कमलेश तिवारी हत्याकांड: साध्वी प्राची बोलीं- दावतों में बिजी हैं उत्तर प्रदेश पुलिस
Sitapur News in Hindi

कमलेश तिवारी हत्याकांड: साध्वी प्राची बोलीं- दावतों में बिजी हैं उत्तर प्रदेश पुलिस
साध्वी प्राची बोलीं- दावतों में बिजी हैं उत्तर प्रदेश पुलिस

बता दें कि कमलेश तिवारी की हत्या के मामले में मंगलवार को गुजरात एटीएस (Gujarat ATS) की टीम ने फरार दो आरोपियों को गुजरात-राजस्थान बॉर्डर से गिरफ्तार किया था. गिरफ्तार ये दोनों आरोपी कमलेश पर गोली चलाने और चाकू मारकर हत्या की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2019, 1:25 PM IST
  • Share this:
सीतापुर. अपने विवादित बयानों (Controversial Statements) को लेकर चर्चा में रहने वाली फायरब्रांड नेता (Fire Brand Leader) साध्वी प्राची (Sadhvi Prachi) ने कमलेश तिवारी हत्याकांड  (Kamlesh Tiwari Murder Case) के मामले में यूपी पुलिस की कार्रवाई पर भड़क गई. साध्वी प्राची ने कहा कि कमलेश तिवारी की हत्या के बाद यूपी पुलिस आरोपियों को पकड़ने में सक्ष्म नहीं है, क्योकि वो दावतों में बिजी हैं. साध्वी कहती हैं कि गुजरात और महाराष्ट्र पुलिस कमलेश के सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लेती है, वहीं यूपी पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी रहती है.

जिला प्रशासन पर लगाया दुर्व्यवहार का आरोप

उन्होंने जिला प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि कमलेश तिवारी की पत्नी, बच्चों और मां के साथ बहुत दुर्व्यवहार किया. साध्वी प्राची ने कमलेश तिवारी के परिवार को जल्द से जल्द न्याय मिले यहीं मांग उन्होंने सरकार से की है. वहीं सीतापुर के महमूदाबाद का नाम बदलकर कमलेश तिवारी पुरम करने की मांग उठाई है. बता दें कि कमलेश तिवारी के महमूदाबाद स्थित उनके पर साध्वी प्राची शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंची थी.



गिरफ्तार हुए मुख्य आरोपी
बता दें कि कमलेश तिवारी की हत्या के मामले में मंगलवार को गुजरात एटीएस (Gujarat ATS) की टीम ने फरार दो आरोपियों को गुजरात-राजस्थान बॉर्डर से गिरफ्तार किया था. गिरफ्तार ये दोनों आरोपी कमलेश पर गोली चलाने और चाकू मारकर हत्या की थी. डीआईजी (एटीएस) हिमांशु शुक्ला का कहना है कि इन दोनों ने ही कमलेश पर हमला किया था. आरोपियों के नाम अशफाक और मोइनुद्दीन हैं.

पाकिस्तान भागने की फिराक में थे आरोपी

एटीएस का कहना है कि ये दोनों पाकिस्तान भागने की फिराक में थे. एटीएस के मुताबिक, दोनों आरोपियों की लगातार खबर मिल रही थी. लेकिन ये पकड़े जाने से बचने के लिए लगातार अपनी लोकेशन बदल रहे थे. उन्होंने बताया कि कई बार तो ऐसा हुआ कि पुलिस के पहुंचने से पहले ही आरोपी होटल या धर्मशाला छोड़कर जा चुके होते थे. लेकिन मुखबिरों के जरिए आरोपियों की लोकेशन लगातार मिल रही थी.

18 अक्टूबर को घर में घुसकर कर दी गई थी हत्या

बता दें कि हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के अध्यक्ष कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की बीते शुक्रवार को लखनऊ स्थित उनके घर में घुसकर हत्या कर दी गई थी. लखनऊ पुलिस (Lucknow Police) ने रविवार को नाका इलाके के एक होटल से आरोपियों के खून से सने भगवा कपड़े बरामद किए थे. हालांकि, वारदात के पांच दिन बाद भी कमलेश तिवारी का हत्‍यारा अब तक फरार है.

ये भी पढ़ें:

अयोध्या विवाद: SC के फैसले से पहले CM योगी ने की साधु-संतों से संयम बरतने की अपील

 

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading