होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

Doomariyaganj Assembly Seat: भाजपा के लिए आसान नहीं डुमरियागंज में जीत, बसपा दे सकती है कांटे की टक्कर

Doomariyaganj Assembly Seat: भाजपा के लिए आसान नहीं डुमरियागंज में जीत, बसपा दे सकती है कांटे की टक्कर

UP Chunav: डुमरियागंज विधानसभा सीट का जानिए हाल.

UP Chunav: डुमरियागंज विधानसभा सीट का जानिए हाल.

Doomariyaganj Assembly Seat: महज 200 वोटों के अंतर से डुमरियागंज विधानसभा सीट पर जीत हासिल करने वाली भारतीय जनता पार्टी के लिए 2022 का चुनाव काफी चुनौतीभरा रहने वाला है. बहुजन समाज पार्टी पिछला चुनाव चंद वोटों के अंतर से हार गई थी, लिहाजा वह इस बार अपनी परंपरागत सीट हासिल करने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेगी.

अधिक पढ़ें ...

सिद्धार्थनगर. विधानसभा के चुनाव में 100-200 सीटों के मामूली अंतर से मिली हार, वर्षों तक सालती रहती है. सिद्धार्थनगर की डुमरियागंज विधानसभा सीट के पिछले चुनाव के नतीजे कुछ ऐसे ही थे. इस चुनाव में बहुजन समाज पार्टी को मामूली अंतर से यह सीट गंवानी पड़ गई थी. ‘मोदी-लहर’ पर सवार भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार ने लगातार बसपा के खेमे में आती रही इस सीट पर कब्जा कर लिया था. इस लिहाज से 2022 का चुनाव डुमरियागंज में कांटे की टक्कर वाला हो सकता है.

डुमरियागंज विधानसभा सीट 2007 में बसपा के पास रही थी. 2007 के विधानसभा चुनाव के बाद जब 2010 में इस सीट के लिए उपचुनाव हुए, उसमें भी मायावती की अगुवाई वाली पार्टी ने अपना दम दिखाया था और सीट पर जीत हासिल की थी. 2012 के चुनाव में यह सीट पीईसीपी के पास चली गई और बसपा खिसक कर दूसरे स्थान पर आ गई. इन दोनों ही चुनावों में बीजेपी कहीं नहीं थी, लेकिन पांच साल बाद भगवा पार्टी ने यहां अपनी पकड़ मजबूत कर सीट जीत ली.

2017 के विधानसभा चुनाव में बसपा दम-खम के साथ डुमरियागंज से मैदान में उतरी थी. उसके सामने भाजपा थी. चुनाव कड़ी टक्कर वाला हुआ, जिसमें बसपा को लगभग 200 वोटों से हार स्वीकार करना पड़ा. भाजपा के प्रत्याशी राघवेंद्र प्रताप सिंह को इस चुनाव में 67177 वोट हासिल हुए थे, जबकि बसपा उम्मीदवार के हिस्से में इससे थोड़ा कम 66901 वोट आए थे. यही वजह है कि 2022 के चुनाव में इस सीट पर सियासी जानकारों की नजरें टिकी हैं.

Tags: UP Election 2022

अगली ख़बर