होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /मोहम्मद जुबैर से अब सीतापुर पुलिस ने कस्टडी में लेकर शुरू की पूछताछ, जानें क्या है पूरा मामला?

मोहम्मद जुबैर से अब सीतापुर पुलिस ने कस्टडी में लेकर शुरू की पूछताछ, जानें क्या है पूरा मामला?

यूपी के सीतापुर में ALT NEWS न्यूज़ के सह संस्थापक मोहम्मद जुबैर को सीतापुर पुलिस ने कस्टडी में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है.

यूपी के सीतापुर में ALT NEWS न्यूज़ के सह संस्थापक मोहम्मद जुबैर को सीतापुर पुलिस ने कस्टडी में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है.

Mohammad Zubair: यूपी के सीतापुर में ALT NEWS न्यूज़ के सह संस्थापक मोहम्मद जुबैर को सीतापुर पुलिस ने कस्टडी में लेकर प ...अधिक पढ़ें

सीतापुर. यूपी के सीतापुर में ALT NEWS न्यूज़ के संस्थापक मोहम्मद जुबैर को पुलिस ने कस्टडी में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है. पुलिस सुबह से कई घंटों से जुबैर से लगातार पूछताछ कर रही है. अंदाजा यह लगाया जा रहा है जिस लैपटॉप डिवाइस से मोहम्मद जुबैर ने भड़काऊ भाषण की क्लिप सोशल मीडिया पर शेयर की थी,  उसकी बरामदगी को लेकर लगातार पूछताछ जारी है.

वहीं लैपटॉप डिवाइस की बरामदगी को लेकर यह भी कयास लगाए जा रहे हैं कि लंबी प्रक्रिया के बाद सीतापुर पुलिस लैपटॉप और डिवाइस बरामद करने के लिए देर शाम तक या कल सुबह मोहम्मद जुबैर को बेंगलुरु ले जा सकती है. उससे लैपटॉप व डिवाइस बरामद कर सकती है. हालांकि ये दूसरी बार होगा, जब पुलिस उन्हें बेंगलुरू लेकर जाएगी, इससे पहले दिल्ली पुलिस उन्हें बेंगलुरू लेकर गई थी और फोन और लैपटॉप बरामद किया था.

सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत, लेकिन रहना होगा जेल में
वहीं पूछताछ के दौरान एक बड़ी खबर सामने आई जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने मोहम्मद जुबैर को अंतरिम जमानत दे दी गई है, उसके बावजूद फिलहाल मोहम्मद जुबैर पुलिस हिरासत में ही रहेंगे. क्योंकि इसकी भी प्रक्रिया है, जिसमें सबसे पहले सुप्रीम कोर्ट का आदेश जिला जज के यहां पर पहुंचेगा. उसके बाद सीजीएम को भेजा जाएगा, फिर यह देखा जाएगा कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में क्या कहा है. फिर जमानत के बांड भरे जाएंगे.

भले ही सीतापुर के मामले में जुबैर को अंतरिम जमानत मिल गई हो लेकिन अन्य तीन मामले और होने की वजह से उन्हें अभी सीतापुर जेल में ही रखा जाएगा.

जुबैर को 27 जून को धार्मिक भावनाएं आहत करने के मामले में दिल्ली पुलिस ने किया था अरेस्ट
इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर SC ने यूपी पुलिस को नोटिस भी जारी किया है. इलाहाबाद हाई कोर्ट ने इस मामले में अग्रिम जमानत खारिज कर दी थी और केस रद्द करने से इनकार कर दिया था। यूपी पुलिस ने जुबैर के खिलाफ आईपीसी की धारा-295ए (जानबूझकर धार्मिक भावनाओं को आहत करना) और आईटी एक्ट की धारा-67 के तहत केस दर्ज किया है. जुबैर को दिल्ली पुलिस ने 27 जून को धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाले ट्वीट के मामले में गिरफ्तार किया था.

Tags: Sitapur Jail, Sitapur news, Sitapur police

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें