शाहजहांपुर: मुस्लिम कलाकार निभाते हैं रामलीला के किरदार

रामलीला में मंचन करने मोहम्मद अरशद ने बताया कि पिछले 18 सालों से वह फैक्ट्री की रामलीला में रामायण के कई पात्रों का रोल निभा रहे हैं.

Deep Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: October 19, 2018, 12:50 PM IST
शाहजहांपुर: मुस्लिम कलाकार निभाते हैं रामलीला के किरदार
मंचन करते मुस्लिम कलाकार
Deep Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: October 19, 2018, 12:50 PM IST
यूपी के शाहजहांपुर में ऑर्डिनेंस क्लोथिंग फैक्ट्री की रामलीला साम्प्रदायिक सौहार्द की अटूट मिशाल पेश कर रही है. यहां मुस्लिम कलाकार भगवान परशुराम का रोल निभाता है, तो ईसाई कलाकार दशरथ पात्र निभाकर उनके आदर्शों को लोगों के सामने पेश करता है. भगवान परशुराम के वेश भूषा में कलाकार मोहम्मद अरशद आजाद के हर संवाद पर लोग खूब तालियां बजाते हैं.

रामलीला में मंचन करने मोहम्मद अरशद ने बताया कि पिछले 18 सालों से वह फैक्ट्री की रामलीला में रामायण के कई पात्रों का रोल निभा रहे हैं. उन्होंने बताया कि वह सबसे पहले नमाज पढ़कर खुदा को याद करते है और उसके बाद भगवान शिव की चरण वन्दना भी करते हैं. अरशद की मानें तो, उन्होंने रामलीला में मंचन के जरिए मर्यादा पुरूषोत्तम राम के चरित्र बेहद करीब से जाना हैं. अरशद को रामायण की कई चौपाईयां मुंहजबानी रटी हुई हैं.

कलाकार मोहम्मद अरशद


अरशद का मानना है कि हिन्दू और मुसलमान एक मां के दो बेटे है, जिन्हे हमेशा मिल जुलकर रहना चाहिए. दशरथ का पात्र निभाने वाले पैट्रिक दास का कहना है कि सभी धर्मों के लोगो को भगवान राम के चरित्र को जीवन में उतारना चाहिए. इस रामलीला के मंचन को देखने के लिए पड़ोसी जिलों से लोग भी शाहजहांपुर आते हैं. इस रामलीला की खास बात ये है कि यहां कोई कलाकार मंचन के एवज में पैसा नहीं लेता है.

ये भी पढ़ें:

यूपी के इस गांव में होती है रावण की पूजा, नहीं मनाया जाता दशहरा

लखनऊ लाया जाएगा एनडी तिवारी का पार्थिव शरीर, दिग्गज नेता को देंगे श्रद्धांजलि
विजयादशमी के दिन क्यों खास है गोरक्षपीठाधीश्वर के रूप में CM योगी की शोभा यात्रा
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...