Home /News /uttar-pradesh /

14 दिन लगातार पैदल चलकर मुंबई से गांव पहुंचा युवक, घर में कदम रखते ही कुछ घंटों में हुई मौत

14 दिन लगातार पैदल चलकर मुंबई से गांव पहुंचा युवक, घर में कदम रखते ही कुछ घंटों में हुई मौत

इंसाफ अली की पत्नी सलमा ने बताया कि जब वह मायके में थी तब उसे पति की मौत के बारे में जानकारी मिली. वह आखिरी समय में भी पति को देख नहीं पाई. (प्रतीकात्मक फोटो)

इंसाफ अली की पत्नी सलमा ने बताया कि जब वह मायके में थी तब उसे पति की मौत के बारे में जानकारी मिली. वह आखिरी समय में भी पति को देख नहीं पाई. (प्रतीकात्मक फोटो)

मृतक का नाम इंसाफ अली है. वह श्रावस्ती जिले के मटखनवा गांव (Matkhanwa Village) का रहने वाला था. वह मुंबई में रहकर राजमिस्त्री का काम करता था.

    श्रावस्ती. कोरोना वायरस (Corona virus) के चलते पूरे देश में बीते 24 मर्च से लॉकडाउन (Lockdown) घोषित है. किराना दुकान और मेडिकल स्टोर को छोड़कर अधिकांश शॉप्स बंद हैं. वहीं, अधिकांश कल-कारखाने भी बंद हैं. कई लोग बेरोजगार हो गए हैं. लोगों के खाने तक के लाले पड़ गए हैं. ऐसे में महानगरों से श्रमिक वर्ग पैदल ही अपने घर की तरफ कूंच कर गए हैं. कई गांव पहुंच गए हैं तो कई अभी तक रास्ते में ही हैं. वहीं, कई मजदूरों की भूख-प्यास की वजह से मौत की भी खबर है. इसी बीच उत्तर प्रदेश के श्रावस्ती जिले (Shravasti District) में एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां 14 दिन की पैदल यात्रा करने के बाद घर पहुंचते ही एक 35 वर्षीय युवक की मौत हो गई.

    जनसत्ता के मुताबिक, मृतक का नाम इंसाफ अली है. वह श्रावस्ती जिले के मटखनवा गांव (Matkhanwa Village) का रहने वाला था. वह मुंबई में रहकर राजमिस्त्री का काम करता था. लॉकडाउन के बाद वह मुंबई में फंस गया. उसे काम नहीं मिल रहा था. ऐसे में इंसाफ अली ने किसी तरह घर जाने का निश्चय किया. वह 13 अप्रैल को मुंबई से पैदल ही श्रावस्ती जिले में स्थित अपने मटखनवा गांव के लिए रवाना हो गया. वह रास्ते में भूख लगने पर केवल बिस्किट खाकर जिंदा रहा.

    मुंबई से 1500 किलोमीटर पैदल चलकर पहुंचा गांव
    इस दौरान उसे रास्ते में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा. वह रास्ते में पुलिस से बचता- फिरता किसी तरह 14 दिनों बाद 27 अप्रैल को मुंबई से 1500 किलोमीटर पैदल चलकर अपने गांव में पहुंच गया, लेकिन घर में कदम रखते ही कुछ घंटों के बाद ही उसकी मौत हो गई. सूचना के बाद मौके पर पहुंची स्वास्थ्यकर्मियों की टीम उसके शव को लेकर चले गए. कहा जा रहा है कोरोना वायरस की जांच के लिए उसके सैंपल लिए गए हैं.

    पति की मौत के बारे में जानकारी मिली
    इंसाफ अली की पत्नी सलमा ने बताया कि जब वह मायके में थी तब उसे पति की मौत के बारे में जानकारी मिली. वह आखिरी समय में भी पति को देख नहीं पाई, क्योंकि जब वह मायके से ससुराल पहुंची तो इंसाफ अली के शव को ले जाया जा चुका था. उनका छह साल का एक बेटा भी है जिसका नाम इरफान है. वहीं,  माता-पिता समेत सभी घरवालों को क्वारंटीन में भेज दिया गया है. अली के दो बड़े भाई भी प्रवासी मजदूर हैं जो फिलहाल पंजाब में फंसे हुए हैं.

    ये भी पढ़ें- 

    COVID-19: CRPF के 12 और जवान निकले कोरोना पॉजिटिव, सरकार ने दिया ये आदेश

    COVID-19 : Lockdown का पालन करवाने के लिए हिंदपीढ़ी का इलाका CRPF के हवाले

    Tags: Corona Virus, Lockdown, Lucknow news, Uttar pradesh news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर