जानिए सीतापुर के SP ने अपनी जेब से क्यों भरा ऑटो का 3000 रुपये का चालान?

सीतापुर के एसपी आरपी सिंह उपहार लेकर कुष्ठ आश्रम पहुंचे
सीतापुर के एसपी आरपी सिंह उपहार लेकर कुष्ठ आश्रम पहुंचे

सीतापुर (Sitapur) के एसपी आरपी सिंह ने कहा कि समाज के वंचित लोग हैं, इनका ध्यान रखना हमारा कर्तव्य है. हम तो त्यौहार मना ही रहे हैं, इनका भी त्यौहार अच्छा हो इसीलिए हम यहां आए हैं.

  • Share this:
सीतापुर. उत्तर प्रदेश के सीतापुर (Sitapur) में एसपी आरपी सिंह (SP RP Singh) की दरियादिली देखने को मिली. दरअसल एसपी आरपी सिंह दीपावली की पूर्व संध्या पर खैराबाद स्थित कुष्ठ आश्रम में रहने वाले रोगियों के परिवार के साथ दीपावली की खुशिया बांटने पहुंचे थे. इस दौरान एसपी ने बच्चों को मिठाई आदि बांटी. इसी दौरान कुष्ठ आश्रम के प्रधान इब्राहिम ने एसपी आरपी सिंह को बताया कि उसका बेटा बिसवां से रोगियों को लाने गया था, रास्ते में मानपुर में उसकी ऑटो का चालान कट गया है. ये 3000 रुपये का है. इसके बाद एसपी ने खुद अपने पास से 3000 रुपये नकद दिए और कहा कि वह जनपद के पुलिसकर्मियों को हिदायत देंगे कि दोबारा ऐसी घटना न हो.

पुलिस को हिदायत घटना की पुनरावृत्ति न हो

जैसे ही पुलिस कप्तान कुष्ठ आश्रम पहुंचे यहां संचालक इब्राहिम ने बताया कि वह कुछ रोगियों को लेकर बिसवां गए थे. बाद में उन्होंने उन्हें आश्रम में वापस लाने के लिए बेटे को भेजा. मानपुर थाना क्षेत्र में पुलिस ने उसके आटो का चालान कर दिया और जुर्माना तीन हजार रुपया बताया. इब्राहिम की बात सुनते ही एसपी ने मानपुर थाना पुलिस से बात की और मामले की पूरी जानकारी ली. इसके बाद एसपी आरपी सिंह ने चालान की धन राशि तीन हजार रुपये खुद भरी. आश्रम के प्रधान इब्राहिम ने एसपी की प्रशंसा में नारे भी लगाए.



वंचित लोगों का ध्यान रखना हमारा कर्तव्य: एसपी
वहीं पूरे मामले में एसपी आरपी सिंह ने कहा कि समाज के वंचित लोग हैं, इनका ध्यान रखना हमारा कर्तव्य है. हम तो त्यौहार मना ही रहे हैं, इनका भी त्यौहार अच्छा हो इसीलिए हम यहां आए हैं. हमारी कोशिश है कि ये खुद को अपेक्षित न महसूस करें. चालान के संबंध में एसपी ने कहा कि वह निर्देश देंगे कि इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज