Home /News /uttar-pradesh /

सीतापुर: ड्रेस का जूता पहनकर नहीं गए छात्र की मुर्गा बनाकर डंडों से पिटाई, 4 टीचरों के खिलाफ FIR

सीतापुर: ड्रेस का जूता पहनकर नहीं गए छात्र की मुर्गा बनाकर डंडों से पिटाई, 4 टीचरों के खिलाफ FIR

सीतापुर के विद्यालय में एक छात्र ड्रेस के हिसाब से जूता नहीं पहनने के कारण टीचरों ने जमकर पीटा है.

सीतापुर के विद्यालय में एक छात्र ड्रेस के हिसाब से जूता नहीं पहनने के कारण टीचरों ने जमकर पीटा है.

सीतापुर (Sitapur) में विद्यालय प्रशासन भी अध्यापकों द्वारा छात्र की पिटाई की बात को स्वीकार कर रहा है. विद्यालय प्रशासन अध्यापकों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात भी कह रहा है. साथ ही प्रशासन द्वारा छात्र पर अध्यापकों से अभद्रता करने की बात भी कही जा रही है.

अधिक पढ़ें ...
सीतापुर. उत्तर प्रदेश के सीतापुर (Sitapur) में एक छात्र को विद्यालय के अध्यापकों ने इतनी बेरहमी से पीटा, जिससे वह चल नहीं पा रहा है. छात्र की पीठ पर डंडे के बने मोटे-मोटे निशान अध्यापकों की बर्बरता की दास्तान को बयां कर रहे हैं. छात्र का कसूर महज इतना था कि वह ड्रेस में शामिल जूते नहीं पहने हुए था. जिस कारण विद्यालय के अध्यापकों ने उसके बेरहमी से पिटाई की. इस पूरे मामले को लेकर पीड़ित छात्र की तरफ से विद्यालय के 4 आरोपी अध्यापकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है. पुलिस ने मामले की रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. वहीं विद्यालय प्रशासन भी अध्यापकों द्वारा छात्र की पिटाई की बात को स्वीकार कर रहा है. विद्यालय प्रशासन अध्यापकों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात भी कह रहा है. साथ ही प्रशासन द्वारा छात्र पर अध्यापकों से अभद्रता करने की बात भी कही जा रही है.

यह पूरा मामला खैराबाद स्थित आनंदी देवी सरस्वती विद्या देवी मंदिर इंटर कॉलेज का है. शहर कोतवाली इलाके के पुलिस लाइन आवासीय कॉलोनी में कामता प्रसाद सुधाकर पुलिस महकमे में फॉलोअर हैं. उनका बेटा अमरदीप सुधाकर, आनंदी देवी सरस्वती विद्या देवी मंदिर इंटर कॉलेज में हाई स्कूल का छात्र है. अमरदीप का आरोप है की बीते दिनों वह रोज की तरह विद्यालय गया था. वह विद्यालय ड्रेस में शामिल काले जूते पहने हुए था, उसके बाद भी अध्यापकों ने ड्रेस के जूते न पहने होने की बात कहते हुए उसे प्रार्थना स्थल से बाहर निकाल दिया और उसे विद्यालय परिसर में मुर्गा बनाते हुए डंडे से पीटने लगे. अमरदीप का कहना है कि उसने अध्यापकों से माफी मांगी उसके बाद भी अध्यापकों ने उसकी एक न सुनी और उसकी डंडों से बर्बरता पूर्वक पिटाई करते रहे. जिससे उसकी पीठ पर चोट के गंभीर निशान पड़ गए और वह वहीं गिर पड़ा.

चलने में असमर्थ है छात्र

विद्यालय के अध्यापकों द्वारा छात्र अमरदीप की की गई बर्बरता पूर्वक पिटाई से उसे गंभीर चोटें आई हैं, जिस कारण हुआ चलने में असमर्थ है. उसकी पीठ पर पड़े डंडों के निशान घटना के 3 दिन बाद भी अध्यापकों की बर्बरता को बयां कर रहे हैं. इस पूरे मामले को लेकर पीड़ित छात्र अमरदीप सुधाकर ने विद्यालय के अध्यापक नैपाल सिंह, प्रदीप द्विवेदी, जितेंद्र सिंह व चंद्र किशोर के खिलाफ खैराबाद थाने में मुकदमा दर्ज कराया है.

sitapur shoes2
छात्र की पीठ पर डंडों के निशान साफ दिखाई दे रहे हैं.


अध्यापकों द्वारा छात्र अमरदीप सुधाकर की पिटाई प्रकरण को लेकर विद्यालय प्रबंधन की तरफ से सीनियर प्रोफेसर श्रवण अवस्थी का कहना है कि छात्र के द्वारा पहले भी कई बार अध्यापकों के साथ गलत व्यवहार किया गया है. घटना वाले दिन भी उसे टोका गया था और मना किया गया था कि अध्यापकों से गलत व्यवहार न करें लेकिन उसने अध्यापकों के साथ ऐसा गलत व्यवहार किया, जिसमें छात्र ने अध्यापक को अपशब्द कह दिए. जिससे अध्यापक आक्रोशित हो गए. विद्यालय प्रशासन मानता है कि छात्र की पिटाई हुई है लेकिन अध्यापकों द्वारा छात्र के साथ जान-बूझकर ऐसा दुर्व्यवहार नहीं किया गया है.

दोषी अध्यापकों के खिलाफ होगी कार्रवाई: विद्यालय प्रशासन

विद्यालय प्रशासन का कहना है कि ऐसा नहीं होना चाहिए था. हम उसकी निंदा करते हैं. उन्होंने कहा कि जो वह जूता पहन के आ रहा था, वह जूता विद्यालय ड्रेस में मान्य नहीं है. इसे लेकर उसके अभिभावकों से भी इसकी शिकायत की गई थी. विद्यालय प्रशासन का कहना है कि पीड़ित परिवार से प्रार्थना पत्र दिए जाने की बात कही गई है और उन्हें पूरा आश्वासन दिया गया है कि दोषी अध्यापकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें:

UP: अब कासगंज में 10वीं की छात्रा से 4 युवकों ने किया गैंगरेप

राज्यसभा उपचुनाव: बीजेपी प्रत्याशी अरुण सिंह ने दाखिल किया पर्चा, जीत तय

 

Tags: Sitapur news, Up news in hindi, Uttarpradesh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर