योगी सरकार के पूर्व मंत्री बोले- अगर जेल में बंद किसानों को नहीं छोड़ा तो होगा बड़ा आंदोलन

अगर जेल में बंद किसानों को नहीं छोड़ा तो होगा बड़ा आंदोलन
अगर जेल में बंद किसानों को नहीं छोड़ा तो होगा बड़ा आंदोलन

राजभर (Rajbhar) ने कहा कि किसानों (Farmer) को जेल भेजा जा रहा है, किसानों की फसल में रोग लगा था उनका नुकसान उन्हें दिखाई नहीं दे रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 7, 2020, 6:23 PM IST
  • Share this:
सीतापुर. उत्तर प्रदेश में पराली जलाने (Stubble Burning) को लेकर तमाम जिलों में प्रशासन सख्त कार्रवाई कर रहा है. अब तक दर्जनों जिलों में सैकड़ों किसानों (Farmers) के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज की गई है, कई को जेल भी भेजा गया है. शनिवार को सीतापुर पहुंचे यूपी के पूर्व कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर (Omprakash Rajbhar) ने योगी सरकार (Yogi Government) पर बड़ा हमला बोला है. राजभर ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि सरकार को हमने अल्टीमेटम दिया है. अगर एक हफ्ते के अंदर जेल भेजे गए किसानों को नहीं छोड़ा गया तो प्रदेश में बड़ा आंदोलन होगा.

उन्होंने कहा कि एक तरफ सरकार किसानों के हित की बात करती है दूसरी तरफ उन्हें जेल भेज रही है. बागी पूर्व मंत्री आगे कहते हैं कि जब किसानों की फसल जलती है तो पटवारी तक खबर नहीं लगती, जब किसान पुआल जलाता तो दिल्ली तक खबर हो जाती है. राजभर ने कहा कि किसानों को जेल भेजा जा रहा है, किसानों की फसल में रोग लगा था उनका नुकसान उन्हें दिखाई नहीं दे रहा है. वहीं सरकार कह रही है सबका साथ सबका विकास तो फिर किसानों को जेल क्यों.

किसानों में फैलाएं जागरूकता



सीएम ने कहा कि किसानों को बताएं कि पराली जलाना पर्यावरण के साथ आपकी जमीन की उर्वरा शक्ति के लिए भी ठीक नहीं है. सुप्रीम कोर्ट और नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल (NGT) ने पराली जलाने को दंडनीय अपराध घोषित किया है. किसान ऐसा करने की जगह उन योजनाओं का लाभ उठाएं, जिससे पराली को निस्तारित कर उसे उपयोगी बनाया जा सकता है. सरकार ऐसे कृषि यंत्रों पर अनुदान भी दे रही है. कई जगह किसानों ने इन कृषि यंत्रों के जरिए पराली को कमाई का जरिया बनाया है. बाकी किसान भी इनसे सीख ले सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज