होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /सीतापुर में ऑनलाइन ठगी मामले में 2 विदेशी समेत 7 गिरफ्तार, प्लानिंग देख पुलिस रह गई हैरान

सीतापुर में ऑनलाइन ठगी मामले में 2 विदेशी समेत 7 गिरफ्तार, प्लानिंग देख पुलिस रह गई हैरान

ऑनलाइन ठगी करने के मामले में गिरफ्तार नाइजीरिया के दोनों शातिरो के साथ-साथ पीलीभीत व बरेली के रहने वाले युवक भी शामिल हैं.

ऑनलाइन ठगी करने के मामले में गिरफ्तार नाइजीरिया के दोनों शातिरो के साथ-साथ पीलीभीत व बरेली के रहने वाले युवक भी शामिल हैं.

Sitapur Crime News:ऑनलाइन ठगी करने के मामले में गिरफ्तार नाइजीरिया के दोनों शातिरो के साथ-साथ पीलीभीत व बरेली के रहने व ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफाश
2 विदेशी नागरिक समेत 7 लोग गिरफ्तार

सीतापुर: उत्तर प्रदेश की सीतापुर पुलिस को ऑनलाइन ठगी के मामले में बड़ी सफलता हाथ लगी है. यहां शहर कोतवाली पुलिस व क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम ने ऑनलाइन ठगी के मामले में बड़ा खुलासा किया है. ऑनलाइन ठगी के मामले में पुलिस टीम ने दो विदेशी नागरिकों सहित सात लोगों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है. पुलिस ने इनके पास से 75 हजार की नकदी 12 मोबाइल, 29 सिम कार्ड सहित 3 एटीएम कार्ड बरामद किए हैं. पकड़े गए दोनों विदेशी नाइजीरिया के रहने वाले हैं. पुलिस ने पकड़े गए अभियुक्तों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने की कार्रवाई की.

पुलिस की गिरफ्त में आए ये बदमाश ऑनलाइन विज्ञापन निकालकर ठगी करते थे. आपको बता दें कि शहर कोतवाली इलाके के व्यापारी खुशीराम अग्रवाल, एक्स-रे फिल्म का काम करते हैं. खुशीराम अग्रवाल के द्वारा ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह के माध्यम से, ऑनलाइन एक्स रे फिल्म मंगाने के लिए ऑनलाइन बुकिंग कराई गई थी. जिसमें ठगों के द्वारा इनसे 75 हजार रुपए की ठगी की गई थी. ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले इन बदमाशों ने रुपए लेने के बाद सामान नही भेजा था. मामले को लेकर खुशीराम द्वारा शहर कोतवाली में मुकदमा पंजीकृत कराया गया था.

इसे लेकर शहर कोतवाली पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम लगातार साइबर ठगों की तलाश कर रही थी. जांच के दौरान पुलिस ने दो नाइजीरिया के रहने वाले ओसूजी यू टिमोथी व ओलिवर सहित पीलीभीत व बरेली के सात लोगों को गिरफ्तार किया है.

विदेशियों को पीलीभीत व बरेली के युवक उपलब्ध कराते थे फर्जी सिम
ऑनलाइन ठगी करने के मामले में गिरफ्तार नाइजीरिया के दोनों शातिरो के साथ-साथ पीलीभीत व बरेली के रहने वाले युवक भी शामिल हैं. जो गैंग का एक मजबूत अंग है. गैंग के मुख्य सरगना दोनों विदेशी नागरिकों को फर्जी सिम कार्ड, इन युवकों द्वारा उपलब्ध कराए जाते थे. सिम कार्ड मिलने के बाद विदेशी नागरिकों के द्वारा ऑनलाइन ठगी का खेल खेला जाता था. जिसमें इनके द्वारा ऑनलाइन सामान खरीदने का विज्ञापन निकाला जाता था, साथ ही बैंक के खातों को खुलवा कर उनकी बैंक पासबुक अपने पास रख ली जाती थी. उसके बाद पैसा आने के बाद वह सारा पैसा खुद निकाल लेते थे.

भाषा समझने के लिए बुलाया गया अध्यापक
ऑनलाइन ठगी के मामले में पकड़े गए दोनों नाइजीरिया के रहने वाले छात्रों की भाषा को समझने के लिए पुलिस के द्वारा एक अध्यापक को हायर किया गया. पुलिस जब इन शातिर विदेशी नागरिकों से पूछताछ कर रही थी तो काफी देर तक तो यह अपनी चुप्पी साधे रहे, क्योंकि वह हर बार हिंदी भाषा ना समझ पाने को लेकर कुछ भी जानकारी नहीं दे पा रहे थे. जिसके बाद एक अध्यापक को हायर किया गया. उसके बाद दोनों से पूछताछ शुरू की गई. इसके बाद पुलिस ने जो सवाल शिक्षक को लिखकर दिए उसका जवाब शिक्षक इन विदेशी नागरिकों से पूछता गया.

पकड़े गए विदेशियों का एक संगठित गिरोह
पूरे मामले को लेकर एसपी घुले सुशील चंद्रभान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बताया कि इन अभियुक्तों का एक संगठित गिरोह है. जिस का संचालन नाइजीरिया के रहने वाले लोगों के द्वारा किया जाता है. इन लोगों द्वारा मोबाइल से वार्ता कर ग्राहकों को अपने विश्वास में लेकर उनसे ऑनलाइन ठगी की जाती है. ये फ्रॉड धोखाधड़ी में प्रयुक्त आधार कार्ड में दिए गए अपने पते कूटरचित तरीके से बदल लेते हैं और फिर यह ऑनलाइन ठगी का कार्य करते हैं.

Tags: Sitapur Crime News, Sitapur news, Sitapur police, Uttarpradesh news, Uttarpradesh police

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें