र‍िश्‍वत लेने के तो आपने बहुत से वी‍डियो देखें होंगे, पर यूपी में र‍िश्‍वत के पैसे लौटाने का Video Viral

यूपी के शामली में र‍िश्‍वत लौटाने का वीड‍ियो वायरल

यूपी के शामली में र‍िश्‍वत लौटाने का वीड‍ियो वायरल

UP Viral Video: उत्‍तर प्रदेश के शाम‍िल में परिजनों ने आरोप लगाया क‍ि रिश्वत लेने के बाद भी मरीज को खाली सिलेंडर लगा दिया था, जिस कारण से मरीज की मौत हो गई.

  • Share this:

उत्‍तर प्रदेश के शामली में वैश्विक महामारी की इस घड़ी में रिश्वतखोरी व मुनाफाखोरी दोनो ही चरम पर है. ऐसी परिस्थिति में अवसरवादी लोगों ने खूब लूट मचा रखी है. ऐसा ही रिश्वतखोरी का एक मामला सामने आया है. शामली में स्वास्थ्य कर्मचारी ने मरीज को ऑक्सीजन सिलेंडर दिलाने के नाम पर 10 हजार रुपए की रिश्वत वसूली है. रिश्वतखोर स्वास्थ्य कर्मचारी का नाम संजय कुमार बताया जा रहा है जोकि कोविड हॉस्पिटल एल2 शामली में कार्यरत है.

बताया जा रहा है कि उपचार के दौरान मरीज की मौत हो गई. परिजनों का आरोप है कि रिश्वत लेने के बाद मरीज को खाली सिलेंडर लगा दिया था, जिस कारण से मरीज की मौत हो गई. इसके बाद परिजनों ने हंगामा खड़ा कर दिया. हंगामा बढ़ता देख सीएमएस सफल कुमार ने दोनों पक्षों को अपने ऑफिस में बुलाया और रि‍श्वतखोर कर्मचारी से रिश्वत के पैसे वपास कराए. इतना ही नहीं परिजनों के हंगामे के बाद आरोपी ने मृतक की पत्नी के पैरों में सि‍र रख कर माफी भी मांगता नजर आ रहा है. रिश्वत लौटाने का लाइव वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने रिश्वतखोर कर्मचारी के खिलाफ कठोर एक्शन लिया है. परिजनों की शिकायत पर स्वास्थ्य विभाग की संस्तुति पर स्वास्थ्य कर्मचारी पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है, जिसके पश्चात आदर्शमंडी पुलिस ने रोश्वतखोर कर्मचारी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. दरअसल, मामला शामली जनपद के एल 2 हॉस्पिटल का है. सोशल मीडिया पर वायरल हो रही घटना पांच दिन पुरानी है, जिसमें शामली के संयुक्त जिला चिकित्सालय के एल-2 थानाभवन थाना क्षेत्र के गांव हरड़ फतेहपुर निवासी सत्यवान को कोविड-19 के उपचार के लिए भर्ती कराया गया था. हालत खराब होने पर ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी, तो वहां पर तैनात स्वास्थ्य कर्मचारी संजय कुमार ने मरीज के परिजनों से 10 हजार रुपये लेकर खाली ऑक्सीजन सिलेंडर कोरोना मरीज को लगा दिया. इसके थोड़ी देर बाद कोरोना मरीज की मौत हो गई थी.

पता करने पर खाली सिलेंडर लगाये जाने की जानकारी हुई तो परिजनों में रोष फैल गया और उन्होंने घटना के आरोपी कर्मचारी संजय की पिटाई कर दी. घटना को लेकर अस्पताल में जमकर हंगामा हुआ तो थाना आदर्शमंडी पुलिस मौके पर पहुंची. जहां मृतक मरीज के परिजनों ने पुलिस के सामने हकीकत बयान कर दी. पुलिस ने घटना के संबंध में मृतक के परिजनों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर आरोपी स्वास्थ्य कर्मी संजय को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. कोरोना मरीज की मृत्यु से जुड़े मामले में शनिवार को उस समय नया मोड़ आया जब इस घटना से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसमें दस हजार रुपये लेने का आरोपी स्वास्थ्य कर्मी कोविड अस्पताल के प्रभारी डा. सफल कुमार के सामने क्षमा याचना कर रहा है. आरोपी अपने हाथ में एक पैकेट लिए हुए है, जिसमें पीड़‍ितों से लिए गए पैसे बताये जा रहे है.
क्‍या है वायरल वीड‍ियो में

करीब दो मिनट आठ सेकेंड की इस वीडियो में मृतक ग्रामीण की पत्नी और उसके पास एक अन्य व्यक्ति बैठा है, जबकि दो-तीन युवक मोबाइल से वीडियो बना रहे हैं. वायरल वीडियो में पीड़ि‍त महिला और उसके परिजन आरोपी स्वास्थ्यकर्मी को काफी भला बुरा भी कह रहे हैं. आरोपी रिश्वत की राशि कागज के पैकेट में देने का प्रयास करता है लेकिन महिला के परिजन उसे रकम खुले में गिनकर दिखाने का दबाव बना रहे हैं. बाद में वह पीठ घुमाकर रकम गिनता है. स्वास्थ्यकर्मी ने कुर्सी पर बैठी मृतक की पत्नी के पैर पकड़कर माफी भी मांगी है और पैसे वापस लेने की गुहार लगा रहा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज