सीतापुर पुजारी कमलेश मिश्रा हत्याकांड का खुलासा: तंत्र से संतान प्राप्ति के नाम पर शारीरिक शोषण बनी वजह

पुलिस के गिरफ्त में आरोपी

Kamlesh Chandra Mishra Murder: पुलिस ने हत्या के पीछे जो वजह बताई है वह भी चौंकाने वाला है. आरोप है कि संतान प्राप्ति की आड़ में दो साल तक तंत्र साधना के नाम पर एक महिला का शारीरिक शोषण किया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
सीतापुर. उत्तर प्रदेश के सीतापुर जनपद के महोली कोतवाली क्षेत्र में शनिवार को एक पुजारी और तांत्रिक कमलेश चंद्र मिश्रा (Kamlesh Chandra Mishra) की निर्मम हत्या (Murder Case) का खुलासा रविवार को पुलिस ने कर दिया. इस मामले में पुलिस ने मृतक तांत्रिक कमलेश मिश्रा के एक शिष्य और महिला समेत 3 लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने हत्या के पीछे जो वजह बताई है, वह भी चौंकाने वाला है. आरोप है कि संतान प्राप्ति की आड़ में 2 साल तक तंत्र साधना के नाम पर एक महिला का शारीरिक शोषण किया गया. बावजूद इसके संतान न होने पर हत्या की पूरी पटकथा लिखी गई. पुलिस ने इस मामले में तांत्रिक के शिष्य और उसकी महिला रिश्तेदार सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. हत्यारोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त तमंचा भी बरामद कर लिया है.

रविवार को पुलिस अधीक्षक आरपी सिंह ने इस घटना का खुलासा करते हुए बताया कि कमलेश चंद्र मिश्रा खुद को बड़ा तांत्रिक बताता था. शनिवार को उसकी हत्या के बाद जब पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की तो महोली कस्बे के शुक्लन टोला निवासी मुकेश शुक्ला का नाम सामने आया. उसको हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की गई तो परत दर परत पूरा मामला खुलता चला गया.

महिला के पति ने लिखी थी पुजारी हत्या कांड की पटकथा
महोली कोतवाली इलाके के सोनारन टोला निवासी कमलेश मिश्रा कृषक इंटर कॉलेज से रिटायर होने के बाद श्मशान घाट में मंदिर बनवा कर वहीं पर तंत्र मंत्र विद्या की पूजा पाठ करते थे. उनकी इस पूजा पाठ में कस्बे का ही रहने वाला मुकेश शुक्ला उनका साथ देता था और वह भी तंत्र मंत्र सीखता था. बताते हैं कि मुकेश की मौसेरी बहन की शादी 6 साल पहले भीरिया गांव निवासी अंकुल मिश्रा से हुई थी. शादी के बाद भी कोई संतान नहीं हुई थी, जिसे लेकर मुकेश की मौसी पुजारी कमलेश मिश्रा के सम्पर्क में आईं और पुत्री को संतान उत्पत्ति के लिए ले गई. 2 साल तक तंत्र साधना के बाद भी उनकी बेटी को संतान प्राप्ति नहीं हुई, तो इस बात की जानकारी मुकेश की मौसी शालू के दामाद अंकुल को हुई.अंकुल ने पत्नी के साथ तंत्र साधना की आपत्तिजनक क्रिया और संतान न होने से आहत होकर पुजारी कमलेश मिश्रा की हत्या की पूरी पटकथा लिख डाली. इसमें अंकुल ने विलेन की भूमिका में पुजारी कमलेश के शिष्य मुकेश को रखा और उसी के माध्यम से कमलेश की हत्या करवा दी.

गुरु को मारी 4 गोलियां, 12 बार चाकू से किया वार
पुजारी कमलेश की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि उसके शिष्य मुकेश ने अपने गुरु की कितनी निर्मम तरीके से हत्या की थी. मुकेश ने अपने गुरु कमलेश को घर जाते समय मंदिर परिसर में 4 गोली मारी. उसके बाद उसके पूरे शरीर को चाकू से गोद दिया. यह खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ.

हत्या की पटकथा लिखने के बाद पति चला गया दिल्ली
पुजारी कमलेश हत्याकांड की पटकथा लिखने वाले अंकुल को लेकर एसपी आरपी सिंह ने बताया की खुद को बचाने के लिए वह 9 सितंबर को अपने मौसेरे भाई के साथ दिल्ली चला गया था. उसके बाद जिस दिन पुजारी कमलेश की हत्या हुई, उसके अगली सुबह वह दिल्ली से महोली वापस आ गया.

हत्याकांड का मास्टरमाइंड अंकुल है हिस्ट्रीशीटर
पुजारी कमलेश मिश्रा की हत्या कांड का मास्टरमाइंड अंकुल थाने का हिस्ट्रीशीटर है. उसके खिलाफ विभिन्न धाराओं में 10 मुकदमें दर्ज हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.