लाइव टीवी

श्रावस्ती लोकसभा सीट पर महागठबंधन ने फंसाया पेंच, मौजूदा सांसद दद्दन मिश्रा के लिए राह नहीं आसान

News18Hindi
Updated: May 11, 2019, 5:01 PM IST
श्रावस्ती लोकसभा सीट पर महागठबंधन ने फंसाया पेंच, मौजूदा सांसद दद्दन मिश्रा के लिए राह नहीं आसान
श्रावस्ती से बीजेपी के मौजूदा सांसद दद्दन मिश्रा.

श्रावस्ती लोकसभा सीट पर लड़ाई दिलचस्प है और सपा-बसपा के साथ आने से BJP के सांसद मौजूदा सांसद दद्दन मिश्रा को इस बार जीत के लिए ज्यादा जोर लगाना पड़ेगा.

  • Share this:
इतिहास के पन्नों में सत्य, अहिंसा और प्रेम का संदेश देने वाली कहानियां श्रावस्ती के खाते में दर्ज है. पौराणिक मान्यता कहती है कि भगवान श्रीराम के पुत्र लव ने श्रावस्ती को राजधानी बनाया था. जबकि बौद्ध मान्यता कहती है कि गौतम बुद्धकाल में कौशल देश की राजधानी हुआ करती थी श्रावस्ती. वर्तमान में श्रावस्ती की पहचान गोंडा-बहराईच की सीमा पर स्थिति एक बौद्ध तीर्थ स्थान के रूप में हैं. यहां बौद्ध मठ और हिंदू मंदिर मौजूद हैं.

लेकिन पर्यटन और धार्मिक मान्यताओं से परे हिमालय की तलहटी पर बसे श्रावस्ती की सियासी पहचान सिर्फ 11 साल पुरानी है. साल 2008 में श्रावस्ती लोकसभा सीट वजूद में आई. साल 2009 में पहली बार श्रावस्ती लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ा गया जिसमें कांग्रेस के डॉक्टर विनय कुमार पांडे ने जीत दर्ज की.

इस बार श्रावस्ती की सियासत जातीय समीकरणों और राष्ट्रवाद के ईर्द-गिर्द बुनी नजर आ रही है. एक तरफ बीजेपी यहां भी पीएम मोदी और राष्ट्रवाद के नाम पर चुनाव लड़ रही है तो दूसरी तरफ मैदान में एसपी-बीएसपी के महागठबंधन की वजह से लड़ाई दिलचस्प हो गई है.

कौन हैं प्रत्याशी?

श्रावस्ती लोकसभा सीट से मौजूदा सांसद दद्दन मिश्रा बीजेपी के उम्मीदवार हैं जबकि कांग्रेस की तरफ से धीरेंद्र प्रताप सिंह उम्मीदवार हैं. जबकि एसपी-बीएसपी गठबंधन ने यहां से रामशिरोमणि वर्मा उम्मीदवार हैं.

कांग्रेस उम्मीदवार धीरेंद्र प्रताप सिंह


वर्तमान में श्रावस्ती की लोकसभा सीट पर बीजेपी का कब्जा है. साल 2014 के लोकसभा चुनाव में दद्दन मिश्रा ने बाहुबली अतीक अहमद को चुनाव में हराया था. अतीक अहमद समाजवादी पार्टी के टिकट से चुनाव लड़े थे.
Loading...

कौन हैं दद्दन मिश्रा?

51 साल के दद्दन मिश्रा की पहचान मृदुभाषी, सरल और सहज सांसद की है. पांच साल में श्रेत्र के विकास के कामों के बूते दद्दन मिश्र एक बार फिर अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं. दद्दन मिश्र पॉलिटकिल साइंस से एमए हैं. श्रावस्ती सीट से पहली बार लोकसभा पहुंचे दद्दन मिश्र की संसद में उपस्थिति 92 फीसदी रही है और उन्होंने एक बार प्राइवेट मेंबर बिल भी पेश किया है.

कौन हैं धीरेंद्र प्रताप सिंह?

कांग्रेस उम्मीदवार धीरेंद्र प्रताप सिंह जनता के बीच अपनी मिलनसार छवि की वजह से लोकप्रिय हैं. हालांकि वो बीएसपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए हैं. वो बलरामपुर से बीएसपी के पूर्व विधायक रहे हैं.

कौन हैं सपा-बसपा महागठबंधन उम्मीदवार?

महागठबंधन उम्मीदवार राम शिरोमणि वर्मा


श्रावस्ती की संसदीय सीट बीएसपी के खाते में गई है. बीएसपी ने रामशिरोमणि वर्मा कुर्मी को महागठबंधन का उम्मीदवार बनाया है. रामशिरोमणि वर्मा कुर्मी को जातीय समीकरण साधने के लिए उतारा गया है. साथ ही उनके समर्थन में मुस्लिम वोटों के लिए सपा नेता मोहम्मद रिजवान प्रचार कर रहे हैं क्योंकि यहां के चुनावी समीकरण में मुस्लिम वोट बड़ी भूमिका निभाते हैं. यहां की एक विधानसभा सीट पर मुस्लिम विधायक है तो तीन सीटों पर मुस्लिम उम्मीदवार साल 2017 के विधानसभा चुनाव में दूसरे नंबर पर रहे हैं.

जातीय समीकरण

साल 2014 के लोकसभा चुनाव में जहां बीजेपी को 19 प्रतिशत वोट मिले थे तो वहीं समाजवादी पार्टी को 14 फीसदी और बहुजन समाजपार्टी को 10 फीसदी वोट मिले थे. ऐसे में इस बार श्रावस्ती सीट से जातीय गणित को देखते हुए महागठबंधन का पलड़ा भारी लग रहा है.

साल 2011 की जनगणना के आधार पर श्रावस्ती की जनसंख्या 11.2 लाख है. इसमें 83% आबादी सामान्य वर्ग के लोगों की है जबकि 17% अनुसूचित जाति के लोग रहते हैं. यहां पर 68.87% आबादी हिंदुओं की और 31% मुस्लिम समाज की है. यहां कुल 1,788,080 मतदाता हैं जिसमें 811,613 महिला मतदाता तो 976,415 पुरुष मतदाता हैं.

श्रावस्ती लोकसभा सीट के तहत 5 विधानसभा सीट भींगा, श्रावस्ती, तुलसीपुर, ज्ञानसारी और बलरामपुर आती हैं. 5 विधानसभा सीटे में से 4 पर बीजेपी और एक पर बीएसपी का कब्जा है. श्रावस्ती विधानसभा सीट पर बीजेपी के राम फेरन का कब्जा है जिन्होंने पिछले चुनाव में समाजवादी पार्टी के मोहम्मद रिजवान को हराया था.
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsAppअपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए श्रावस्ती से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 5, 2019, 6:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...