Home /News /uttar-pradesh /

COVID 19: क्वारेंटाइन में रखे गए मजदूरों को नहीं मिला खाना, अब ग्राम प्रधान को हुई जेल

COVID 19: क्वारेंटाइन में रखे गए मजदूरों को नहीं मिला खाना, अब ग्राम प्रधान को हुई जेल

श्रावस्ती (Shravasti) में मामला सामने आने के बाद जांच की गई, जिसके बाद पता चला कि 2 अप्रैल को 16 कामगारों, 3 अप्रैल को 17 और 4 अप्रैल को 18 कामगारों को चाय नाश्ता और खाना देने की बात कागजों में तो दर्ज है, लेकिन वास्तव में इन्हें वह दिया नहीं गया.

श्रावस्ती (Shravasti) में मामला सामने आने के बाद जांच की गई, जिसके बाद पता चला कि 2 अप्रैल को 16 कामगारों, 3 अप्रैल को 17 और 4 अप्रैल को 18 कामगारों को चाय नाश्ता और खाना देने की बात कागजों में तो दर्ज है, लेकिन वास्तव में इन्हें वह दिया नहीं गया.

श्रावस्ती (Shravasti) में मामला सामने आने के बाद जांच की गई, जिसके बाद पता चला कि 2 अप्रैल को 16 कामगारों, 3 अप्रैल को 17 और 4 अप्रैल को 18 कामगारों को चाय नाश्ता और खाना देने की बात कागजों में तो दर्ज है, लेकिन वास्तव में इन्हें वह दिया नहीं गया.

अधिक पढ़ें ...
    श्रावस्ती. कोरोना (Corona) संक्रमण के चलते उत्तर प्रदेश के श्रावस्ती में 18 मजदूरों को क्वारेंटाइन में रखा गया था. हालात ये रहे कि तीन दिनों तक इन मजदूरों को खाना तक नहीं मिला. इस बात का पता चलने पर प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए ग्राम प्रधान को जेल भेज दिया और ग्राम सचिव को निलंबित कर दिया गया है. जमुनहा के विकास अधिकारी जितेन्द्र नाथ दुबे ने बुधवार को बताया कि ओदाही ग्राम पंचायत के एक स्कूल में बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर में बाहर से आए कामगारों को रखा गया था. 6 अप्रैल को जब श्रावस्ती के डीएम यशु रुस्तगी ने औचक निरीक्षण किया तो सेंटर के लोगों ने उनसे शिकायत की कि पिछले तीन दिनों से उन्हें खाना नहीं मिला है.

    कागजों में दर्ज लेकिन मिला नहीं
    मामले की जांच करने पर पता चला कि 2 अप्रैल को 16 कामगारों, 3 अप्रैल को 17 और 4 अप्रैल को 18 कामगारों को चाय नाश्ता और खाना देने की बात कागजों में तो दर्ज है, लेकिन वास्तव में इन्हें वह दिया नहीं गया. इसके बाद ग्राम प्रधान को क्वारेंटाइन में रखे गए लोगों को खाना उपलब्‍ध करवाने की राशि में हेराफेरी करने और आपदा प्रबंधन के काम में बाधा डालने का दोषी पाया गया. जिसके बाद जिलाधिकारी के आदेश पर ग्राम प्रधान बलिराम के खिलाफ थाना मल्हीपुर में मामला दर्ज कर मंगलवार को उसे जेल भेज दिया गया. साथ ही ग्राम सचिव नानबाबू को निलंबित कर उसके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं.

    332 पहुंची पीड़ितों की संख्या
    उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण लगातार फैल रहा है. मंगलवार शाम पांच बजे तक यूपी में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 332 पहुंच गई. इसमें 176 लोग वे हैं, जो तबलीगी जमात से जुड़े हैं या फिर उनके संपर्क में आए. मंगलवार को प्रदेश में 24 नए संक्रमित मरीज मिले, इनमें से 12 तबलीगी जमात से जुड़े हैं. अब तक प्रदेश में 27 मरीज पूरी तरह ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं.

    मंगलवार को कुल 364 लोगों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया. 6693 लोगों का सैंपल लिया गया जिसमें से 6217 लोगों निगेटिव पाए गए, यानी इनमें कोरोना वायरस नहीं पाया गया. वहीं, 144 लोगों की रिपोर्ट आनी बाकी है. प्रदेश के अलग-अलग क्वारंटाइन सेंटर में कुल 4851 लोगों को रखा गया है. प्रदेश में अब तक तीन लोगों की कोरोना से मौत हुई है.

    ये भी पढ़ेंः US Embassy ने लखनऊ में फंसे 25 अमेरिकी नागरिकों को दिल्ली बुलाया

    Tags: Corona Virus, Quarantine, Uttar pradesh news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर