एमएसपी बढ़ाने के बाद पहली बार शाहजहांपुर में किसानों के बीच होंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों में लगी भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. इसी क्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ताबड़तोड़ रैलियां हो रही हैं. संतकबीर नगर से शुरू हुआ रैलियों का सिलसिला आजमगढ़, वाराणसी, मिर्जापुर होते हुए अब शाहजहांपुर पहुंच रहा है.

Ajayendra Rajan | News18Hindi
Updated: July 16, 2018, 6:20 PM IST
एमएसपी बढ़ाने के बाद पहली बार शाहजहांपुर में किसानों के बीच होंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
पीएम नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)
Ajayendra Rajan
Ajayendra Rajan | News18Hindi
Updated: July 16, 2018, 6:20 PM IST
2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों में लगी भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. इसी क्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ताबड़तोड़ रैलियां हो रही हैं. संतकबीर नगर से शुरू हुआ रैलियों का सिलसिला आजमगढ़, वाराणसी, मिर्जापुर होते हुए अब शाहजहांपुर पहुंच रहा है. 21 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां किसान कल्याण रैली करेंगे. इस रैली के बहाने बीजेपी उत्तर प्रदेश के किसानों का सबसे बड़ा जमावड़ा करने की तैयारी में है. एमएसपी में बढ़ोत्तरी के निर्णय के बाद पीएम मोदी की इस किसान कल्याण रैली के कई राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं. दावा किया जा रहा है  कि इस रैली में 50 हजार किसान जुटेंगे.

दलित और राजभर वोटबैंक की चुनौती पर एक साथ निशाना साध रही BJP

पीएम की रैली के लिए खुद प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय और सीएम योगी ने मोर्चा संभाल रखा है. इसी क्रम में रैली की तैयारी की समीक्षा के लिए मंगलवार को दोनों शाहजहांपुर जाएंगे. इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री रैली की सफलता के लिए जरूरी दिशा-निर्देश देंगे.

इस रैली को लेकर प्रदेश अध्यक्ष डा.महेन्द्र नाथ पांडेय कहते हैं कि नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के साथ ही किसानों की खुशहाली को लेकर आधारभूत नीतियां धरातल पर पहुंची हैं. बीजेपी का शुरू से ही मानना है कि गांव, गरीब, किसान की समृद्धि से ही राष्ट्र की समृद्धि सम्भव है. मोदी से इसी मूलमंत्र के साथ आगे बढ़े और किसानों की आय दोगुनी करने का संकल्प लिया.

यूपी के किसानों के लिए बड़ी सौगात है एशिया की सबसे बड़ी बाणसागर नहर परियोजना

उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदाओं से जूझते किसानों को राहत दिलाने के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना हो, मृदा परीक्षण के द्वारा फसलों के चयन में किसानों की सहायता हो, सिंचाई के संसाधनों को खेतों तक पहुंचाना हो और किसान कल्याण के लिए ऐतिहासिक कदम उठाते हुए फसलों के समर्थन मूल्य (एमएसपी) में डेढ़ गुने की वृद्धि करना हो मोदी जी ने अन्नदाता की समृद्धि के लिए ऐतिहासिक कार्य किया है. किसान कल्याण रैली को लेकर क्षेत्र में व्यापक उत्साह है और अपने प्रधानमंत्री के आगमन की तैयारियों को लेकर क्षेत्र के लोग अपने-अपने स्तर पर जुटे हुए हैं. उन्होंने कहा कि खरीफ फसल की एमएसपी में ऐतिहासिक बढ़ोत्तरी के बाद पहली बार प्रधानमंत्री किसानों के बीच में होंगे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर