रूबेला टीकाकरण से 43 बच्चों की तबियत बिगड़ी, प्रशासन में मचा हड़कंप

शाहजहांपुर में रूबेला वायरस लगातार चरम पर है. जिसके चलते जहां लोग घर-घर में टीकाकरण कर रहे हैं. वहीं दूसरी ओर स्कूलों में कैंप लगाकर टीकाकरण कराया जा रहा है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 8, 2018, 11:22 AM IST
रूबेला टीकाकरण से 43 बच्चों की तबियत बिगड़ी, प्रशासन में मचा हड़कंप
छात्राओं की तबियत बिगड़ी
News18 Uttar Pradesh
Updated: December 8, 2018, 11:22 AM IST
शाहजहांपुर में रूबेला टीकाकरण से लगातार बच्चे बीमार होने से टीकाकरण पर सवाल खड़े हो गए हैं. जिसके चलते प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है. पिछले 2 दिनों में करीब 43 बच्चे बीमार हुए हैं. जिनको जिला अस्पताल भर्ती कराया गया, जहां से उन्हें उपचार के बाद घर भेज दिया गया. लेकिन लगातार बच्चों के बीमार होने से प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने इन घटनाओं से सबक लेते हुए देर रात मीटिंग की है.

मीटिंग में सभी स्कूलों में बच्चों को अकेले कमरे में टीकाकरण कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं. वहीं दूसरी ओर बच्चों की बीमारी की वजह डर और एंग्जायटी बताई जा रही है. बता दें कि शाहजहांपुर में रूबेला वायरस लगातार चरम पर है. जिसके चलते जहां लोग घर-घर में टीकाकरण कर रहे हैं. वहीं दूसरी ओर स्कूलों में कैंप लगाकर टीकाकरण कराया जा रहा है.

लेकिन पिछले दिनों 2 स्कूलों में टीकाकरण से करीब 43 बच्चे बीमार हो गए. जिसके चलते स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया. आनन-फानन में 43 बच्चों को जिला अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां उपचार के बाद उन्हें घर भेज दिया गया. लेकिन यह बच्चे क्यों बीमार हुए इस पर सवाल खड़े हो रहे हैं. बताया जा रहा है कि एंग्जायटी और डर की वजह से यह बच्चे बीमार हुए थे. जिसके चलते प्रशासन ने देर रात मीटिंग कर इस टीकाकरण की समीक्षा की है.

ये भी पढ़ें- रेल हादसा: मथुरा से कानपुर जा रही मालगाड़ी के 2 डिब्बे पटरी से उतरे, गार्ड घायल

जानकारी के मुताबिक सरस्वती शिशु मंदिर में 2 दिन पहले करीब 30 बच्चे बीमार हुए थे. जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती किया गया था. उसी तरीके से कल सुदामा प्रसाद की 13 छात्राएं बीमार हुई थीं. जिनको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बीमार बच्चों के आकलन में जो तथ्य सामने आए हैं.

ये भी पढ़ें- लखनऊ: बेखौफ बदमाशों ने होटल रिसेप्शनिस्ट को मारी गोली, मौत

बताया जा रहा है कि इन बच्चों में इंजेक्शन लगता है. उनमें डर पैदा हुआ इसके साथ ही उन्हें एंग्जायटी हुई. जिसके चलते यह बच्चे डरने लगे और उन्होंने जी मतलाना और उल्टी करना शुरू कर दिया. बता दें कि शाहजहांपुर में करीब दो लाख से ऊपर टीकाकरण किया जा चुका है. जो अभी लगातार जारी रहेगा.
Loading...

(रिपोर्ट- दीप श्रीवास्तव)

ये भी पढ़ें-

बुलंदशहर हिंसा: शहीद इंस्पेक्टर के परिवार को एक दिन की सैलरी देंगे पुलिसकर्मी

आज की सुर्खियां: बुलंदशहर हिंसा मामले में DGP ने सीएम को सौंपी रिपोर्ट, जीतू फौजी कश्मीर से गिरफ्तार
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर