लाइव टीवी

केशव प्रसाद मौर्य ने कांग्रेस को बताया झूठ बोलने वाली ऑटोमेटिक मशीन

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 1, 2019, 5:55 PM IST
केशव प्रसाद मौर्य ने कांग्रेस को बताया झूठ बोलने वाली ऑटोमेटिक मशीन
फाइल फोटो

'राहुल गांधी अपनी संसदीय सीट पर विकास नहीं कर सके, इसलिए चुनाव लड़ने के लिए वे केरल चले गए.'

  • Share this:
लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिए राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे पर बयानबाजी करने से बाज नहीं आ रही हैं. ताजा मामला शामली जनपद के कैराना लोकसभा क्षेत्र का है, जहां उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने जनसभा को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर जामकर निशाना साधा. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस झूठ बोलने वाली ऑटोमेटिक मशीन है. मौर्य की माने तो राहुल गांधी अपनी संसदीय सीट पर विकास नहीं कर सके इसलिए चुनाव लड़ने के लिए वे केरल चले गए.

बता दें कि कैराना से बीजेपी प्रत्याशी प्रदीप चौधरी के समर्थन में जनता से वोट देने की अपील करने के लिए केशव प्रसाद मौर्य झिंझाना कस्बे में आए थे. इस मौके पर उन्होंने जनसभा को सम्बोधित करते हुए मंच से विपक्षी पार्टियों पर जमकर निशाना साधा. मौर्य ने विपक्ष के गठबंधन को ठगबंधन तक कह डाला. साथ ही कहा कि सपा-बसपा कुछ का साथ और कुछ का विकास करने वाली पार्टिंयां हैं.

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि बीजेपी सबका साथ सबका विकास करने का काम कर रही है. उनके अनुसार, विपक्षी पार्टियां 8 करोड़ फर्जी लोगों को अनेकों प्रकार की योजनाओं का लाभ पहुंचा रही थी. उन्होंने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि राहुल गांधी पिछले 15 साल से अमेठी से सांसद हैं, लेकिन उन्होंने अमेठी में कोई विकास कार्य नहीं किया, जिसकी वजह से अब वे केरल से चुनाव लड़ रहे हैं.  क्योंकि राहुल गांधी को भी लगता है कि वह अमेठी में चुनाव नहीं जीत पाएंगे. मोर्या ने कहा कि बीजेपी इस बार रायबरेली व अमेठी दोनों जगहों से चुनाव जीत रही है.

ये भी पढ़ें- 

लोकसभा चुनाव 2019: योगी के ये 10 मंत्री ‘मिशन मोदी’ के लिए उतरेंगे चुनावी मैदान में



अब यूपी में बीजेपी अपने इस नेता को बनाएगी ब्राह्मण चेहरा

आदित्य पंचोली ने एयर स्ट्राइक का किया समर्थन, कहा- मैं सेना और सरकार के साथ खड़ा हूं



एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शामली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 1, 2019, 5:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर