च न्यायालय की एक विशेष पीठ को सौंपनी है.

ये भी पढे़ं -

करवा चौथ का व्रत खोलने का कर रही थी इंतजार, पति आया और कुल्हाड़ी से काट दिया

नाबालिग से रेप के आरोपी ने सुलह नहीं करने पर पीड़ित परिवार को दी जान से मारने की धमकी

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शाहजहांपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 18, 2019, 1:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...