शाहजहांपुर : पुलिस की पिटाई से मौत मामले में एक्शन, आरोपी सिपाही गौरव और हैदर निलंबित

घटना थाना चौक कोतवाली के मौजमपुर गांव की है. यहां ई रिक्शा चालक बालेश्वर जब अपना रिक्शा लेकर जा रहा था तो दो पुलिसकर्मी गौरव और हैदर ने उसके रिक्शे की चाबी निकाल ली.

Deep Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 2, 2019, 3:50 PM IST
शाहजहांपुर : पुलिस की पिटाई से मौत मामले में एक्शन, आरोपी सिपाही गौरव और हैदर निलंबित
घटना के बाद गुस्साए लोगों ने किया था जमकर प्रदर्शन
Deep Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 2, 2019, 3:50 PM IST
उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में पुलिसकर्मियों की पिटाई से ई रिक्शा चालक की मौत मामले में पुलिस कप्तान ने एक्शन लिया है. शाहजहांपुर एसपी ने मामले में आरोपी सिपाही गौरव और हैदर को निलंबित कर दिया है. बता दें चौक काेतवाली थाना क्षेत्र में मौजमपुर गांव में ये घटना हुई.

घटना के बाद गुस्साए परिजनों और ग्रामीणों ने नेशनल हाईवे 24 पर जाम लगा दिया. जाम लगने से पुलिस महकमे में हड़कंप मच किया. इस दौरान गुस्साई भीड़ ने रोडबेज बस मे तोड़फोड़ कर दी, वहीं मामला न सुलझने पर ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव कर दिया.

यूपी में गठबंधन को विस्तार देने की तैयारी में बीजेपी, गुपचुप ढंग से चल रहा काम

परिजनों का आरोप है कि ई-रिक्शा चालक से पैसे को ना मिलने पर दो पुलिसकर्मियों ने पिटाई कर दी, जिससे उसकी मौत हो गई. प्रशासन के अफसरों द्वारा करीब 5 घंटे बाद परिजनों की मांगो को पूरा करने के आश्वासन के बाद जाम खोला जा सका. इस दौरान हाईवे पर वाहनों की लम्बी कतारें लग गई.

आपको बता दें घटना थाना चौक कोतवाली के मौजमपुर गांव की है. यहां ई रिक्शा चालक बालेश्वर जब अपना रिक्शा लेकर जा रहा था तो दो पुलिसकर्मी गौरव और हैदर ने उसके रिक्शे की चाबी निकाल ली. परिजनों का आरोप है कि दोनों पुलिसकर्मी पैसों की मांग कर रहे थे. पैसा ना देने पर इन दोनों पुलिसकर्मी ने उसकी पिटाई कर दी, जिससे वह घायल हो गया.

राम मंदिर पर पीएम मोदी का बयान: राम जन्म भूमि न्यास के कमल दास ने किया ये खुलासा

घायल होने पर उसको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई. मौत के बाद परिजनों के साथ ही ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया. आक्रोशित ग्रामीणों ने नेशनल हाईवे 24 शव रखकर जाम लगा दिया.
Loading...

इस दौरान एक रोडवेज बस आने पर उस बस में ग्रामीणों ने तोड़फोड़ कर दी. वहीं पुलिस पर पथराव कर दिया. मौके पर पहुंचे प्रशासन के अफसरों द्वारा करीब 5 घंटे बाद परिजनों की मांगों को पूरा करने आश्वासन के बाद जाम खोला जा सका. इस दौरान हाईवे पर वाहनों की लम्बी कतारें लग गईं.

ये भी पढ़ें: 
First published: January 2, 2019, 3:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...