Home /News /uttar-pradesh /

इस्लाम को आतंकी गुट बता जितेंद्र त्यागी बने वसीम रिजवी बोले- दुनिया का सबसे बेहतर धर्म है हिन्दू

इस्लाम को आतंकी गुट बता जितेंद्र त्यागी बने वसीम रिजवी बोले- दुनिया का सबसे बेहतर धर्म है हिन्दू

Sitapur News: इस्लाम छोड़कर हिंदू बने वसीम रिजवी उर्फ़ जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी ने इस्लाम पर बोला बड़ा हमला

Sitapur News: इस्लाम छोड़कर हिंदू बने वसीम रिजवी उर्फ़ जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी ने इस्लाम पर बोला बड़ा हमला

Wasim Rizvi in Sitapur: जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी ने सीतापुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि दुनिया का सबसे बेहतर धर्म हिन्दू धर्म है, क्योंकि धर्म का अर्थ है मोहब्बत, इंसानियत. जिस धर्म में मोहब्बत और इंसीनियत न हो वह धर्म नहीं, अधर्म है, जब-जब दुनिया में मनुष्य जाति के ऊपर खतरा आया है, तब-तब भगवान ने अवतार लिया और मनुष्य जाति की सुरक्षा की है. राक्षसनुमा शक्तियों ने हमेशा मनुष्य जाति का नुकसान पहुंचाया है. आज भी रंग-रूप बदल गया है. उन्होंने कहा कि अरब की जमीन पर 14 सौ साल पहले दानवीय शक्ति ने जन्म लिया, जो आज पूरी दुनिया में आतंक का एक केंद्र बना हुआ है.

अधिक पढ़ें ...

सीतापुर. हाल ही में इस्लाम (Islam) छोड़कर हिंदू बने जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी (Jeetendra Narayan Singh Tyagi) उर्फ वसीम रिजवी (Wasim Rizvi) ने सनातन धर्म की एक ओर जहां प्रशंसा की है, वहीं दूसरी ओर इस्लाम को भला-बुरा कहा है. जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी ने कहा कि हिंदू धर्म (Hinduism), हिंदू समाज और सनातन धर्म से बेहतर दुनिया में और कोई दूसरा धर्म है ही नहीं. उन्होंने कहा कि उनके मुताबिक इस्लाम कोई धर्म ही नहीं है, बल्कि यह एक आतंकवादी गुट है. बता दें कि जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी बनने से पहले वसीम रिजवी उत्तर प्रदेश में शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन भी रह चुके हैं. बीते 6 दिसंबर को वसीम रिजवी ने इस्लाम धर्म को छोड़कर जितेंद्र नारायण त्यागी यानी हिन्दू बन गए थे. गाजियाबाद में डासना मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती ने उन्हें सनातन धर्म में शामिल कराया था.

‘दुनिया का सबसे बेहतर धर्म हिन्दू धर्म है’
जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी ने सीतापुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि दुनिया का सबसे बेहतर धर्म हिन्दू धर्म है, क्योंकि धर्म का अर्थ है मोहब्बत, इंसानियत. जिस धर्म में मोहब्बत और इंसीनियत न हो वह धर्म नहीं, अधर्म है, जब-जब दुनिया में मनुष्य जाति के ऊपर खतरा आया है, तब-तब भगवान ने अवतार लिया और मनुष्य जाति की सुरक्षा की है. राक्षसनुमा शक्तियों ने हमेशा मनुष्य जाति का नुकसान पहुंचाया है. आज भी रंग-रूप बदल गया है. उन्होंने कहा कि अरब की जमीन पर 14 सौ साल पहले दानवीय शक्ति ने जन्म लिया, जो आज पूरी दुनिया में आतंक का एक केंद्र बना हुआ है. मोहम्मद द्वारा जो ये इस्लाम, जिसमें 23 ऑर्गनाइजेशन को जन्म दिया गया, आज उसके मानने वाले ही उससे परेशान हैं.

‘इस्लाम में जन्मे लोग दानवीय मानसिकता वाले’
उन्होंने कहा कि हम इसमें बदलाव लाना चाहते थे, हमने उन्हें इंसानियत की तरफ लाना चाहा लेकिन जो दानव रूप में जन्मा है और दानवीय मानसिकता रखता है, तो वह अपने में बदलाव लाने को तैयार नहीं है. हम नहीं चाहते अलग-अलग धर्म के लोग आपस में लड़ें. लेकिन कोई भी आपको नुकसान पहुंचाना चाहता है तो वह भी ठीक नहीं है. हमें सुरक्षित रहना होगा, हमें अपने हिन्दुस्तान को बचाना होगा और सनातन धर्म को बचाना होगा.

‘इस्लाम एक आतंकी गुट’
त्यागी ने कहा कि मुझे जब घुटन सी महसूस हुई और यह देखा कि हम एक धर्म को नहीं, बल्कि एक आतंकी गुट को फॉलो कर रहे हैं तो हमने सनातन धर्म की ओर कदम बढ़ाया. हमने जिंदगी में पहली बार धर्म इख्तियार किया और आज हमें इस बात की खुशी है कि आज हम किस धर्म में है. क्योंकि हमने इस्लाम को कभी धर्म माना ही नहीं. उन्होंने आगे कहा कि आईएसआई संगठन ने पूरे हिंदुस्तान को कैप्चर कर रखा है, हर मस्जिद और मदरसे में आईएसआई की शाखा मानसिक रूप से खुली है.

Tags: Wasim Rizvi

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर