पुलिस कार्रवाई न किए जाने से आहत गैंगरेप पीड़िता ने किया बेटे संग आत्मदाह

मरने से पहले दिए गए बयान में महिला ने बताया कि छह महीने पहले विनय कुशवाहा और उसके दो साथी मुकेश यादव और प्रमोद यादव ने उसका गैंगरेप किया था.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 31, 2018, 8:10 AM IST
पुलिस कार्रवाई न किए जाने से आहत गैंगरेप पीड़िता ने किया बेटे संग आत्मदाह
सांकेतिक तस्वीर
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 31, 2018, 8:10 AM IST
शाहजहांपुर जिले के थाना परौर क्षेत्र के एक गांव में गैंगरेप पीड़ित ने पुलिस की कार्यशैली से आहत होकर बुधवार को मासूम बेटे और खुद पर केरोसिन छिड़ककर आग लगा ली. गैंगरेप पीड़िता ने गुरुवार शाम जिला अस्पताल में दम तोड़ दिया, जबकि बेटे की हालत गंभीर है.

बता दें महिला के साथ पिछले छह महीने से रेप हो रहा था. पुलिस से शिकायत के बाद भी आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई. जिसके बाद महिला ने खुद को आग लगा ली.

मरने से पहले दिए गए बयान में महिला ने बताया कि छह महीने पहले विनय कुशवाहा और उसके दो साथी मुकेश यादव और प्रमोद यादव ने उसका गैंगरेप किया था. इसके बाद पिछले छह महीने से लगातार उसके साथ गैंगरेप किया जा रहा था. मुंह खोलने पर बेटे को मारने की धमकी मिल रही थी.

फिलहाल, एसपी डॉ. एस चन्नप्पा ने महिला की मौत के बाद थानाध्यक्ष को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. लेकिन सवाल यह है कि अगर यह कार्रवाई पहले की गई होती तो महिला की जान बच सकती है.

गौरतलब है कि टीबी पीड़ित महिला से इलाज के दौरान झोलाछाप डॉक्टर विनय कुशवाहा ने रेप किया था. आरोप है कि घटना के बाद उसके दो अन्य साथियों ने भी रेप किया. इसकी शिकायत पीड़िता के पति ने पुलिस से इसकी शिकायत की, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की.

पति के मुताबिक 18 अगस्त को रात नौ बजे पत्नी ने विनय को इंजेक्शन लगाने के लिए घर बुलवाया था. आरोप है कि झोलाछाप ने इस दौरान उसके साथ रेप किया. महिला ने मोबाइल पर दिल्ली में काम कर रहे पति को जानकारी दी. अगले दिन पति दिल्ली से लौटा तो उसने मामले की तहरीर पुलिस को दी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की.

इसके बाद आरोपी डॉक्टर लगातार छह महीने तक उसके साथ रेप करता रहा और शिकायत करने पर उसे और उसके बच्चे को जान से मारने की धमकी देता रहा. पुलिस के कार्रवाई न करने से आहत होकर पीड़िता ने बुधवार शाम को कमरे में केरोसिन छिड़ककर आग लगा ली. इसमें उसका चार वर्ष का बेटा झुलस गया. उसे यहां जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया.
Loading...
एसपी ने कहा कि रेप पीड़ित के आत्मदाह के मामले में तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है. आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. पुलिस पर लापरवाही के आरोपों की जांच की जा रही है. इसमें जो दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी. फिलहाल महिला की मौत के बाद भी किसी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर