मदरसों की जानकारी देने से मौलानाओं का इनकार, कहा- शिशु मंदिरों की भी हो जांच

मौलानाओं का आरोप है कि बिजनौर में हुई घटना एक साजिश के तहत की गई थी ताकि मदरसों को बदनाम किया जा सके. यही नहीं उनका तो यह भी आरोप है कि शिशु मंदिरों के स्कूलों की भी जांच होना चाहिए.

Deep Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 17, 2019, 6:40 PM IST
मदरसों की जानकारी देने से मौलानाओं का इनकार, कहा- शिशु मंदिरों की भी हो जांच
सरकार पर भड़के मौलाना (प्रतीकात्मक फोटो)
Deep Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 17, 2019, 6:40 PM IST
यूपी में हाल के दिनों में मदरसों में हुई घटनाओं के बाद राज्यमंत्री मोहसिन रजा के बयानों पर शाहजहांपुर मदरसों के मौलाना ने इसका विरोध किया है. मंत्री मोहसिन रजा के मदरसों में हो रही गतिविधियों की जानकारी के सवाल पर मौलानाओं ने मंत्री का को जवाब दिया है. उन्होंने कहा है कि हम किसी भी हाल में मदरसों में होने वाली गतिविधियों की जानकारी नहीं दे सकते.

मंत्री मोहसिन रजा के सरकारी फरमान को शाहजहांपुर के मौलानाओं ने मानने से साफ इनकार किया है. इस संबंध में मदरसा ईदरा के मौलाना असद काजमी,  मदरसा यनकुलूम उलूम के मौलाना अजिमुद्दीनन का आरोप है कि बिजनौर में हुई घटना एक साजिश के तहत की गई थी ताकि मदरसों को बदनाम किया जा सके. यही नहीं उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि शिशु मंदिरों के स्कूलों की भी जांच होनी चाहिए.

मौलानाओं ने आगे कहा कि मदरसों में मजहबी तालीम दी जाती है. हुकूमत की किसी भी पाबंदी को हम मानने के लिए तैयार नहीं है. वहीं मामले में सपा के प्रदेश उपाध्यक्ष सैय्यद रिजवान अली का कहना है कि मौजूदा हुकूमत का यह फाइव ईयर प्लान चल रहा है. जहां हिंदू-मुस्लिम को अलग करके दिखाया जा रहा हैं. हिन्दू-मुसलमान के बीच दरार इसलिए डाली जा रही है कि ऐसा करके वोट हासिल किया जा सके.

ये भी पढ़ें: 

अब मदरसों पर होगी योगी सरकार की पैनी नजर

ये है बाहुबली अतीक की आपराधिक कुंडली, दर्ज इतने मुकदमें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शाहजहांपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 17, 2019, 6:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...