सिद्धार्थनगर: कोरोना काल में बिना तेल के खड़ी एंबुलेंस, CMO बोले- बैलेंस नहीं है?
Lucknow News in Hindi

सिद्धार्थनगर: कोरोना काल में बिना तेल के खड़ी एंबुलेंस, CMO बोले- बैलेंस नहीं है?
कोरोना काल में बिना तेल के खड़ी एंबुलेंस (file photo)

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (CMO) इंद्र विजय विश्वकर्मा ने बताया है कि एंबुलेंस (Ambulance) की सभी गाड़ियां स्टेट से संचालित होती हैं और इनका हेडक्वार्टर लखनऊ में है.

  • Share this:
सिद्धार्थनगर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कोरोना वायरस से संक्रमित (Covid-19 Infected) होने के बाद मरने वालों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. इसी बीच यूपी के सिद्धार्थनगर (Siddharthnagar) जिले में कोरोना काल के दौरान एंबुलेंस (Ambulance) बिना तेल की अस्पताल के बाहर खड़ी है. जिससे गर्भवती महिलाओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. इस मामले में जिले के सीएमओ का चौंका देने वाला बयान भी सामने आया है. जिसको लेकर इलाके में चर्चा बनी हुई है.

बता दें कि खेसरहा सीएचसी से मरीजों और गर्भवती महिलाओं के लिए चलने वाला एंबुलेंस इन दिनों तेल के अभाव में खड़ी होकर धूल फांक रहा है. इससे मरीज परेशान हो रहे हैं. एंबुलेंस के लिए मरीजों के परिजन जब फोन करते हैं तो कॉल सेंटर से कुछ देर बाद बात कराते हुए फोन होल्ड हो जाता है. इसके बाद ना तो एंबुलेंस मिल पाता है और ना ही ड्राइवर कोई जवाब देता है. इससे गरीब मरीजों को परेशानी तो झेलनी पड़ती है इसके साथ ही कई मरीजों के साथ जान पर भी बनाती है.

ये भी पढ़ें- साक्षी मिश्रा सपा में शामिल होंगी या नहीं? इसपर आखिरी फैसला लेंगे अखिलेश यादव



खेसराहा सीएससी से आपातकालीन सुविधा के लिए 108 वह गर्भवती महिलाओं के लिए 102 एंबुलेंस चलती है, लेकिन पिछले चार-पांच दिनों से एंबुलेंस को डीजल ना मिल पाने से अस्पताल परिसर में एंबुलेंस खड़ी है. तेल के अभाव में ड्राइवर की इस हरकत से मरीज व उसके परिवार जन सभी परेशान हैं और सबसे अधिक परेशानी तो गरीबों को हो रही है. वहीं हालात इस तरह के रहे तो किसी दिन पीड़ित मरीज की जान भी जा सकती है.
CMO बोले- बैलेंस नहीं है

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (CMO) इंद्र विजय विश्वकर्मा ने बताया है कि एंबुलेंस की सभी गाड़ियां स्टेट से संचालित होती हैं और इनका हेडक्वार्टर लखनऊ में है. जानकारी करने से पता चला है कि उनके तेल भराने वाले कार्ड में बैलेंस नहीं है, जल्द से जल्द इसका निराकरण करा दिया जाएगा.

(रिपोर्ट- शरद त्रिपाठी/सिद्धार्थनगर)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज