लाइव टीवी

आस्था और विज्ञान का दिखा संगम, चंद्रयान -2 की तर्ज पर बनाया दुर्गा मां का पंड़ाल

Rajiv Mohan | News18 Uttar Pradesh
Updated: October 7, 2019, 12:23 PM IST
आस्था और विज्ञान का दिखा संगम, चंद्रयान -2 की तर्ज पर बनाया दुर्गा मां का पंड़ाल
दुर्गा प्रतिमा की फोटो.

वैशाली (Vaishali) जिले में आस्था और तकनीक (Technique) का अदभुत संगम देखे को मिला है. यहां चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) की तर्ज पर बने दुर्गा पंडाल बनाया गया है. इसको देखने के लिए लोग दू-दूर से आ रहे हैं. इसमें तिरंगे को भी शामिल किया गया है, जिससे लोगों में देशभक्ति का भावना को जगाए जा सके.

  • Share this:
वैशाली. वैशाली (Vaishali) जिले में आस्था और तकनीक (Technique) का अदभुत संगम देखे को मिला है. यहां के लोगों ने दुर्गा पंड़ाल को चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) की तर्ज पर बनाया है.
यह पंडाल श्रद्धालुओ के बीच आकर्षण का केंद्र बना हुआ है. इस पूजा पंडाल को तिरंगे (Tricolor) झंडे का भी स्वरूप दिया गया है ताकि लोगों के बीच भक्ति के साथ देश भक्ति (Patriotism) की अलख जगाई जा सके.

आकर्षक व खुबसूरत अंदाज में बनाए गए इस पंडाल को देखने के लिए लोगों की भारी भीड़ उमड़ रही है. पूजा पंडाल को पूरी तरह से तिरंगे का स्वरूप दिया गया है और इसके साथ ही पंडाल की ऊपरी सतह को चंद्रयान- 2 (Chandrayaan-2) का स्वरूप दिया गया है, जिसके चलते यह पंडाल लोगों के बीच चर्चा में है. दुर्गा पूजा समिति के मुताबिक हाल में चांद पर भेजा गया चंद्रयान- 2 के बारे में जन-जन तक पहुंचाने के प्रयास के तहत इस पूजा पंडाल को चंद्रयाण-2 का स्वरूप प्रदान किया गया है.

ताकि लोग देश में चल रहे विकास की गति और वैज्ञानिक तकनीक को आसानी से समझ सकें. वहीं मां दुर्गा का दर्शन करने पूजा पंडाल पहुंच रहे लोग भी इसे देखकर काफी उत्साहित हैं. श्रद्धालुओं का कहना है की यह बहुत ही आकर्षक और ज्ञानवर्धक है. श्रद्धालुओ ने इसके लिए पूजा समिति के प्रयासों की खुलकर प्रशंसा की है.

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र  वाराणसी (varanasi) के अर्दली बाजार स्थित न्यू डिलाइट क्लब का देवी पंडाल चंद्रयान-2 की तर्ज पर बनाया गया है. करीब सौ फिट ऊंचे इस पंडाल को बनाने में दो महीने का वक्त लगा है. दो महीने की मेहनत के बाद जब इस पंडाल ने अपनी सूरत अख्तियार की तो हूबहू बिल्कुल चंद्रयान जैसा दिख रहा था.

जहां चंद्रयान-2 की झलक पूरे पंडाल में नजर आ रही है. इस इलाके में खड़े होकर आपको ऐसा लगेगा जैसे कि पंडाल आपको अंतरिक्ष की सैर कराने को तैयार है. यही नहीं, पंडाल में जहां देवी विराजेंगी वहां चंद्रमा की झलक मिल रही है. पंडाल के अंदर अंतरिक्ष जैसा माहौल देखने को मिलेगा. कोलकाता से आए दो दर्जन कारीगर दिलीप दा के नेतृत्व में पंडाल को अंतिम रूप देने में लगे हैं.

ये भी पढ़ें- मुस्लिम कैदियों ने रखा नवरात्रि का व्रत, बोले- मां दुर्गा पर पूरी आस्था

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शामली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 11:14 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...