चिन्मयानंद मामलाः SC का आदेश, माता-पिता से मिलने से पहले किसी से नहीं मिल सकती है पीड़िता

News18Hindi
Updated: August 30, 2019, 10:09 PM IST
चिन्मयानंद मामलाः SC का आदेश, माता-पिता से मिलने से पहले किसी से नहीं मिल सकती है पीड़िता
स्वामी चिन्मयानंद पर फिर लगे हैं सनसनीखेज आरोप

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के जजों ने पीड़िता से चैंबर में मुलाकात की. इस दौरान उसने कहा कि वह डर की वजह से भाग गई थी. वह अपने माता-पिता से मिले बिना घर नहीं जाना चाहती.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 30, 2019, 10:09 PM IST
  • Share this:
पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayanand) पर दर्ज अपहरण के मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने कहा कि रजिस्ट्रार ज्यूडिशियल (Registrar Judicial) पीड़ित लड़की को उसके माता-पिता से मिलाए. उनसे मिले बिना वह किसी से मुलाकात नहीं कर सकती. वह जहां रह रही है, वहां बात करने के लिए लैंडलाइन उपलब्ध कराया जाए. माता-पिता से मिलने के बाद महिला वकील कानूनी मदद के लिए उससे बात कर सकती हैं.

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के जजों ने पीड़िता से चैंबर में मुलाकात की. इस दौरान उसने कहा कि वह डर की वजह से भाग गई थी. वह अपने माता-पिता से मिले बिना घर नहीं जाना चाहती. इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता के आरोपों पर कुछ नहीं कहा.

लड़की की सुरक्षा का इंतजाम करे दिल्ली पुलिस: सुप्रीम कोर्ट
शीर्ष अदालत ने दिल्ली पुलिस को आदेश दिया कि यूपी जाकर पीड़िता के माता-पिता को दिल्ली लाया जाए. इस बीच पीड़िता दिल्ली के वाईडब्ल्यूसीए या भगवान दास रोड स्थित ऑल इंडिया वूमेन कॉन्फ्रेंस के हॉस्टल में रहेगी. दिल्ली पुलिस पीड़िता और उसके परिजनों की सुरक्षा मुहैया कराए. मामले की अगली सुनवाई सोमवार को होगी.


Loading...

क्या है मामला
शाहजहांपुर के स्वामी शुकदेवानंद लॉ कॉलेज में पढ़ने वाली लापता लड़की के माता-पिता ने हाल ही में पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर अपहरण का मामला दर्ज कराया था. यह कॉलेज स्वामी चिन्मयानंद का है.

SC ने पीड़िता को पेश करने का दिया था आदेश 
सुप्रीम कोर्ट ने मामले पर सुनवाई करते हुए यूपी सरकार को लड़की को पेश करने का निर्देश दिया था. स्वामी शुकदेवानंद लॉ कॉलेज की छात्रा पिछले सप्ताह लापता हो गई थी. उसे 7 दिन बाद शुक्रवार (30 अगस्त) को यूपी पुलिस ने राजस्थान से बरामद किया. वह अपने दोस्त के साथ थी.

लड़की की बरामदगी के लिए 8 टीमें लगाई गई थीं: डीआईजी
वहीं दूसरी ओर पुलिस उप महानिरीक्षक (बरेली रेंज) राजेश पाण्डेय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि वीडियो वायरल करने वाली तथा रहस्यमय ढंग से गायब हुई छात्रा के पिता की तरफ से मुकदमा दर्ज किया गया और लड़की की बरामदगी के लिए आठ टीमें लगाई गई थीं. पुलिस ने काफी मेहनत के बाद लड़की को राजस्थान से बरामद कर लिया है.

उन्होंने कहा कि अदालत में छात्रा जो भी बयान देगी, उसी के अनुसार कार्रवाई की जाएगी. पाण्डेय ने बताया कि चिन्मयानंद के अधिवक्ता द्वारा लिखाये गए रंगदारी के मामले और लड़की के पिता द्वारा लिखाए गए मुकदमे में कुछ संबंध है. अधिकारी ने बताया कि इस मामले के जांच अधिकारी चिन्मयानंद के मुमुक्षु आश्रम गए थे लेकिन वह वहां नहीं मिले. उनसे पूछताछ के लिए पुलिस अधीक्षक ने एक टीम रवाना की है. उन्होंने बताया कि लड़की राजस्थान के एक होटल में मिली है और वहां पर वीडियोग्राफी आदि कर पूरे साक्ष्य के साथ उसको बरामद किया गया है.

ये भी पढ़ें-

स्वामी चिन्मयानंद पर पहले भी लग चुका है रेप का आरोप

सभाजीत सिंह बने आम आदमी पार्टी के पहले यूपी अध्यक्ष

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शाहजहांपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 8:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...