लॉ छात्रा के आरोपों पर पहली बार बोले स्वामी चिन्मयानंद- मेरे खिलाफ बड़ी साजिश
Shahjahanpur News in Hindi

लॉ छात्रा के आरोपों पर पहली बार बोले स्वामी चिन्मयानंद- मेरे खिलाफ बड़ी साजिश
शाहजहांपुर में लॉ छात्रा के आरोप पर चिन्मयानंद ने कहा कि दुख इस बात का है जब हम लॉ कालेज को यूनिवर्सिटी बनाने के प्रयास कर रहे थे, ऐसे समय में ये मामला उछालकर उनकी छवि धूमिल करने की कोशिश की गई.

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में एसएस लॉ कॉलेज (SS law college) की एलएलएम छात्रा द्वारा पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद (Chinmayanand) पर लगाए गए आरोपों की जांच के लिए यूपी सरकार ने विशेष जांच दल (SIT) का गठन कर दिया है. बुधवार को चिन्मयानंद कैमरे के सामने आए और उन्होंने आरोपों को बड़ी साजिश करार दिया है.

  • Share this:
शाहजहांपुर. उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में एसएस लॉ कॉलेज (SS law college) की एलएलएम छात्रा द्वारा पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री और बीजेपी नेता चिन्मयानंद (Chinmayanand) पर लगाए गए आरोपों की जांच के लिए यूपी सरकार ने विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया है. इस मामले में आरोपी स्वामी चिन्मयानंद पहली बार मीडिया के सामने आए हैं. बुधवार को चिन्मयानंद कैमरे के सामने आए और उन्होंने अपने ऊपर लगाए गए आरोपों को बड़ी साजिश करार दिया.

चिन्मयानंद ने कहा कि वो कुछ भी बयान देकर एसआईटी की जांच प्रभावित नहीं करना चाहते. उन्हें पूरा भरोसा है कि एसआईटी अपनी जांच में दूध का दूध और पानी का पानी करेगी. उनके साथ न्याय होगा.

चिन्मयानंद ने कहा कि दुख इस बात का है जब हम लॉ कालेज को यूनिवर्सिटी बनाने का प्रयास कर रहे थे, ऐसे समय में ये मामला उछालकर उनकी छवि धूमिल करने की कोशिश की गई है. उन्होंने कहा कि कॉलेज के संबंध में उनकी वित्त मंत्री तक से मुलाकात हो चुकी थी और एक से दो दिन में मुख्यमंत्री से मिलकर वो इसकी मांग भी करने वाले थे ताकि अनुदान मिल सके. उन्होंने कहा कि ये मामला उनके खिलाफ साजिश है. कुछ लोग जिले की तरक्की नहीं चाहते.



सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यूपी सरकार ने किया SIT गठित
बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने शाहजहांपुर में एसएस लॉ कॉलेज में एलएलएम की छात्रा द्वारा पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर लगाए आरोपों की जांच के लिए विशेष जांच टीम का गठन कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने आईजी स्तर के अधिकारी के नेतृत्व में एसआईटी का गठन कर इलाहाबाद हाईकोर्ट को पूरी जांच की मॉनीटरिंग का आदेश दिया था.

मंगलवार को गृह विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार छात्रा और उसके भाई की पढ़ाई किसी अन्य कॉलेज से कराए जाने, साथ ही छात्रा और उसके परिवार को सुरक्षा प्रदान करने के लिए सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुपालन में शासन द्वारा निर्देश जारी किए गए हैं. यूपी के मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी द्वारा आईजी लोक शिकायत नवीन अरोड़ा के नेतृत्व में विशेष जांच दल के गठन का निर्णय लिया गया है. इसमें भारती सिंह, सेना नायक 41वीं वाहिनी पीएसी, गाजियाबाद को भी नामित किया गया है. शासन द्वारा यह भी निर्देश दिए गए हैं कि नवीन अरोड़ा इस टीम में स्वच्छ छवि के अन्य पुलिस अधिकारियों को शामिल करेंगे.

ये भी पढ़ें:

स्वामी चिन्मयानंद केस में यूपी सरकार ने गठित की SIT

हाईकोर्ट की निगरानी में हो स्वामी चिन्मयानंद केस की जांच: SC
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज