Assembly Banner 2021

सील हुआ शेल्टर होम, युवती के आरोपों के बाद मिले थे आपत्तिजनक सामान

राज्य महिला आयोग की टीम की मौजूदगी में शेल्टर होम से आपत्तिजनक सामान मिले थे. (File Photo)

राज्य महिला आयोग की टीम की मौजूदगी में शेल्टर होम से आपत्तिजनक सामान मिले थे. (File Photo)

रेप (Rape) का आरोप लगाने वाली युवती की शिकायत पर शेल्टर होम (Shelter Home) में काम करने वाले तीन लोगों को पुलिस (Police) ने जेल (Jail) भेज दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2019, 8:55 AM IST
  • Share this:
आगरा. उत्तर प्रदेश के आगरा (Agra) के एक शेल्टर होम (Shelter Home) को सील कर दिया गया है. रविवार की शाम प्रशासन ने बिल्डिंग को सील कर यहां के 40 बच्चों को दूसरे शेल्टर होम में शिफ्ट कर दिया. इस शेल्टर होम में रहने वाली एक युवती ने रेप का आरोप लगाया था. इसके बाद छत से यमुना में कूदकर सुसाइड की कोशिश भी की थी. प्रशासन ने प्रबंधकों के खिलाफ थाने में तहरीर दे दी है. राज्य महिला आयोग (State Women Commission) की टीम ने शेल्टर होम का दौरा किया था. टीम को निरीक्षण के दौरान शराब और बीयर की खाली बोतलें और बाथरूम से कुछ आपत्तिजनक सामान मिले थे.

आगरा में बाल कल्याणकारी संस्था महफूज से जुड़े सामाजिक कार्यकर्ता नरेश पारस ने बताया, 'यमुनापार इलाके में चलने वाला ये शेल्टर होम किशोर न्याय अधिनियम (जेजे एक्ट) में रजिस्टर्ड नहीं है. कई बार शिकायत करने के बाद भी प्रशासन इसे सिर्फ नोटिस ही भेजता रहा. कभी कोई ठोस कार्रवाई नहीं की. अब जब मामला उजागर हुआ तो प्रशासन ने होम को सील कर दिया है. इसके बावजूद जेजे एक्ट में बिना रजिस्ट्रेशन कराए छह शेल्टर होम और संचालित हो रहे हैं.'

क्या हुआ था शेल्टर होम में



3 अक्टूबर को शेल्टर होम में रहने वाली एक युवती ने सुसाइड की कोशिश की थी. नरेश पारस ने बताया, 'युवती ने यमुना नदी में छलांग लगा दी थी, लेकिन जिस जगह वो कूदी वहां पानी कम था. इससे उसके सिर में चोट आई थी. पूछताछ में युवती ने शेल्टर होम में अपने साथ शारीरिक शोषण की बात कही थी. युवती का आरोप है कि उसके साथ तीन साल से गलत काम किया जा रहा है. इसके बाद पुलिस ने फौरन कार्रवाई करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.’
शेल्टर होम से मिले आपत्तिजनक सामग्री

नरेश पारस का कहना है, 'शेल्टर होम की युवती द्वारा सुसाइड की कोशिश की खबर सुनकर राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह और सदस्य निर्मला दीक्षित शेल्टर होम पहुंचीं. उनके साथ डीपीओ लवकुश भार्गव भी थे. टीम ने शेल्टर होम का निरीक्षण किया तो वहां लड़कियों के पास महंगे-महंगे मोबाइल फोन मिले. परिसर में एक जगह शराब की खाली बोतल और बीयर की कैन मिली. बाथरूम में यूज्ड कंडोम पड़े हुए थे. एक लड़की के मोबाइल में अश्लील क्लीपिंग भी मिली थी.'

ये भी पढ़ें-

चलती ट्रेन की सील बंद बोगी से गायब हो गई बाइक

यह कैसी मजबूरी: यूपी में सिर्फ 3 फीट चौड़े सरकारी स्कूल में पढ़ते हैं बच्चे, देखें Video
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज