रेप पीड़िता सुसाइड केसः एसपी ने थानाध्यक्ष समेत दो दरोगाओं को किया निलंबित

रेप पीड़िता के बेटे के साथ आत्मदाह के मामले में एसपी ने थानाध्यक्ष समेत दो दरोगाओं को निलंबित किया है. पुलिस ने आरोपी कथित डॉक्टर को गिरफ्तार कर लापरवाही के कारण 3 पुलिसकर्मियों पर केस दर्ज कर लिया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 31, 2018, 5:17 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 31, 2018, 5:17 PM IST
शाहजहांपुर में न्यूज18 की खबर का बड़ा असर हुआ है. रेप पीड़िता के अपने बेटे के साथ आत्मदाह के मामले में एसपी ने बड़ी कार्रवाई की है. एसपी ने थानाध्यक्ष समेत दो दरोगाओं को निलंबित किया है. वही पुलिस ने आरोपी कथित डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं लापरवाही के कारण तीनों पुलिसकर्मियों पर केस दर्ज किया गया है.

मामला थाना परौर इलाके का है. परौर इलाके में रहने वाली 28 वर्षीय महिला से इलाज के बहाने अमृतापुर के रहने वाले झोलाछाप डॉक्टर विनय कुमार ने 18 अगस्त को बलात्कार किया था. इसके बाद महिला ने दिल्ली में काम कर रहे अपने पति को बुलाया और थाने में रिपोर्ट लिखाने गई. पुलिस ने मुकदमा दर्ज न करके गांव के लोगों के साथ पीड़ित पक्ष का सुलह-समझौता करा दिया.

आरोप है कि पुलिस के कार्रवाई नहीं करने से व्यथित होकर महिला ने 29 अगस्त को अपने ऊपर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा ली. इससे उसका तीन वर्षीय बेटा भी झुलस गया. गुरुवार शाम इलाज के दौरान जिला अस्पताल में महिला की मौत हो गई. इस मामले में कार्रवाई करते हुए एसपी ने थानाध्यक्ष समेत दो दरोगाओं को निलंबित कर दिया है. पुलिस ने कथित आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार कर तीनों पुलिसकर्मियों पर केस दर्ज कर लिया है.

रिपोर्ट - दीप श्रीवास्तव

ये भी पढ़ें -

पुलिस कार्रवाई न किए जाने से आहत गैंगरेप पीड़िता ने किया बेटे संग आत्मदाह

बिजनेस शुरू करने के लिए नहीं हैं पैसे, तो ये कंपनियां करेंगी आपकी मदद
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर