कमलेश तिवारी हत्याकांड: इस रूट से भाग रहे हैं हत्यारोपी, शाहजहांपुर के एक होटल में लगे CCTV में हुए कैद
Shahjahanpur News in Hindi

कमलेश तिवारी हत्याकांड: इस रूट से भाग रहे हैं हत्यारोपी, शाहजहांपुर के एक होटल में लगे CCTV में हुए कैद
शाहजहांपुर में नजर आए कमलेश तिवारी के संदिग्ध हत्यारोपी

संदिग्धों की शाहजहांपुर में लोकेशन मिलने पर एसटीएफ ने देर रात 4:00 बजे कई होटलों मदरसों और मुसाफिरखाना में ताबड़तोड़ छापेमारी की. रेलवे स्टेशन पर होटल पैराडाइस में लगे कैमरे की सीसीटीवी फुटेज में दोनों संदिग्ध हत्यारे दिखाई दे रहे हैं.

  • Share this:
शाहजहांपुर. हिन्‍दू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड (Kamlesh Tiwari Murder Case) में शामिल संदिग्ध हत्यारे शाहजहांपुर में दिखाई दिए हैं. जिसके बाद एसटीएफ ने होटलों और मदरसों के मुसाफिरखानो में ताबड़तोड़ छापेमारी की. सीसीटीवी फुटेज में संदिग्ध दिखाई दिए हैं. फिलहाल एसटीएफ शाहजहांपुर में डेरा जमाए हुए हैं. सूत्रों की मानें तो कमलेश तिवारी हत्या के संदिग्ध हत्यारे लखीमपुर जिले के पलिया से इनोवा गाड़ी बुक करा कर शाहजहांपुर पहुंचे थे.

दरअसल, हिन्‍दू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड में शामिल दोनों मुख्य आरोपी शेख अशफाक हुसैन और पठान मोइनुद्दीन अहमद उर्फ़ फरीद अभी भी पुलिस गिरफ्त से दूर हैं. पुलिस को आशंका है कि दोनों सीमा पार कर पाकिस्तान पहुंचने की फिराक में हैं. दोनों की लास्ट लोकेशन भी अंबाला के पास मिली है जो बाघा बॉर्डर से 285 किमी दूर है. शुक्रवार को हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद दोनों हरदोई, बरेली, मुरादाबाद, गाजियाबाद के रास्ते चड़ीगढ़ की तरफ गए हैं. दोनों आरोपी सात से आठ घंटे में अपना फोन ऑन कर रहे हैं और फिर उसे स्विच ऑफ कर दे रहे हैं.

एसटीएफ कर रही छापेमारी



संदिग्धों की शाहजहांपुर में लोकेशन मिलने पर एसटीएफ ने देर रात 4:00 बजे कई होटलों मदरसों और मुसाफिरखाना में ताबड़तोड़ छापेमारी की. रेलवे स्टेशन पर होटल पैराडाइस में लगे कैमरे की सीसीटीवी फुटेज में दोनों संदिग्ध हत्यारे दिखाई दे रहे हैं. दोनों संदिग्धों ने रेलवे स्टेशन पर इनोवा गाड़ी छोड़ दी और पैदल रोडवेज बस स्टैंड की तरफ जाते हुए दिखाई दिए हैं. एसटीएफ ने इंनोवा गाड़ी के ड्राइवर को कब्जे में ले लिया है.
https://www.youtube.com/watch?v=ZoDN5wCjlqo&feature=youtu.be

74 सीसीटीवी फुटेज बरामद

इस मामले में अबी तक पुलिस ने 74 सीसीटीवी फुटेज को खंगाला है. जिसके आधार पर यूपी पुलिस हत्यारोपियों के करीब पहुंचने की फिराक में है. हालांकि अभी तक पुलिस को खास सफलता नहीं मिली है. दोनों लगातार अपना भेष बदलकर छिप रहे हैं. मोबाइल भी सात-आठ घंटे बाद ऑन कर रहे हैं और उसके बाद स्विच ऑफ कर दे रहे हैं.

बता दें कि बीते 18 अक्टूबर को ही हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के अध्यक्ष कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की हत्या (Murder) कर दी गई थी. इस हत्याकांड में गुजरात से तीन और यूपी से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. यूपी के बिजनौर के दो मौलानाओं की भी भूमिका की जांच की जा रही है. वर्ष 2015 में इन दोनों मौलानाओं ने कमलेश तिवारी का सिर कलम करने वालों को डेढ़ करोड़ रुपये इनाम देने की घोषणा की थी. इस वारदात के मुख्य आरोपी शेख अशफाक हुसैन (Accused Sheikh Asfaq Hussain) और पठान मोइनुद्दीन अहमद (Pathan Moinuddin Ahamd) उर्फ़ फरीद अभी भी पुलिस के रडार से दूर है.

इनपुट- अजीत प्रताप सिंह

ये भी पढ़ें:

सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने वालों पर लगेगा NSA: ओपी सिंह

यूपी उपचुनाव: आजम खान के घर के पास पकड़े गए फर्जी पोलिंग एजेंट

 

 

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज