शाहजहांपुर बिल्डिंग हादसा: जिला प्रशासन ने किया मृतकों के परिजनों को मुआवजे का ऐलान
Shahjahanpur News in Hindi

शाहजहांपुर बिल्डिंग हादसा: जिला प्रशासन ने किया मृतकों के परिजनों को मुआवजे का ऐलान
रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान एसडीआरएफ की टीम. Photo: Twitter

कर्मचारी प्रतिकर अधिनियम के अंतर्गत 6 से से 7 लाख तक की क्षतिपूर्ति दिए जाने की भी कार्यवाही की जा रही हैं. डीएम ने बताया कि इसके अलावा मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना के अंतर्गत 5 लाख रुपए तक की सहायत दी जाएगी.

  • Share this:
शाहजहांपुर में निर्माणाधीन स्कूल बिल्डिंग की छत गिरने के मामले में जिला प्रशासन ने मुआवजे का ऐलान कर दिया है. डीएम अमृत त्रिपाठी के अनुसार दुर्घटना में मृतकों के परिजनों को श्रम विभाग की योजनाओं के तहत सहायता दी जा रही हैं. इसके तहत अपंजीकृत श्रमिकों के लिए मृत्यु विकलांगता एवं दुर्घटना सहायता योजना के तहत 50 हजार रुपए की त्वरित सहायता राशि दी जा रही हैं.

वहीं कर्मचारी प्रतिकर अधिनियम के अंतर्गत 6 से से 7 लाख तक की क्षतिपूर्ति दिए जाने की भी कार्यवाही की जा रही हैं. डीएम ने बताया कि इसके अलावा मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना के अंतर्गत 5 लाख रुपए तक की और मुख्यमंत्री सहायता कोष के अंतर्गत भी मृतकों के परिजनों को शीघ्रताशीघ्र सहायता प्रदान करने की कार्यवाही की जा रही हैं.

इस बीच स्कूल बिल्डिंग हादसे के घायलों से स्थानीय नेता बीजेपी विधायक मानवेंद्र सिंह और सपा सरकार में मंत्री रहे राममूर्ति वर्मा ने मुलाकात की. सभी घायलों का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है. इससे पहले आक्रोशित पीड़ितों ने जिला अस्पताल के गेट पर जाम लगाकर एम्बुलेंस रोक ली. मृतकों के परिजन मुआवजे और नौकरी की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे.



बता दें शाहजहांपुर बिल्डिंग हादसे में 3 की मौत हुई है, जबकि 14 घायल हैं. पुलिस प्रशासन के साथ एसडीआरएफ, एनडीआरएफ और आईटीबीपी का रेस्क्यू ऑपरेशन सोमवार तड़के 4 बजे तक चला. रेस्क्यू ऑपरेशन में मलबे में दबा कोई मजदूर नहीं मिला. वहीं शाहजहांपुर बिल्डिंग हादसे में बिल्डिंग के मालिक जसमीत साहनी, आर्किटेक्ट और ठेकेदार के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज किया गया है. मामले में पुलिस ने ठेकेदार और मालिक के रिश्तेदार को हिरासत में लिया है. वहीं मालिक की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है.
ये भी पढ़ें: 

अंबेडकरनगर: बसपा नेता जुरगाम मेहंदी और ड्राइवर की दिनदहाड़े गोलियों से भूनकर हत्या

कांग्रेस के खिलाफ माया के रुख से सपा पर बढ़ा दबाव! महागठबंधन को लेकर चर्चाएं तेज

'मैं इलाहाबाद हूं, 444 साल बाद फिर से कहलाऊंगा प्रयागराज...'

शासक केवल ‘प्रयागराज’ नाम बदलकर अपना काम दिखाना चाहते हैं: अखिलेश यादव

कुंभ मेले से पहले इलाहाबाद का नाम बदलकर होगा 'प्रयागराज', राज्यपाल ने जताई सहमति
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज