शाहजहांपुर: बिजली समस्या पर ग्रामीणों का थाने पर हमला, SO समेत 4 घायल, बीजेपी MLA के ड्राइवर सहित 50 पर FIR

शाहजहांपुर में बिजली की समस्या को लेकर पुलिस पर हमला करने की खबर आई है  (Photo:  घायल पुलिसकर्मी )
शाहजहांपुर में बिजली की समस्या को लेकर पुलिस पर हमला करने की खबर आई है (Photo: घायल पुलिसकर्मी )

शाहजहांपुर (Shahjahanpur): एसपी सिटी संजय कुमार ने बताया कि देर रात बीजेपी विधायक रोशन वर्मा के ड्राइवर महेंद्र समेत 7 लोगों की नामजद करते हुए करीब 40-50 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया.

  • Share this:
शाहजहांपुर. उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर (Shahjahanpur) में उस समय हड़कंप मच गया, जब गुस्साये ग्रामीणों ने निगोही थाने पर हमला कर दिया. इस हमले में एसओ, इंस्पेक्टर और 2 सिपाही घायल हुए हैं. बताया जा रहा है कि बिजली की शिकायत को लेकर बिजली घर में ग्रामीणों ने हमला बोला था. इसके बाद ग्रामीण थाने पर शिकायत करने आए थे. जहां पुलिस और ग्रामीणों में नोकझोंक हुई. उसके बाद ग्रामीणों ने थाने पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया और जमकर थाने में उत्पात मचाया. इस दौरान एसओ का सीयूजी नंबर का मोबाइल भी ग्रामीण ले उड़े. मामले में पुलिस ने बीजेपी विधायक रोशन लाल वर्मा के ड्राइवर समेत 7 लोगों को नामजद और 40-50 अज्ञात ग्रामीणों के खिलाफ केस दर्ज किया है.

पहले बिजली उपकेंद्र पर हंगामा फिर थाने पर बवाल

घायल एसओ गोविंद सिंह ने बताया कि मामला थाना निगोही थाने का है. यहां देर रात हमजापुर में लो-वोल्टेज बिजली की शिकायत को लेकर बीजेपी विधायक का ड्राइवर महेंद्र ग्रामीणो के साथ बिजलीघर गया. आरोप है कि महेंद्र ने बिजली कर्मचारी को थप्पड़ मार दिया. इसके बाद ग्रामीणों ने बिजली घर में तोड़फोड़ कर दी. इसके बाद ये लोग थाने पर आकर सड़क पर बैठ गए और प्रदर्शन शुरू कर दिया. मामले में पुलिस समझाने गई तो पुलिस से भी झड़प हो गई. इसके बाद गुस्साए ग्रामीणों ने थाने पर ही हमला कर दिया और थाने में घुसकर ग्रामीणों ने जमकर उत्पात मचाया. लाठी-डंडों से हमला किया गया, जिसमें एसओ, इंस्पेक्टर और दो सिपाही घायल हुए हैं. इस दौरान ग्रामीणों ने सीयूजी नंबर का मोबाइल भी ले गए.



मोबाइल फुटेज से हो रही आरोपियों की पहचान
इसके बाद रात में सीओ सिटी, सीओ सदर तहसील सिटी ने दौरा किया. एसपी सिटी संजय कुमार ने बताया कि देर रात बीजेपी विधायक रोशन वर्मा के चालक महेंद्र समेत 7 लोगों की नामजद करते हुए करीब 40-50 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया. पुलिस मोबाइल फुटेज के जरिये आरोपियों की पहचान कर रही है. देर रात दबिश के बाद पुलिस ने अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं कर पाई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज