Assembly Banner 2021

शाहजहांपुर: 26 साल बाद रेप पीड़िता ने दर्ज कराया बयान, पिता की पहचान के लिए बेटे का होगा DNA टेस्ट

26 साल पुराने रेप मामले में पीड़िता ने दर्जा कराया बयान (सांकेतिक तस्वीर.)

26 साल पुराने रेप मामले में पीड़िता ने दर्जा कराया बयान (सांकेतिक तस्वीर.)

Shahjahanpur 26 Year old Rape Case: यह मामला तब सामने आया जब दुष्कर्म पीड़िता के बेटे ने मां से अपने असली पिता के बारे में पूछा. इसके बाद महिला ने केस दर्ज करवाकर आरोपियों के DNA टेस्ट की मांग की है.

  • Share this:
शाहजहांपुर. उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर (Shahjahanpur) जिले में 26 वर्ष पुराने मामले में रविवार को रेप पीड़िता (Rape Victim) ने कोर्ट के आदेश पर पुलिस के समक्ष प्रस्तुत होकर अपना बयान दर्ज कराया. वहीं, पुलिस अधीक्षक ने उसके बेटे के पिता की जानकारी के लिए डीएनए टेस्ट के निर्देश भी दिए हैं. बता दें कि यह मामला तब सामने आया जब दुष्कर्म पीड़िता के बेटे ने अपने असली पिता के बारे में पूछा. इसके बाद महिला ने केस दर्ज करवाकर आरोपियों के डीएनए टेस्ट की मांग की है, ताकि बेटे को उसके असली पिता का पता चल सके. दरअसल, 13 वर्ष की उम्र में कथित रूप से दुष्कर्म का शिकार हुई एक किशोरी मां बन गई थी. 26 वर्षों बाद जब उनके बेटे ने पिता का नाम पूछा तो मां ने दुष्कर्म के आरोपियों के विरुद्ध कोर्ट के आदेश पर पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई.

बता दें कि यह मामला थाना सदर बाजार इलाके का है, जहां शहर में ही रहने वाली रेप पीड़िता 26 वर्षों पूर्व अपने बहनोई के यहां रहती थी. किशोरी के बहनोई सरकारी कर्मचारी थे. उनकी बहन भी एक स्कूल में पढ़ाती थीं. दोनों लोगों के ड्यूटी पर जाने के बाद घर खाली हो जाता था. आरोप है कि मोहल्ले का ही रहने वाला नकी हसन उसके घर में घुस आया और उसे डरा-धमका कर उसके साथ दुष्कर्म करता रहा. बाद में आरोपी का छोटा भाई गुड्डू भी उसके घर आया और उसने भी किशोरी से रेप किया. जब भी मौका मिलता दोनों आते और किशोरी से बारी-बारी से दुष्कर्म करते थे. इसके बाद 13 वर्ष की आयु में ही वह गर्भवती हो गई तो डाक्टरो ने गर्भ गिराने से मना कर दिया.

1994 में बेटे को दिया था जन्म 
साल 1994 में महिला ने एक बेटे को जन्म दिया था, जिसके बाद उनका बेटा उनके बहनोई ने शाहाबाद क्षेत्र के उधरनपुर गांव जहां की किशोरी रहने वाली है वहीं के एक व्यक्ति को दे दिया. इस बीच पीड़िता के बहनोई का स्थानांतरण रामपुर जिले में हो गया और किशोरी भी उनके साथ वहां चली गई. बहनोई ने किशोरी की शादी गाजीपुर जिले में रहने वाले व्यक्ति के साथ कर दी. लेकिन, 10 वर्षों बाद उसके पति को दुष्कर्म की घटना का पता चला तो उन्होंने महिला को तलाक दे दिया. वह फिर अपने गांव उधमपुर में आकर रहने लगी थीं. इसी बीच उनके बेटे ने अपने अभिभावकों से अपनी मां और पिता के बारे में पूछा तो उन्होंने उनकी मां का नाम बता दिया. मां के बारे में जानकारी होने पर जब वह मिला तो मां ने अपने बेटे को पूरी घटना की जानकारी दे दी. इसके बाद मां ने कोर्ट के आदेश पर थाना सदर बाजार में नकी हसन और गुड्डू के विरुद्ध सामूहिक दुष्कर्म की धारा में मामला दर्ज कराया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज