सीतापुर: PHC पर काम करने वाली युवतियों का आरोप, नशीला इंजेक्शन देकर देह व्यापार करवाती है फार्मासिस्ट की पत्नी

पीएचसी से भागी युवतियों ने लगाया यौन शोषण का आरोप

पीएचसी से भागी युवतियों ने लगाया यौन शोषण का आरोप

Sitapur Sexual Harassment: तीनों युवतियों का आरोप है कि फार्मासिस्ट की पत्नी उन्हें नशीला इंजेक्शन देकर देह व्यापार का काम करवाती है. यह तीनों युवतियां गोरखपुर, आजमगढ़ और बिहार की रहने वाली है.

  • Share this:
सीतापुर. यूपी के सीतापुर (Sitapur) में यौन शोषण (Sexual Harassment) का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है, जिसमें एसडीएम कार्यालय पहुंची युवतियों ने पीएचसी के फार्मासिस्ट की पत्नी पर यौन शोषण किए जाने का आरोप लगाया है. युवतियों के इन आरोपों के बाद पुलिस व प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया. तीनों युवतियों का आरोप है कि फार्मासिस्ट की पत्नी उन्हें नशीला इंजेक्शन देकर देह व्यापार का काम करवाती है. यह तीनों युवतियां गोरखपुर, आजमगढ़ और बिहार की रहने वाली है. पुलिस ने युवतियों के आरोपों पर फार्मासिस्ट की पत्नी मंजू यादव के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है.

हालांकि पुलिस युवतियों द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को गलत बता रही है. पुलिस ने तीनों युवतियों को न्यायालय में पेशकर उनके बयान कराए जाने की बात कर रही है. पुलिस ने फार्मासिस्ट सहित उसकी पत्नी मंजू यादव को हिरासत में ले लिया है. बताते चलें की थानगांव थाना क्षेत्र के हलीम नगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर काम करने वाली बिहार आजमगढ़ सहित गोरखपुर की रहने वाली तीन युवतियां सोमवार देर रात एसडीएम बिसवां के कार्यालय पहुंची, जहां उन्होंने एसडीएम से मुलाकात कर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात फार्मासिस्ट की पत्नी पर यौन शोषण का आरोप लगाया. इतना ही नहीं तीनों युवतियों ने फार्मासिस्ट की पत्नी पर नशीली दवाएं और इंजेक्शन देकर उनसे देह व्यापार कराने का भी आरोप लगाया. युवतियों के इन आरोपों को लेकर प्रशासनिक वह पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया.

युवतियों का ये है आरोप

इस पूरे मामले को लेकर एसडीएम बिसवां ने एसपी को एक पत्र जारी करते हुए पूरे मामले की जांच कराए जाने की बात कही. एसडीएम बिसवां को युवतियों द्वारा दिए गए प्रार्थना पत्र में युवतियों ने फार्मासिस्ट की पत्नी द्वारा खुद को बाहर भेजने का भी आरोप लगाया था. इतना ही नहीं तीनों युवतियों का यह भी आरोप है कि उन्हें उनके घर से स्वास्थ्य केंद्र में साफ सफाई के नाम पर बुलाया जाता था, लेकिन फार्मासिस्ट की पत्नी मंजू यादव उनसे देह व्यापार का काम करवाया जाने लगा. विरोध करने पर मंजू यादव द्वारा उनकी पिटाई भी की जाती थी.
ड्राइवर ने कही ये बात

गाड़ी चालक इमरान का कहना है कि स्वास्थ्य केंद्र में जब गाड़ी की जरूरत होती थी तो उसे बुलाया जाता था. दो लड़कियां जब स्वास्थ्य केंद्र से भागी तो उन्होंने उसे फोन किया और मदद करने को कहा. गाड़ी चालक का कहना है कि लड़कियों के भागने के बाद मंजू यादव उसके घर पर आई और लड़कियों को भगाने के आरोप में मुकदमा दर्ज कराए जाने की धमकी दी थी. इमरान का कहना है की लड़कियों ने उसे जिस नंबर से फोन किया था उसी नंबर पर मिला कर लड़कियों को बहराइच जिले से वापस लाकर एसडीएम बिसवां के यहां पेश कर आया था.

एसपी ने कहा मामला कुछ और



पूरे मामले को लेकर एसपी एमपी सिंह का कहना है युवतियों की तहरीर पर मंजू यादव के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. प्रथम दृष्टया जो पूछताछ में युवतियों ने जो बताया है वह मामला अलग ही है. उनका कहना है कि मंजू यादव के द्वारा उन्हें खाना नहीं दिया जाता था और ना ही घर वालों से बात कराई जाती थी. तीनों लड़कियों के बयान दर्ज कर लिए गए हैं. उन्हें जल्द न्यायालय में पेश किया जाएगा और उनके कलम बंद बयान कराए जाएंगे. उसी के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज