Assembly Banner 2021

डिलीवरी के समय मोबाइल में बिजी थी डॉक्टर, गर्भ से निकल डस्टबिन में गिरा बच्चा

इससे पहले भी इसी अस्पताल में प्रसव के दौरान एक नवजात शिशु का सिर धड़ से अलग हो गया था. जिसके बाद महिला की भी मौत हो गई थी.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में जिला महिला अस्पताल में महिला के प्रसव के दौरान डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही सामने आई. हॉस्पिटल में टेबल पर महिला का चेकअप करने के बाद डॉक्टर मोबाइल में व्यस्त हो गई. इसी दौरान महिला का प्रसव होने पर नवजात बच्चा गर्भ से निकलकर डस्टबिन में जा गिरा. जिससे नवजात बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया. बच्चे की हालत बिगड़ने पर सीएमएस ने उसे एसएनसीयू में भर्ती कराया. जिसके बाद उसे एक निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. नवजात की हालत नाजुक बनी हुई है. फिलहाल अस्पताल में हुई इस घटना के बाद अस्पताल प्रशासन ने जांच के आदेश दिए हैं.

मिली जानकारी के मुताबिक, कोतवाली थाना क्षेत्र के रोशनगंज की रहने वाली सीमा शुक्ला को परिजनों ने जिला महिला अस्पताल में भर्ती कराया था. हालत बिगड़ने पर परिजन ने सीएमएस से विशेष देखभाल की गुहार लगाई. फिर भी चिकित्सकों ने ध्यान नहीं दिया.

करीब सात घंटे बाद शाम सवा सात बजे डॉक्टर तनवी प्रसव के लिए गईं. एक हाथ में मेडिकल ग्लव्स पहनकर चेकअप किया. प्रसव पीड़ा बढ़ने पर डिलीवरी के लिए दूसरे हाथ में दस्ताना पहनने लगीं, इसी बीच डॉक्टर मोबाइल में व्यस्त हो गईं. तभी सीमा को तेज दर्द उठा और बच्चा गर्भ से बाहर आ गया. जब तक डॉक्टर कुछ समझ पाती तब तक बच्चा बेड से लुढ़ककर नीचे रखे डस्टबिन में जा गिरा.



महिला के परिजन अनुपमा मिश्रा ने बताया कि डस्टबिन में गिरने से नवजात बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया. बच्चे की हालात को गंभीर देखते हुए उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जहां उसकी हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है.

बतादें, इससे पहले भी इसी अस्पताल में प्रसव के दौरान एक नवजात शिशु का सिर धड़ से अलग हो गया था. जिसके बाद महिला की भी मौत हो गई थी.

स्वास्थ्य विभाग के आलाधिकारी इसे बेहद गंभीर मामला बता रहे है. महिला अस्पताल की सीएमएस डॉ रंजीत दीक्षित का कहना है कि इस मामले की जांच के लिए टीम बना दी गई और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज