सोनभद्र नरसंहार: बसपा का जांच दल करेगा पीड़ितों से मुलाकात

दरअसल जिस तरह से प्रियंका गांधी ने पूरे मुद्दे को उठाया उससे सपा और बसपा में उसके वोट बैंक के छिटकने का डर सताने लगा है. साथ ही उन्हें लगता है कि इसका खामियाजा उन्हें 2022 के विधानसभा चुनाव में हो सकता है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 22, 2019, 1:50 PM IST
सोनभद्र नरसंहार: बसपा का जांच दल करेगा पीड़ितों से मुलाकात
सोनभद्र नरसंहार: बसपा का जांच दल करेगा पीड़ितों से मुलाकात.
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 22, 2019, 1:50 PM IST
सोनभद्र नरसंहार मामले में सोमवार को बसपा का एक प्रतिनिधिमंडल सोनभद्र के उभ्भा सपही गांव का दौरा करेगा. पार्टी विधानमंडल के नेता लालजी वर्मा व प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा के नेतृत्व में जांच दल पीड़ितों से मुलाकात करेगा. प्रतिनिधिमंडल वहां पीड़ितों से मिलकर वास्तविक स्थिति की जानकारी लेगा और बसपा सुप्रीमो मायावती को पूरी स्थिति से अवगत कराएगा. सोनभद्र के डीएम ने 8 लोगों को उभ्भा सपही गांव जाने की परमिशन दी है. रविवार को पार्टी ने एक बयान जारी कर कहा कि बसपा ऐसी घटनाओं पर सिर्फ दिखावे के लिए कार्यवाही नहीं करती है बल्कि पीड़ितों की वास्तविक मदद करने की नीयत से ही काम करती है.

क्या बोलीं मायावती 

पार्टी की हमेशा से यही सर्वविदित नीति रही है. इसीलिए घटना के तुरंत बाद जब पुलिस की कार्यवाही चल रही होती है और धारा-144 लगी होती है तब बसपा अपने शीर्ष नेताओं को वहां जाने से मना करती है. घटना के तुरंत बाद वहां जाने से पुलिस कार्यवाही में अड़चन पैदा हो सकती है और इसमें पीड़ितों को ही नुकसान की आशंका रहती है.



वोट बैंक छिटकने का डर
दरअसल जिस तरह से प्रियंका गांधी ने पूरे मुद्दे को उठाया उससे सपा और बसपा में उसके वोट बैंक के छिटकने का डर सताने लगा है. साथ ही उन्हें लगता है कि इसका खामियाजा उन्हें 2022 के विधानसभा चुनाव में हो सकता है.

Loading...

सीएम योगी ने बताया राजनीतिक साजिश
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोनभद्र जिले के उम्भा गांव में हुई घटना को राजनीतिक साजिश बताते हुए कांग्रेस के साथ सपा को भी जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि हमले के आरोपितों का सपा से कनेक्शन है.

जमीनी विवाद में हुई थी 10 लोगों की मौत

गौरतलब है कि सोनभद्र के घोरावल थानाक्षेत्र के उम्भा-सपही गांव में 17 जुलाई को नरसंहार हुआ था. बीते बुधवार की दोपहर में सौ बीघा विवादित जमीन को लेकर गुर्जर और गोड़ बिरादरी में खूनी संघर्ष हो गया. इस दौरान फायरिंग के साथ जमकर लाठी-डंडे और फावड़े भी चले. इसमें 10 लोगों की मौत हो गई, जबकि 28 लोग घायल हो गए थे. जिसके बाद जिले में धारा 144 लागू कर दी गई.

ये भी पढ़ें:

झांसी से बरामद हुई विस्फोटक की बड़ी खेप, आतंकियों को सप्लाई करने का शक

दर्दनाक सड़क हादसे में 9 लोगों की मौत, CM योगी ने जताया शोक

यूपी में आकाशीय बिजली का कहर, 35 लोगों की मौत, दो दर्जन से ज्यादा घायल

Exclusive: सोनभद्र नरसंहार का दिल दहलाने वाला VIDEO आया सामने
First published: July 22, 2019, 11:44 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...