कमलेश तिवारी हत्याकांडः SIT ने बिजनौर में डेरा डाला, अज्ञात स्‍थान पर आरोपियों को रखा
Bijnor News in Hindi

कमलेश तिवारी हत्याकांडः SIT ने बिजनौर में डेरा डाला, अज्ञात स्‍थान पर आरोपियों को रखा
कमलेश तिवारी की शुक्रवार को हत्या कर दी गई थी. इस हत्याकांड में गुजरात से तीन और यूपी से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. (फाइल फोटो)

अचानक पहुंची एसआईटी (SIT) ने नामजद आरोपी अनवारुल हक और मुफ्ती नईम से शुरू की पूछताछ, सामने आई कई अहम खुलासे होने की बात.

  • Last Updated: October 21, 2019, 9:36 AM IST
  • Share this:
बिजनौर. हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के अध्यक्ष कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की लखनऊ (Lucknow) में हुई हत्या (Murder) के बाद अब एसआईटी (SIT) ने पूरी तरह से कमर कस ली है. इसी के चलते अब एसआईटी की टीम ने बिजनौर (Bijnor) में डेरा डाल लिया है. यहां पर पुलिस (Police) ने नामजद आरोपी अनवारुल हक और मुफ्ती नईम को पूछताछ के लिए साथ लिया है. हालांकि इन दोनों से ही पूछताछ कहां की जा रही है इस संबंध में किसी को भी जानकारी नहीं दी गई है. दोनों ही आरोपियों से पूछताछ जारी है. वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी तक की पूछताछ में भी एसआईटी को हत्याकांड के संबंध में कई अहम सुराग मिले हैं.

सिर कलम करने पर दी थी 1.5 करोड़ देने की पेशकश
कमलेश तिवारी की शुक्रवार को हत्या कर दी गई थी. इस हत्याकांड में गुजरात से तीन और यूपी से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. यूपी के बिजनौर के दो मौलानाओं की भी भूमिका की जांच की जा रही है. वर्ष 2015 में इन दोनों मौलानाओं ने कमलेश तिवारी का सिर कलम करने वालों को डेढ़ करोड़ रुपये इनाम देने की घोषणा की थी.

गुजरात एटीएस का दावा- दुबई में रची गई हत्या की साजिश
कमलेश तिवारी की हत्या भले ही लखनऊ में हुई हो लेकिन इसकी साजिश दुबई में रची गई थी. गुजरात एटीएस ने दावा किया है कि कमलेश तिवारी की हत्या के लिए सूरत से पिस्टल खरीदी गई थी. वहीं साजिश रचने के बाद एक शख्स दो महीने पहले ही दुबई से भारत कमलेश तिवारी की हत्या के लिए आया था. गुजरात एटीएस ने बताया कि कमलेश तिवारी की हत्या के लिए दुबई से आए शख्स ने दो लोगों को तैयार किया.



कमलेश तिवारी को चुकी है जेल
बता दें हिंदू महासभा के अध्यक्ष रहे कमलेश तिवारी को पैगंबर मोहम्मद साहब के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी करने के मामले में रासुका (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) के तहत गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था. इसके बाद 2017 विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने हिंदू समाज पार्टी का गठन किया था.

ये भी पढ़ेंः कमलेश तिवारी हत्याकांड: दुबई में रची गई साजिश, हत्या के लिए सूरत से खरीदी पिस्टल- गुजरात ATS
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज