ई-रिक्शा चालक ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, ज्लेवरी और कैश से भरा बैग किया वापस

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 26, 2019, 12:21 PM IST
ई-रिक्शा चालक ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, ज्लेवरी और कैश से भरा बैग किया वापस
ईमानदार ई-रिक्सा चालक

शाहजहांपुर में बीती रात सर्राफा व्यवसाई हीरा सिंह ई-रिक्शा पर बैठकर रेलवे स्टेशन गए थे. इसी गाड़ी से..

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में ई-रिक्शा चालक ने ईमानदारी की मिसाल कायम की है. चालक ने ई-रिक्शा पर सर्राफा व्यवसाई के करीब ढ़ाई लाख रुपए के जेवरात और कैश छूटने के बाद उसे व्यापारी को वापस कर दिया. अब चालक की ईमानदारी की चर्चा पूरे जिले में हो रही है. लोग उसकी प्रशंसा करते नहीं थक रहे हैं. इस मामले में व्यापार मंडल के अधिकारियों ने चालक की ईमानदारी को देखते हुए 5 हजार रुपए का इनाम दिया है.

शाहजहांपुर में बीती रात सर्राफा व्यवसाई हीरा सिंह ई-रिक्शा में बैठकर रेलवे स्टेशन गए थे
जानकारी के मुताबिक, शाहजहांपुर में बीती रात सर्राफा व्यवसाई हीरा सिंह ई-रिक्शा पर बैठकर रेलवे स्टेशन गए थे. उतरते समय लाखों रुपए के जेवरात और कैश से भरा बैग ई-रिक्शा पर ही छूट गया. इस दौरान ई-रिक्शा चालक वहां से रवाना हो गया और घर आकर उसने बैग को सही तरीके से रख दिया. इसके बाद उसने अपनी रिक्शा यूनियन से संपर्क किया और अपने बैग को थाने में जमा कराया, बैग मिलने की खुशी में व्यापारियों में दौड़ गई. इस दौरान व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने ई-रिक्शा चालक की ईमानदारी पर उसे 5 हजार रुपए का ईनाम नाम दिया.

ज्वैलरी
ज्वेलरी


इससे पहले राजस्थान में एक युवक ने इसी तरह की ईमानदारी दिखाई थी
बता दें कि इससे पहले राजस्थान में एक युवक ने इसी तरह की ईमानदारी दिखाई थी. चूरू जिले के सरदारशहर में चाय की दुकान पर काम करने वाले एक युवक गणेश को सड़क पर 7 लाख 14 हजार रुपए पड़े मिल थे. ये पैसे किसी व्यक्ति के ऑटो से जाते वक्त गिर गए थे. इस दौरान पैसे देखकर उसके होश उड़ गए. हालांकि, युवक ने ईमानदारी का परिचय देते हुए वो पैसे वापस कर दिए थे.

ये भी पढ़ें- 
Loading...

मिश्रा को सलामी के वक्‍त इसलिए फुस्‍स हो गई थीं बंदूकें?

बाढ़ पहुंचते ही लगे छोटे सरकार और अनंत सिंह जिंदाबाद के नारे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शाहजहांपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 26, 2019, 12:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...